मुख्य समाचार
 

मध्यस्थता पैनल में श्री श्री रविशंकर को शामिल करने पर बाबरी मस्जिद के पक्षकारों को एतराज


SUJEET KUMAR 13/03/2019 14:21:17
29 Views

Lucknow. अयोध्या विवाद के लिए सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर मध्यस्थता के लिए बनी तीन सदस्यीय समिति में शामिल आर्ट ऑफ लिविंग के संस्थापक श्रीश्री रविशंकर पर बाबरी मस्जिद के पक्षकारों ने विरोध जताया। अयोध्या विवाद में मुस्लिम पक्षकार नदवातुल दारुल उलूम और बाबरी मस्जिद के मुद्दई इकबाल अंसारी का कहना है कि समझौते से इनकार नहीं है लेकिन श्री श्री रविशंकर पर सवाल जरूर है। उनका विरोध तो अयोध्या के संत भी कर रहे है।  

ayodhya land dispute muslim parties for arbitration over objection to shree shree ravishankar

बाबरी मस्जिद के पक्षकार हाजी महबूब अली का कहना है कि श्रीश्री रविशंकर इसके पहले भी अपने स्तर से सुलह की कोशिशें कर चुके हैं, लेकिन तब भी उनकी मध्यस्थता को अयोध्या ने स्वीकार नहीं किया। महबूब अली ने कहा, इस बार जब उन्हें सुप्रीम कोर्ट द्वारा पैनल में शामिल किया गया है, तब भी हम उनकी मध्यस्थता से इत्तेफाक नहीं रखते हैं। हालांकि उन्होंने कहा कि वह सुप्रीम कोर्ट के फैसले का सम्मान करते हैं, लेकिन श्रीश्री अगर इस समिति में न होते तो बेहतर होता।

बता दें कि लखनऊ में मंगलवार को अयोध्या विवाद के मुस्लिम पक्षकारों के बीच बैठक हुई थी। इस मीटिंग में बाबरी मस्जिद के पक्षकार इकबाल अंसारी सहित कई उलेमा, बोर्ड के कई सदस्य शामिल हुए थे। मीटिंग में सुप्रीम कोर्ट द्वारा विवाद के हल के लिए बनाई गई मध्यस्थता पैनल का स्वागत किया गया। इकबाल अंसारी ने कहा कि कोर्ट ने जो कमेटी बनाई है, उसका वह सम्मान करते हैं, लेकिन लेकिन कोर्ट के पैनल में श्री श्री रविशंकर को शामिल करने पर विवाद है। 

यह भी पढ़ें...आयोध्या मसले पर मध्यस्थता समिति आज करेगी 25 लोगों से बातचीत

गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्‍या मामले में फैसला सुनाते हुए मध्‍यस्‍थता के लिए पैनल गठित करने के आदेश दिए थे। इस मध्‍यस्‍थ पैनल में तीन सदस्‍यों को शामिल किया गया है। मध्‍यस्‍थता बोर्ड के सदस्‍यों में श्रीश्री रविशंकर के साथ ही श्रीराम पंचू को भी शामिल किया गया है। वहीं मध्‍यस्‍थता बोर्ड का अध्‍यक्ष एम एफ कलिफुल्‍लाह को बनाया गया है। 

 

Web Title: ayodhya land dispute muslim parties for arbitration over objection to shree shree ravishankar ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया