मुख्य समाचार
KGMU : पल्मोनरी एंड क्रिटिकल केयर मेडिसिन विभाग ने किया भंडारे का आयोजन  ICC World Cup 2019 : टीम इंडिया इंग्लैंड हुई रवाना, धोनी को लेकर बनी यह रणनीति डीएम-एसपी ने लिया मतगणना स्थल पर तैयारियों का जायजा, तैयारियां पूरी मध्य कमान ने केन्द्रीय विद्यालय के छात्रों को कराया सीमा दर्शन नाराज तीन विधायक दे सकते हैं राजभर को झटका  सुप्रीम कोर्ट के बाद चुनाव आयोग ने दिया विपक्ष को झटका स्पा सेंटर की आड़ में चल रहा था सेक्स रैकेट, इस तरह पुलिस ने किया पर्दाफाश मायावती का बड़ा एक्शन, इस दिग्गज नेता को पार्टी से किया बाहर मौसी के घर आयी बच्ची का तालाब में उतराता मिला शव साढ़े छह लाख की शराब के साथ एसटीएफ के हत्थे चढे़ दो तस्कर 28वीं पुण्य तिथि पर याद किए गए पूर्व पीएम राजीव गांधी BSP की जगह BJP को वोट देना महिला को पड़ा भारी, पति ने फावड़े से काटकर की हत्या पूर्व मंत्री और बसपा के कद्दावर नेता को पार्टी ने दिखाया बाहर का रास्ता पूर्व मंत्री और बसपा के कद्दावर नेता को पार्टी ने दिखाया बाहर का रास्ता  लोकसभा चुनाव खत्म होते ही बंद हुआ नमो टीवी, भाजपा ने दिए थे इतने लाख रुपए सीडीओ ने देवलान गौशाला का किया निरीक्षण बड़ा मंगल दे रहा है दस्तक, लखनऊ मेट्रो की सवारी कर बचें धूप और जाम से आजम खान के खिलाफ आचार संहिला उल्लंघन के 13 मामलों में आरोप पत्र दाखिल
 

फर्जी आकंड़ों से हो रहे दावे लेकिन जनता सच्चाई जानती है : अखिलेश यादव 


GAURAV SHUKLA 20/03/2019 10:32:14
25 Views

Lucknow. समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव एक बार फिर प्रदेश की मौजूदा बीजेपी सरकार पर हमलावर हुए। उन्होंने कहा है कि उत्तर प्रदेश में भाजपा सरकार के दो वर्षों में ही विकास अवरूद्ध हो गया है। फर्जी आंकड़े बनाकर उपलब्धियों के जो दावे किए जा रहे हैं, उनकी सच्चाई प्रदेश की जनता भलीभांति जानती है। विकास पूछ रहा है, उत्तर प्रदेश के ठोकीदार से त्रस्त जनता के लिए राहत का कोई उपाय है क्या? प्रदेश की जनता के दो साल संकट के सौ साल लग रहे हैं। सच तो यह है कि भाजपा सरकार हर मोर्चे पर विफल रही है। जनता की राय में और उसके रिपोर्ट कार्ड में 10 में केवल 0 अंक ही दिए जा सकते हैं।

farji akhdo se bataye a rahi uplabhdiya
PIC - PTI


अखिलेश ने कहा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का सबसे बड़ा दावा कानून व्यवस्था में सुधार का है। यह सफेद झूठ है। गृहमंत्रालय के आंकड़ों से पता चलता है कि उत्तर प्रदेश में सबसे अधिक साम्प्रदायिक घटनाओं और मौतों को दर्ज किया गया है। सन् 2017 में उत्तर प्रदेश में 195 साम्प्रदायिक घटनाएं हुई जिनमें 44 लोग मारे गए और 540 घायल हुए। पुलिस ने मुख्यमंत्री की ठोकों नीति को अपनाते हुए निर्दोष 63 लोगों के एनकाउण्टर कर दिए। इनमें अधिकांश दलित, मुस्लिम और पिछड़े समुदाय के हैं। सन् 2018 के तीन महीने (16 मार्च से 30 जून) में उत्तर प्रदेश में महिलाओं के खिलाफ 76000 अपराध दर्ज किए गए। इनमें महिलाओं से बलात्कार के 5,600 और बच्चियों से दुष्कर्म के 7,018 मामले दर्ज हुए है। उत्तर प्रदेश में अपराधियों के हौंसले इतने बुलन्द हैं कि वह पुलिस पर हमला करने से भी नहीं चूकते हैं। 14 नवम्बर में सहारनपुर में पुलिस की टीम पर अवैध खनन माफिया ने हमला किया। 3 मई को मेरठ में शराब माफिया ने दो थानों की पुलिस को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा। 3 दिसम्बर 2017 में बहराइच में पुलिस टीम पर हमला हुआ। 31 अक्टूबर 2018 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में पुलिस के तीन सिपाहियों की पिटाई कर दी गई। 1 नवम्बर 2018 को सीतापुर के एस.एस.पी के सामने दरोगा को पीटा गया।
रोजगार के मोर्चे पर भाजपा बुरी तरह विफल रही है। बेरोजगारी बढ़ी है। शिक्षामित्र आंदोलन कर रहे हैं। उर्दू शिक्षकों की भर्ती रद्द हैं। भाजपा ने छात्रों को मुफ्त लैपटॉप देने का वादा किया था उसके लिए सरकार ने पहले दो बजटों में धन ही नहीं आवंटित किया। प्रतिमाह वन जीबी इंटरनेट की सुविधा भी छात्रों को नहीं मिली। प्रदेश में 10 विश्वस्तरीय विश्वविद्यालयों की स्थापना अधूरी है। कोई नई सरकारी पालीटेक्निक नहीं बनी। अयोध्या में संस्कृत महाविद्यालय की घोषणा भी हवाई साबित हुई। भाजपा सरकार में नौकरियों का अकाल रहा। पुलिस की भर्ती प्रक्रिया पूरी नहीं हुई है। जेल में हत्याएं हो रही है। भाजपा सरकार ने प्रदेश के 86 लाख किसानों का 36 हजार करोड़ का ऋण माफ करने का वादा किया था। इनमें अधिकांश को 5 रूपया, 10 रूपया तक का ऋण माफ हुआ। किसानों की आय दुगनी करने का वादा कोरा वादा है। आवारा पशुओं से किसान परेशान है। किसानों को आलू, प्याज लहसुन, मक्का का न्यूनतम समर्थन मूल्य भी नहीं मिल पाया। किसान को सस्ती बिजली की जगह उसकी दरें बढ़ गई हैं। एक यूनिट बिजली भी राज्य में उत्पादित नहीं हुई। गन्ना किसान अभी तक अपने बकाये के इंतजार में कर्जदार हैं और आत्महत्या कर रहे हैं। 
 अखिलेश यादव ने यह भी कहा कि समाजवादी सरकार ने गरीब महिलाओं को पेंशन सुविधा दी थी उसे रोक दिया गया है। गोरखपुर में जापानी बुखार के इलाज के लिए समाजवादी सरकार ने एम्स के लिए मुफ्त जमीन दी थी, वह अब तक नहीं बन पाया। गोरखपुर में ही आक्सीजन की कमी से तीन दिनों में 60 से ज्यादा बच्चों की मौत हो गई थी। पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का काम अभी शुरू नहीं हो पाया। मेट्रो लखनऊ में ही चली अन्य जिलों में इसके चलने की कोई गुंजाइश नहीं। इन्वेस्टर्स समिट में जिस पूंजी निवेश का वादा था वह कहीं हकीकत में सामने नहीं आ रहा है। सड़कों को गड्ढा मुक्त आज तक नहीं किया जा सका है। भाजपा नेतृत्व भलीभांति जानता है कि सन् 2019 के लोकसभा चुनावों में उसकी दाल गलने वाली नहीं है। जनता उसके झूठ, फरेब और मुद्दों से भटकाने की चालबाजी से ऊब चुकी है। समाजवादी पार्टी-बहुजन समाज पार्टी-राष्ट्रीय लोक दल गठबंधन के विकल्प की मजबूती से मतदाताओं का रूझान उसी की तरफ हो रहा है।

Web Title: farji akhdo se bataye a rahi uplabhdiya ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया