मुख्य समाचार
विश्व कप में खिलाड़ियों के साथ जा सकेंगी पत्नियां पर BCCI ने लगाई तमाम बंदिशें साध्वी प्रज्ञा का मुंबई हमले में शहीद हेमंत करकरे को लेकर विवादित बयान अवैध कमाई के लिए डग्गामार वाहनों पर मेहरबान है पुलिस— प्रशासन मायावती ने मुलायम की मौजूदगी में मंच किया खुलासा - गेस्टहाउस कांड के बाद भी इसलिए हुआ गठबंधन इंस्टाग्राम को लेकर आई बड़ी खबर, यूजर्स का पासवर्ड असुरक्षित तरीके से स्टोर हाईकोर्ट से भाजपा विधायक को बड़ा झटका, सुनाई गयी आजीवन कारावास की सजा  प्रियंका ने राहुल गांधी को सौंपा अपना इस्तीफा #IPL2019 : दिल्ली कैपिटल्स को 40 रन से हराकर मुंबई पहुंची दूसरे स्थान पर जेट एयरवेज की हवाई सेवाएं बंद होने पर निराश हुए फिल्मी सितारे साध्वी प्रज्ञा के खिलाफ NIA कोर्ट में याचिका दायर, चुनाव लड़ने पर रोक की मांग बुधवार को जेट एयरवेज ने भरी आखिरी उड़ान कोई भी अपराजेय नहीं है, सबको हराया जा सकता है : आचार्य प्रमोद कृष्णम World Cup के लिए ईशांत, सैनी और अक्षर होंगे टीम इंडिया के स्टैंड बाई राज्यपाल को पीजीआई में लगाया गया पेसमेकर, पूरी तरह हैं स्वस्थ राजनाथ को टक्कर देने के लिए कांग्रेस से पीठाधीश्वर ने कराया नामांकन भाजपा सांसद और प्रत्याशी ने चुनाव की पारदर्शिता पर उठाए सवाल राहुल गांधी पर दर्ज हुआ केस, जानिए क्या था मामला BJP सांसद पर चला डीएम का डंडा, बूथ में एंट्री करने पर रोक बेटे संग वर्कआउट करती नज़र आईं शिल्पा शेट्टी, वीडियो वायरल कांग्रेस का यह दिग्गज नेता बसपा में हुआ शामिल,मायावती ने इस सीट से दिया टिकट.. अधिकारियों की लापरवाही से गोमती में प्रदूषण फैला रहे श्रद्धालु बोर्ड परीक्षार्थियों का इंतजार खत्म, इस दिन आ रहा रिजल्ट यहां तो स्वच्छ भारत मिशन को निगल गया भ्रष्टाचार का दानव स्टंट करते हुए नज़र आईं दिशा, वीडियो वायरल हॉट बिकनी अवतार में नज़र आईं मंदिरा बेदी #VoteKaro: दूसरे चरण में इन दिग्गजों ने किया मतदान, किरण बेदी ने लाईन में लगकर दिया वोट रैंकिंग में गिरावट की वजह खोजेगा केजीएमयू प्रशासन, 16 सदस्यीय समिति गठित 15 नहीं बल्कि 16 खिलाड़ियों को विश्व कप में ले जाना चाहते थे शास्त्री मैनपुरी में टैक्टर ट्राली पलटने से तीन लड़कियों की मौत, एक दर्जन से अधिक घायल यहां ईवीएम में खराबी से परेशान हुए मतदाता  कुशीनगर में उड़न दस्ते ने बरामद किये 1.20 लाख रुपये सपा ने पूनम सिन्हा को घोषित किया लखनऊ लोकसभा सीट से अपना प्रत्याशी सपा-बसपा गठबंधन पर अखिलेश यादव ने दिया बड़ा बयान जिसका वोटर लिस्ट में नाम नहीं वह नहीं कर सकता मतदान : मुख्य निर्वाचन अधिकारी बैन हटते ही हमलावर हुई बहन जी, पूछा - इतना मेहरबान क्यों?
 

कोमा में मरीज, सांस नली चोक और दिमाग में भरा फ्लूड फिर भी हार नहीं माने डॉक्टर 


GAURAV SHUKLA 11/03/2019 10:44:51
41 Views

Lucknow.  राजधानी स्थित किंग जार्ज मेडिकल कॉलेज के आरआईसीयू यूनिट में 71 वर्षीय मरीज की जिंदगी बचा कर डॉक्टर्स की टीम ने नया कीर्तिमान स्थापित किया है। मरीज उम्रदराज होने के साथ ही कोमा में था, उसकी सांस नली चोक थी, फेफड़े काम नहीं कर रहे थे और दिमाग में फ्लूड भी भरा हुआ था। बावजूद इसके डॉ की टीम ने हार न मानते हुए विपरीत परिस्थितियों में भी मरीज की जान बचाने का काम किया। मरीज को होश में लाने के लिए उसे 37 दिनों तक वेंटिलेटर पर रखा गया इस बीच दो बार उसका दिल फेल हुआ और दोनों बार उसे कार्डियो पल्मोनरी रिससिटैशन यानी सीपीआर देना पड़ा और 8 बार ब्रॉन्कोस्कोपी करनी पड़ी। 

KGMU Koma me tha marij sans nali thi chowk fir bhi haar nahi mane docter
गौरतलब है कि 71 वर्षीय आजमगढ़ निवासी बलिहारी यादव को 29 जनवरी को ट्रामा सेंटर में भर्ती करवाया गया था। उस दौरान बलिहारी को दिमागी बुखार और निमोनिया की शिकायत बताई गयी थी। कोमा में बेहोशी की हालत में उल्टी होने के कारण बलिहारी की सांस नली चोक हो गयी और उनके फेफड़े भी ठीक ढ़ंग से काम नहीं कर रहे थे। इलाज के दौरान पल्मोनरी ऐंड क्रिटिकल केयर मेडिसिन के हेड डॉ वेद प्रकाश की टीम ने पाया कि इंफेक्शन के कारण मरीज के शरीर के भीतर ब्लीडिंग हुई जिसके चलते भीतर ही खून के थक्के भी जम गये। यह थक्के एक्स-रे की भी पकड़ में नहीं आ रहे थे। जिसके चलते ब्रॉन्कोस्कोपी किये जाने पर इसका पता चला। 

KGMU Koma me tha marij sans nali thi chowk fir bhi haar nahi mane docter
दो बार फेल हुआ मरीज का दिल 
डॉ. वेद ने बताया कि इलाज के दौरान मरीज का दिल दो बार फेल हुआ। इस दौरान डॉक्टरों ने सीपीआर देकर उसकी जान बचाई। पहली बार मरीज को 12 मिनट जबकि दूसरी बार उसके 18 मिनट सीपीआर दी गयी। इसके अलावा मरीज के दिमाग में सेरिलो स्पाइनल फ्लूड के प्रवाह में रुकावट के चलते दिमाग में भी फ्लूड भर गया था। मरीज के उम्रदराज होने के कारण फ्लूड को शंटिंग के जरिए निकाला नहीं जा सकता था लिहाजा फ्लूड को बाहर निकालने के लिए दवाओं का सहारा लिया गया। इस उपचार के साथ ही मरीज को 37 दिन वेंटिलेटर पर रखा उसकी दिक्कतों से छुटकारा दिलाया गया। फिर मरीज को गत दो दिन पहले डिस्चार्ज किया गया। 

Web Title: KGMU Koma me tha marij sans nali thi chowk fir bhi haar nahi mane docter ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया