मुख्य समाचार
UPTET : हाईकोर्ट के आदेश को सुप्रीम कोर्ट ने किया निरस्त, 1 लाख से ज्यादा शिक्षकों को मिली राहत अखिलेश यादव ने योगी सरकार पर बोला करारा हमला, कहा- नौजवानों की जिन्दगी में ... फतेहपुर में प्रतिबंधित मांस मिलने पर बवाल, मदरसे पर पथराव साक्षी मामले पर मालिनी अवस्थी का बड़ा बयान, लड़कियां जीवन साथी चुनें लेकिन... यूपी पुलिस को मिली बड़ी सफलता, दो इनामी बदमाश किए ढेर वरिष्ठ पत्रकार बरखा दत्त ने कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल पर लगाए गम्भीर आरोप, मचा घमासान अंतिम संस्कार की चल रही थी तैयारी, अचानक युवक की खुली आंखे और फिर जो हुआ... सरकारी आवास के मोह पॉश में जकड़े दो पूर्व मंत्रियों को गहलोत सरकार ने दिया जुर्माने का झटका सलमान संग फिल्मों में डेब्यू कर सुपरस्टार बनीं कटरीना का नहीं है कोई क्राइम रिकॉर्ड 149 साल बाद बन रहा गुरू पूर्णिमा पर चंद्र दुर्लभ योग सपा नेता अखिलेश यादव की गोली मारकर हत्या, सियासत में भूचाल
 

पर्रिकर से जुड़े ये किस्से ही उन्हें बनाते हैं 'मनोहर' 


RAJNISH KUMAR 18/03/2019 11:43 AM
71 Views

New Delhi. हाफ स्लीव शर्ट, पैंट, साधारण घड़ी, चश्मा और सैंडिल पहनकर स्कूटर के पीछे वाली सीट पर सवारी से अपनी पहचान रखने वाले मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर को ही नहीं हमने गंवाया, बल्कि सादगी और जीवटता से भरा जीवन जीने वाले को भी गंवा दिया है। उनकी सादगी का हर कोई कायल था। यही नहीं, मनोहर पर्रिकर एक सच्चे आम आदमी भी थे। कैंसर की जंग लड़ते-लड़ते उन्होंने खुद को खो दिया है। अब मनोहर पर्रिकर हमारे बीच नहीं रहे, लेकिन उनके किस्से हमारे इतिहास में उनकी याद बनकर जरूर रहेंगे। मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर से जुड़े वो किस्से हम आपको बताएंगे, जो उनकी सादगी के तौर जनता के दिलों में छाप बन गए थे।

parrikar se jude kisse

मनोहर पर्रिकर का पूरा नाम मनोहर गोपालकृष्ण प्रभु पर्रिकर है, उनका जन्म 13 दिसम्बर, 1955 को गोवा के एक मध्यम वर्गीय परिवार में हुआ था। सामान्य परिवेश से निकलकर उन्होंने आईआईटी मुंबई से शिक्षा हासिल की। इसके बाद वह राजनीति में आए। मनोहर पर्रिकर गोवा के मुख्यमंत्री से लेकर रक्षा मंत्री और फिर मुख्यमंत्री बने। कैंसर से लड़ाई लड़ते हुए उन्होंने मुख्यमंत्री के दायित्वों को निभाते हुए उन्होंने अंतिम सांस ली।

parrikar se jude kisse

मनोहर पर्रिकर को आम आदमी के पोस्टर बॉय के तौर पर भी जाना जाता है। उनकी सादगी का विपक्ष भी कायल था। वह हाफ स्लीव शर्ट और पैरों में सैंडल पहनकर संसद भी पहुंच जाया करते थे। मनोहर पर्रिकर के कई किस्से ऐसे हैं, जो उनके सादगी भरे जीवन से परिचय कराते हैं। 

parrikar se jude kisse

पहले किस्से में हम बात करते हैं 1994 की, जब मनोहर पर्रिकर पहली बार पणजी से चुनकर आए थे। उस दौरान वह साइकिल से ही लोगों के बीच मिलने चले जाते थे। पावभाजी बेचने वालों से लेकर मछुआरों तक से वह मिलते थे। कभी कोई वीआईपी ट्रीटमेंट नहीं लेते थे। 

एक घटना पर्रिकर के बतौर सीएम पहले कार्यकाल की है, जब वह देर रात कहीं से लौट रहे थे। इस दौरान पुलिसकर्मियों ने उन्हें रोक लिया था। पुलिसकर्मी पहचान ही नहीं पाए थे, जिसे वह रोक रहे है, वह राज्य का मुख्यमंत्री है। जाहिर सी बात है कि बिना लालबत्ती लगी सिंपल सी कार में आगे की सीट पर बैठकर यात्रा करने वाले को पुलिस कैसे पहचान पाती, क्योंकि यह मुख्यमंत्री के प्रचलित तरीकों पर फिट भी तो नहीं बैठता था। 

parrikar se jude kisse

पर्रिकर से जुड़ा एक और ऐसा ही किस्सा है, जब पणजी के एक फाइव स्टार होटल के गार्ड ने उन्हें सिक्यॉरिटी चेक के लिए रोक लिया था। बाद में एक फंक्शन के दौरान पर्रिकर ने स्वीकार किया कि उन्हें बुरा लगा था, लेकिन इसके लिए उन्होंने गार्ड को कसूरवार नहीं ठहराया। 

parrikar se jude kisse

यही नहीं, ऐसा ही एक और किस्सा है, जब मुख्यमंत्री रहते हुए पर्रिकर सड़क किनारे के होटलों में बैठ पाव भाजी और मिर्ची पकौड़ा खाने पहुंच जाते थे। यही नहीं, फुटपाथ की दुकानों पर भी पहुंच जाते थे, उनका यही अंदाज ने जनता के दिलों में छाप छोड़ी थी।  

वीडियो देखें हिन्दी में -  Lucknow Samachar Video

पर्रिकर कभी भी किसी शादी समारोह या पार्टी में स्पेशल ट्रीटमेंट नहीं लेते थे। आशीर्वाद देने के लिए भी वह लाइन में ही लगकर जाते थे, यहां तक कि अपने ही बेटे की शादी में उन्होंने हाफ शर्ट पहन रखा था।

देश के रक्षा मंत्री के तौर पर भी वह हमेशा से इकॉनमी क्लास में ही ट्रैवल करते थे और अपना एक बैग खुद ही कैरी करते थे। 

Web Title: parrikar se jude kisse ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया