मुख्य समाचार
विश्व कप में खिलाड़ियों के साथ जा सकेंगी पत्नियां पर BCCI ने लगाई तमाम बंदिशें साध्वी प्रज्ञा का मुंबई हमले में शहीद हेमंत करकरे को लेकर विवादित बयान अवैध कमाई के लिए डग्गामार वाहनों पर मेहरबान है पुलिस— प्रशासन मायावती ने मुलायम की मौजूदगी में मंच किया खुलासा - गेस्टहाउस कांड के बाद भी इसलिए हुआ गठबंधन इंस्टाग्राम को लेकर आई बड़ी खबर, यूजर्स का पासवर्ड असुरक्षित तरीके से स्टोर हाईकोर्ट से भाजपा विधायक को बड़ा झटका, सुनाई गयी आजीवन कारावास की सजा  प्रियंका ने राहुल गांधी को सौंपा अपना इस्तीफा #IPL2019 : दिल्ली कैपिटल्स को 40 रन से हराकर मुंबई पहुंची दूसरे स्थान पर जेट एयरवेज की हवाई सेवाएं बंद होने पर निराश हुए फिल्मी सितारे साध्वी प्रज्ञा के खिलाफ NIA कोर्ट में याचिका दायर, चुनाव लड़ने पर रोक की मांग बुधवार को जेट एयरवेज ने भरी आखिरी उड़ान कोई भी अपराजेय नहीं है, सबको हराया जा सकता है : आचार्य प्रमोद कृष्णम World Cup के लिए ईशांत, सैनी और अक्षर होंगे टीम इंडिया के स्टैंड बाई राज्यपाल को पीजीआई में लगाया गया पेसमेकर, पूरी तरह हैं स्वस्थ राजनाथ को टक्कर देने के लिए कांग्रेस से पीठाधीश्वर ने कराया नामांकन भाजपा सांसद और प्रत्याशी ने चुनाव की पारदर्शिता पर उठाए सवाल राहुल गांधी पर दर्ज हुआ केस, जानिए क्या था मामला BJP सांसद पर चला डीएम का डंडा, बूथ में एंट्री करने पर रोक बेटे संग वर्कआउट करती नज़र आईं शिल्पा शेट्टी, वीडियो वायरल कांग्रेस का यह दिग्गज नेता बसपा में हुआ शामिल,मायावती ने इस सीट से दिया टिकट.. अधिकारियों की लापरवाही से गोमती में प्रदूषण फैला रहे श्रद्धालु बोर्ड परीक्षार्थियों का इंतजार खत्म, इस दिन आ रहा रिजल्ट यहां तो स्वच्छ भारत मिशन को निगल गया भ्रष्टाचार का दानव स्टंट करते हुए नज़र आईं दिशा, वीडियो वायरल हॉट बिकनी अवतार में नज़र आईं मंदिरा बेदी #VoteKaro: दूसरे चरण में इन दिग्गजों ने किया मतदान, किरण बेदी ने लाईन में लगकर दिया वोट रैंकिंग में गिरावट की वजह खोजेगा केजीएमयू प्रशासन, 16 सदस्यीय समिति गठित 15 नहीं बल्कि 16 खिलाड़ियों को विश्व कप में ले जाना चाहते थे शास्त्री मैनपुरी में टैक्टर ट्राली पलटने से तीन लड़कियों की मौत, एक दर्जन से अधिक घायल यहां ईवीएम में खराबी से परेशान हुए मतदाता  कुशीनगर में उड़न दस्ते ने बरामद किये 1.20 लाख रुपये सपा ने पूनम सिन्हा को घोषित किया लखनऊ लोकसभा सीट से अपना प्रत्याशी सपा-बसपा गठबंधन पर अखिलेश यादव ने दिया बड़ा बयान जिसका वोटर लिस्ट में नाम नहीं वह नहीं कर सकता मतदान : मुख्य निर्वाचन अधिकारी बैन हटते ही हमलावर हुई बहन जी, पूछा - इतना मेहरबान क्यों?
 

रासायनिक हमलों के दौरान 24 घण्टे तक सैनिकों की रक्षा करेगा एबीसी सूट


DEEP KRISHAN SHUKLA 25/03/2019 11:12:22
39 Views

Kanpur. रासायनिक हमलों के दौरान सैनिक 6 घण्टे के लिए ही नहीं बल्कि 24 घण्टे तक सुरक्षित रह सकेंगे। डीआरडीओ ने इसके लिए एनबीसी वारकेयर प्रोटेक्शन सूट, जूते और दस्ताने तैयार किए गए हैं। विशेष रूप से तैयार किए गए ये न्यूक्लियर, बायोलॉजिकल, केमिकल (एनबीसी) सूट रासायनिक हमलों के दौरान निकलने वाली तमाम विषाक्त गैसों को बेअसर करेंगे। इन सूटों का प्राथमिक ट्रायल सफल रहा है अब यह अपने अंतिम दौर में है। 

Rasaynik Hamlon Ke Dauran 24 Ghante Tak Sainikon Ki Raksha Karega ABC Soot
स्थानीय राजकीय चर्म संस्थान के एक कार्यक्रम में शिरकत करने आए डीआरडीओ के तकनीकी अधिकारी मनोज सिंह ने यह जानकारी देते हुए बताया कि एनबीसी सूट का नया वर्जन मार्क-6 'एक्टिवेट कार्बन' 'फाइबर', 'पोलिस्टर' व 'फैब्रिक' से बना है। उन्होंने बताया कि परीक्षण में इस सूट के बेहतर परिणाम मिले हैं। 
इसी तरह कंप्रेशर मोल्डिंग तकनीक से तैयार मार्क टू के बूट भी अधिक क्षमता वाले हैं। ब्रोमोबुटाइल रबर से बने ये जूते हल्के भी हैं इनका वजन मात्र 900 ग्राम है। इनकी खासियत यह है कि ये जूते रसायनों व गैसों से तो बचाव करेगें ही साथ ही ये हल्की एल्फा और बीटा किरणों को भी रोकने में सक्षम हैं। इन जूतों में रबर के अलावा बूट कार्बन कंटेंट, सिल्वर पार्टिकल व नैनो पार्टिकल से बनाया गया है। 
यह बूट डीएमएस शूज के ऊपर पहना जाता है। यह फ्लेक्सिबल भी है। सूट और बूट के अलावा मार्क-2 एनबीसी दस्ताने भी बनाए गए हैं जिसमें कॉटन फैब्रिक व ब्रोमोबुटाइल रबर की दो परतों का प्रयोग किया गया है। 

Rasaynik Hamlon Ke Dauran 24 Ghante Tak Sainikon Ki Raksha Karega ABC Soot
  -40 डिग्री तापमान पर गलन से बचाएंगें जूते और दस्ताने  
डीआरडीओ ने बेहद सर्द सीमा क्षेत्रों में तैनात रहने वाले सैनिकों के लिए सफेद नापा चमड़े से दस्ताने बनाए है जो -40 डिग्री के न्यूनतम तापमान पर भी सैनिकों के हाथों को सुरक्षित रखते हैं। टेक्सटाइल, पीयू कोटेड फैब्रिक, नायलॉन व पायल फैब्रिक से यह दस्ताने बनाए गए हैं। इसके अलावा रबर फैब्रिक व कॉटन ड्रिल से बने जूते सैनिकों के पैरों को गलन से बचाने में सक्षम है। शू एंड शू के नाम से जाने जाने वाले इन जूतों की प्रतिवर्ष 125 लाख जोड़ियों की मांग है जिसे पूरा किया जा रहा है। 

यह भी पढ़े...भारतीय नौसेना ने मोजाम्बिक में 192 लोगों की बचाई जान, 1,381 लोगों को पहुंचाया अस्पताल

 

 

 

Web Title: Rasaynik Hamlon Ke Dauran 24 Ghante Tak Sainikon Ki Raksha Karega ABC Soot ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया