मुख्य समाचार
 

कहीं आप भी किडनी की बीमारी के तो शिकार नहीं, जानिए प्रमुख वजहें और लक्षण


DEEP KRISHAN SHUKLA 14/03/2019 15:16:15
11 Views

Lucknow. कहीं आप की कमर अधिक तो नहीं है? अगर ऐसा है तो थोड़ा सावधान हो जाइए क्योंकि यह आपके किडनी की समस्या से ग्रसित होने का संकेत हो सकता है। भारत में यह बीमारी धीरे धीरे सामान्य हो चुकी है। अधिक चर्बी और असामान्य दिनचर्या से होने वाली क्रानिक किडनी नामक बीमारी प्राण घातक हो सकती है। हर साल इस बीमारी से 8.5 लाख लोगों की मौत होती है। 

kahin aap bhi kidney ki bimari ke shikar to nahi, janiye pramukh vajhen aur lakshan
अनियमित दिनचर्या से होने वाली किडनी की बीमारी हर साल साढ़े आठ लाख लोगों की मौत का कारण बनती है। क्रानिक किडनी ​की बीमारी सबसे सामान्य है। इस बीमारी से ग्रसित व्यक्ति की किडनी धीरे धीरे काम करना बंद कर देती है। एक अध्ययन में इस बात का खुलासा हुआ है कि भारत में मोटापे के कारण सबसे ज्यादा क्रानिक किडनी की बीमारी होती है। 
भारत में 48 प्रतिशत पुरुषों और 63 प्रतिशत महिलाओं की कमर अपेक्षाकृत ज्यादा है जिसके चलते उनमें किडनी का खतरा भी ज्यादा है। इस बीमारी की एक और खास बात यह है कि शुरूआती दौर में बीमारी के लक्षण पता ही नहीं चलते। गंभीर स्तर पर पहुंचने पर इस बीमारी के लक्षण दिखने शुरू होते हैं। 

kahin aap bhi kidney ki bimari ke shikar to nahi, janiye pramukh vajhen aur lakshan
  ये लक्षण दिखें तो हो जाए सावधान 
थकान और कमजोरी महसूस होना, पेशाब करते समय दर्द, चेहरे और पैरों में सूजन, बार बार पेशाब लगना, पीठ के नीचले हिस्से में दर्द, भूख न लगना, जी मिचलाना और खुजली के साथ साथ पूरे शरीर में चकत्ते पड़ना इस क्रानिक किडनी  के प्रमुख लक्षण हैं। 

kahin aap bhi kidney ki bimari ke shikar to nahi, janiye pramukh vajhen aur lakshan
  इन वजहों से भी फेल होती है किडनी
मोटापे के अलावा किडनी फेल होने के अन्य कारणों में शुगर, हाई ब्लड प्रेशर, आटोइम्यून डिजीज, अनुवांशिक बीमारियों जैसे पालिसिस्टिक किडनी डिजीज, फ्राटिक सिंड्रोम और यूरिनरी ट्रैक्ट प्रॉब्लम शामिल है। 

kahin aap bhi kidney ki bimari ke shikar to nahi, janiye pramukh vajhen aur lakshan
  इसके चलते अचानक भी फेल हो सकती है किडनी
कई बार ऐसा भी होता कि अचानक ही किडनी काम करना बंद कर देती है। इस तरह के किडनी फेल होने को अक्यूट किडनी इंजरी या अक्यूट रीनल फेल्योर कहते हैं। ऐसा हार्ट हटैक होने, ड्रग्स का सेवन करने, किडनी तक खून न पहुंच पाने और यूरिननरी ट्रैक्स के कारण होता है। 

kahin aap bhi kidney ki bimari ke shikar to nahi, janiye pramukh vajhen aur lakshan
  इन कारणों से होती किडनी की बीमारी
किडनी की बीमारी के तमाम कारण होते हैं। खानपान का अनियमित होना, रात में देर से सोना और सुबह देर से उठना, व्यायाम न करना, भोजन में अत्यधिक प्रोटीन लेना, फूड सप्लीमेंट और दर्द की दवा का अत्यधिक प्रयोग इस बीमारी का प्रमुख कारण हैं।  

kahin aap bhi kidney ki bimari ke shikar to nahi, janiye pramukh vajhen aur lakshan
  बीमारी से बचना है तो करें ये उपाय 
बीमारी कोई भी हो लेकिन समय रहते उसका पता चल जाए तो उससे लड़ना आसान हो जाता है। इसके अलावा कुछ उपाय अपना कर भी हम बीमारियों के खबरों को भी कम कर सकते हैं। किडनी की बीमारी से बचने के लिए सबसे पहले तो अपनी दिनचर्या और खान पान के तौर तरीकों को बदलें। लंबे समय तक हाई प्रोटीन वाले खाद्य पदार्थों के सेवन से बचें। नियमित व्यायाम करके और वेट लिफ्टिंग से परहेज करके भी इस बीमारी से बचा जा सकता है। दर्द निवारक दवाओं का सेवन बिना डाक्टर की सलाह के बिल्कुल न करें। खास तौर पर शुगर और हाई ब्लड प्रेशर के मरीज अपनी नियमित जांच अवश्य कराते रहें। यदि आपमें इस रोग की पुष्टि हो चुकी है नियमित रूप से दवा का प्रयोग करें। 

यह भी पढ़े...सिगरेट की लत दे रही नपुंसकता की सौगात
 


 

 

 

 

 

 

 

Web Title: kahin aap bhi kidney ki bimari ke shikar to nahi, janiye pramukh vajhen aur lakshan ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया