मुख्य समाचार
मायावती ने फिर उठाया ये पुराना मुद्दा, कहा- भाजपा की साजिश में शामिल थे मुलायम आम उत्पादन के क्षेत्र को विस्तारित करने पर शोध करें : राज्यपाल RBI को फिर लगा बड़ा झटका, डिप्टी गवर्नर विरल आचार्य ने अचानक दिया इस्तीफा सबके विकास से ही देश का विकास होगा : राज्यपाल पूर्व सैनिकों के लिए मेरे घर के दरवाजे 24 घंटे खुले : महापौर संयुक्ता भाटिया करणी सेना को डायरेक्टर ने दिया जवाब, दोनों पक्षों में घमासान ससुरालियों को नशीला पदार्थ खिलाकर शादी के दूसरे दिन ही अपने प्रेमी संग फरार हुई दुल्हन बच्ची की दुष्कर्म के बाद हत्या करने वाला रिश्तेदार पुलिस के हत्थे चढ़ा विराट कोहली ने विश्व कप में किया ये कमाल और कर ली इस कप्तान की बराबरी BSP सांसद के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज, जा सकती है लोकसभा की सदस्यता ट्रिपल मर्डर से दहली दिल्ली, बुजुर्ग दंपति और नौकरानी की हत्या फिर वायरल हुई अनोखे अंदाज में प्रिया प्रकाश की फोटो, पहचानना हुआ मुश्किल कांग्रेस पार्टी को मिला नया राष्ट्रीय अध्यक्ष, राहुल गांधी का इस्तीफा मंजूर! सुहाना का पोल डांस सोशल मीडिया पर वायरल राजस्थान की जेल से भाग निकले दुष्कर्म और हत्या के तीन आरोपी शमी ने कहा, हमारी गेंदबाजी ने जीत अपनी झोली में डाल ली इंदौर में ऑनर किलिंग का मामला आया सामने, भाई ने गर्भवती बहन को मारी गोली ईरान पर हमले का खतरा टला नहीं, नए प्रतिबंध लगाने की तैयारी में अमेरिका सतर्कता अधिष्ठान ने शुरू की मायावती शासनकाल के 45 कर्मियों की भ्रष्टाचार व संपत्ति की जांच
 

गिरफ्त में एक और भगोड़ा, 8100 करोड़ रुपये के मनी लॉन्ड्रिंग का है आरोप 


GAURAV SHUKLA 22/03/2019 17:41 PM
45 Views

Lucknow. गुजरात की फार्मा कंपनी स्टर्लिंग बायोटेक मामले में भगौड़े हितेश पटेल को अल्बानिया से हिरासत में ले लिया गया है। बता दें कि स्टर्लिंग बायोटेक मामले में भारतीय जांच एजेंसियों को लंबे समय से हितेश पटेल की तलाश थी। जिसके बाद सूत्रों के अनुसार हितेश पटेल को 11 मार्च को रेड कॉर्नर नोटिस भी जारी किया गया था। जिसके बाद 20 मार्च को अल्बानिया में राष्ट्रीय अपराध ब्यूरो तिराना द्वारा हिरासत में लिया गया था। 

giraft ne ek aur bagauda starling bayotech mamle me hai aropi
गौरतलब है कि स्टर्लिंग बायोटेक मामले में आरोपी हितेश पटेल की तलाश भारतीय जांच एजेंसियों को लंबे समय से थी। इसके बाद उम्मीद है कि हितेश पटेल को जल्द ही भारत में प्रत्यर्पित किया जा सकता है। हितेश पर 8100 करोड़ रुपये के मनी लॉन्ड्रिंग का आरोप है। 

giraft ne ek aur bagauda starling bayotech mamle me hai aropi
क्या था मामला 
8100 करोड़ रुपये के बैंक लोन धोखाधड़ी के बाद आपराधिक जांच से बचने के लिए स्टर्लिंग ग्रुप के सभी चार प्रमोटर देश से फरार हो गये थे। आरोपियों में हितेश पटेल के अलावा नितिन संदेसरा, दीप्ति संदेसरा, राजभूषण दीक्षित, चार्टर्ड अकाउंटेंट हेमंत हाथी और बिचौलिया गगन धवन का नाम शामिल है। स्टर्लिंग ग्रुप की कंपनियों में स्टर्लिंग बॉयोटेक लिमिटेड, पीएमटी मशींस लिमिटेड, स्टर्लिंग सेज ऐंड इंफ्रा लिमिटेड, स्टर्लिंग पोर्ट लिमिटेड, स्टर्लिंग ऑयल रिसोर्स लिमिटेड और 170 से ज्‍यादा  शेल कंपनियों का नाम शामिल है। 

Web Title: giraft ne ek aur bagauda starling bayotech mamle me hai aropi ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया