राफेल डील केस : सीएजी रिपोर्ट से तीन पेज गायब


ARCHANA PANDEY 14/03/2019 16:00:00
53 Views

New Delhi. सुप्रीम कोर्ट में गुरुवार को राफेल लड़ाकू विमान मामले में सुनवाई हुई। सुनवाई के दौरान अटॉर्नी जनरल ने कहा कि राफ़ेल सौदे की फ़ाइल से लीक हुए कागजों में विमान की कीमत बताई गई है। राफेल विमान की कीमत बताया जाना सौदे के शर्तों का उल्लंघन है। अटार्नी ने कहा कि याचिकाकर्ता ने जो काग़ज़ दिये हैं उन्हें सबूत नहीं माना जा सकता, क्योंकि वो चोरी किये गए है। गोपनीय दस्तावेज को साक्ष्य अधिनियम के तहत साक्ष्य के रूप में स्वीकार नहीं किया जा सकता और न ही ऐसे काग़ज़ों को पब्लिश ही किया जा सकता है।

Rafael deal case

अटॉर्नी जनरल ने कहा कि सीएजी रिपोर्ट दायर करने में सरकार से चूक हुई है, उसमे तीन पेज गायब हैं। वो इन पेज को भी रिकॉर्ड पर लाना चाहते है। अटारनी जनरल ने लीक हुई पेजों को रिव्यू पिटीशन से हटाने की मांग की। सरकार का दावा है कि ये प्रिविलेज्ड डॉक्यूमेंट है।

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि रक्षा मंत्रालय से लीक दस्तावेजों को पुनर्विचार याचिका से हटाया जाए, क्योंकि उन दस्तावेजों पर भारत सरकार का अधिकार है। गोपनीय दस्तावेज को साक्ष्य अधिनियम के तहत साक्ष्य के रूप में स्वीकार नहीं किया जा सकता। इन कागजों को जो याचिकाकर्ता ने दिये हैं उन्हें सबूत नहीं माना जा सकता क्योंकि वो चोरी किये गए है। कागजों में राफेल की कीमत बताई गई है जो सौदे के शर्तों का उल्लंघन है।

वकील एमएल शर्मा ने कहा कि- अगर दस्तावेज गोपनीय है तो सरकार ने अभी तक उक्त मामले में ऑफिशियल सीक्रेट एक्ट के तहत केस क्यों नहीं दर्ज कराया?

इस पर अटॉर्नी जनरल ने कहा कि मामले में अभी जांच चल रही है। वहीं याचिकाकर्ता वकील प्रशांत भूषण ने दलील दी कि ये दस्तावेज और काग़ज़ तो पहले से ही पब्लिक डोमेन में उपलब्ध हैं, जिन दस्तावेजों की चोरी की बात कही जा रही है।

वो सभी कागजात पब्लिक में पहले से पडे है अगर एक बार डाक्यूमेंट पब्लिक में हैं तो उसे कैसे ऑफिसियल सीक्रेट एक्ट में माना जाएगा।

 

Web Title: Rafael deal case ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया