मुख्य समाचार
राम मंदिर का जल्द से जल्द निर्माण है अयोध्या आने का मकसद: उद्धव ठाकरे सीतापुर में भीषण सड़क हादसा, ट्रक की चपेट में आकर बाइक सवार दो युवकों की मौत न्यूजीलैंड में आया 7.2 तीव्रता का शक्तिशाली भूकंप भारत ने दक्षिण अफ्रीका को 5-1 से हराकर FIH सीरीज़ का फाइनल जीता Air India में नौकरी का सुनहरा मौका, नहीं देनी होगी लिखित परीक्षा इस दिन जारी होंगे UP Polytechnic के परीक्षा परिणाम पति करता था परेशान, पत्नी ने प्रेमी संग मिलकर उठाया खौफनाक कदम पश्चिम बंगालः डॉक्टर्स की हड़ताल खत्म होने के आसार एक्सप्रेस वे पर भीषण सड़क हादसा, 6 लोगों की मौत पाकिस्तान ने दी पुलवामा में संभावित आतंकी हमले सूचना, घाटी में हाई अलर्ट भारत-पाक महामुकाबले पर बारिश का खतरा बरकरार मिस इंडिया 2019: सुमन राव ने जीता खिताब, शिवानी रहीं फर्स्ट रनर अप रेल यात्रियों को सफर में मसाज सेवा देने की योजना पर लगा ग्रहण, जानिए क्या रही वजह
 

आतंकी मसूद अजहर के मामले में चीन के बदलने लगे सुर


DEEP KRISHAN SHUKLA 17/03/2019 14:54:11
87 Views

New Delhi. जैश सरगना मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित करने में सबसे बड़ी रूकावट ने रहे चीन के सुर बदलने लगे हैं। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के स्थायी सदस्य चीन ने मामले यू टर्न लेते हुए जल्द हल निकालने की बात कही है। उसका कहना है कि प्रस्ताव को पूरी तरह खारिज नहीं किया गया है। मसले में बातचीत की जा रही है। 

aatanki masood azhar ke mamle me china ke badlne lage sur
यह बातें दिल्ली में चीनी दूतावास में होली समारोह के दौरान चीनी राजदूत लुओ झाओहुई ने कही। उन्होंने कहा कि मसूद अजहर को यूएनएससी 1267 सूची में रखने के मामले का जल्द हल निकाला जाएगा।

मामले से जुड़े तकनीकी बिन्दुओं पर बात चल रही रही है। उन्होंने कहा कि मसूद अजहर और भारत की चिंताओं से हम वाकिफ हैं। 
मालूम हो कि पठानकोट और पुलवामा जैसे बड़े हमलों के मास्टर माइंड और आतंकी संगठन जैश ए मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित करने के लिए फ्रांस संयुक्त राष्ट्र संघ के सुरक्षा परिषद में प्रस्ताव लाया था। अमेरिका और ब्रिटेन भी इस प्रस्ताव के समर्थन में थे।

aatanki masood azhar ke mamle me china ke badlne lage sur

प्रस्ताव पर आपत्ति लगाने के अंतिम दिन चीन ने वीटो लगा कर यह बात कह दी थी कि उसे और वक्त चाहिए। जिसके चलते यह प्रस्ताव एक बार फिर अटक गया।

चीन की अड़ंगे बाजी से नाराज अमेरिका ने साफ शब्दों में चेतावनी दी थी कि अगर वह इस मसले पर गंभीर नहीं हुआ तो दूसरा तरीका ढूंढा जाएगा। अमेरिका के अलावा अन्य देशों ने भी इस नाराजगी जताई थी।

चीन के वीटों लगाने के बाद से फ्रांस, चीन और अमेरिका लगाता चीन से बात कर रहे हैं। सूत्रों की माने तो चीन प्रस्ताव की भाषा में बदलाव के लिए अड़ा है। चीन का कहना है कि प्रस्ताव के विरोध में नहीं हैं उसका कहना है कि प्रस्ताव पर खुली बहस हो।

 

यह भी पढ़े...करतारपुर कॉरिडोर पर पाक द्वारा लगाए गए परमिट से निराश भारत


 

 

 

Web Title: aatanki masood azhar ke mamle me china ke badlne lage sur ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया