मुख्य समाचार
अपने बजट का पांच फीसद हिस्सा पशुओं के कल्याण में लगाएं राज्य: गिरीश रतन टाटा को हाईकोर्ट से मानहानि मामले में राहत, जानें पूरा मामला मॉब लिंचिंग पर फिर बोले नसीरुद्दीन शाह, परिजनों से मिलकर कहा- साहस को... ट्रामा में फैला खतरनाक फंगस, कारगर दवा नहीं, अलर्ट जारी समलैंगिक विवाह के लिए कोर्ट पहुंचीं दो युवतियां, मजिस्ट्रेट ने नहीं लिया आवेदन, जानें वजह 10वीं पास के लिए दो हजार से अधिक पदों पर भर्तियां, ऐसे कर सकते हैं आवेदन दिव्यांग किशोरी से रेप करते धरा गया वृद्ध और फिर जो हुआ... भारत की गोल्डन गर्ल हिमा दास, जानिये खास बातें सरकार का सख्त आदेश, एयर इंडिया नहीं करे नियुक्ति और पदोन्नति फिर विवादों में घिरीं सोनाक्षी, धोखाधड़ी मामले के बाद सेक्सोलॉजिस्ट ने भेजा नोटिस अटल के आचरण से प्रेरित होकर एक आदर्श कार्यकर्ता का होता है निर्माण : स्वतंत्र देव अनिवार्य होगा टेस्ट, नशे में मिलने पर होगा निलंबन  लाइव शो में कॉमेडियन की मौत, लोग समझते रहे परफॉर्मेंस बजाते रहे तालियां... मेयर, पार्षद और नगर पंचायत अध्यक्ष भी लगाएंगे पौधे  यूपी में औद्योगिक विकास को बढ़ावा देने के हर सम्भव किये जाये प्रयास : उपमुख्यमंत्री मायावती ने चला ये बड़ा दांव, नहीं गिरेगी कर्नाटक की सरकार!
 

प्रचार के लिए ढूंढे नहीं मिल रहे हेलीकाप्टर, कंपनियों ने लगाया हाउसफुल का नोटिस


DEEP KRISHAN SHUKLA 21/03/2019 09:35 AM
32 Views

New Delhi. लोकसभा चुनाव के तूफानी प्रचार के चलते किराए पर विमान और हेलीकाप्टर देने वाली कंपनियों ने हाउसफुल का नोटिस लगा दिया है। इसकी वजह यह है कि अपने अपने प्रचार को लेकर विभिन्न राजनैतिक दलों ने पहले से ही सभी हेलीकाप्टर और छोटे विमान बुक करा रखे हैं। 

prachar ke liye dhundhe nahi mil rahe helicopter, companiyon ne lagaya house full ka notise
उड्डयन उद्योग के विशेषज्ञों की माने तो भारत में चुनाव प्रचार विकसित देशों की तर्ज पर होता है।

विभिन्न राजनैतिक दल अपने चुनाव प्रचार के लिए अधिक मात्रा में हेलीकॉप्टर या छोटे विमान बुक कराना चाहते है लेकिन इनकी उपलब्धता के कारण ऐसा नहीं हो पाता है।

रोटरी विंग सोसायटी ऑफ इंडिया के वेस्टर्न चैप्टर के अध्यक्ष कैप्टन उदय गेल्ली के मुताबिक भारत में करीब 275 सिविलियन हेलिकॉप्टर पंजीकृत हैं जिनमें सिर्फ 75 का मालिकाना हक ही प्राइवेट कंपनियों के पास है। 
इन 75 हेलीकॉप्टरों में से ज्यादातर चार्टर्ड कंपनियों के पास हैं, जो चुनाव में इन्हें किराए पर देती हैं।

खास बात यह है कि चुनाव प्रचार के लिए एक इंजन वाले विमान को इस्तेमाल करने की इजाजत नहीं है।

उड्डयन विशेषज्ञ प्रदीप थम्पी की माने तो फिक्स्ड विंग एयरक्राफ्ट्स में से सेसना जैसे एक इंजन वाले विमान को चुनाव प्रचार में इस्तेमाल करने की इजाजत नहीं दी जाती।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के चुनाव प्रचार के लिए विभिन्न राज्यों में रैलियां शुरू हो गयी हैं।

इसके अलावा अन्य दलों के दिग्गज भी तूफानी प्रचार के लिए रैलियों में जाएंगे। जिन्हें हेलीकाप्टर की जरूरत है।

ज्यादातर ने पहले से ही बुकिंग करा रखी है। वर्तमान में हालात यह है कि ये विमान और हेलीकाप्टर उपलब्ध कराने वाली कंपनियों ने हाउसफुल का नोटिस लगा रखा है। 

यह भी पढ़े...हवाई किराये की बढ़ोतरी से परेशान DGCA, एयरलाइंस कंपनियों को दी ये खास सलाह


 

 

Web Title: prachar ke liye dhundhe nahi mil rahe helicopter, companiyon ne lagaya house full ka notise ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया