मुख्य समाचार
राम मंदिर का जल्द से जल्द निर्माण है अयोध्या आने का मकसद: उद्धव ठाकरे सीतापुर में भीषण सड़क हादसा, ट्रक की चपेट में आकर बाइक सवार दो युवकों की मौत न्यूजीलैंड में आया 7.2 तीव्रता का शक्तिशाली भूकंप भारत ने दक्षिण अफ्रीका को 5-1 से हराकर FIH सीरीज़ का फाइनल जीता Air India में नौकरी का सुनहरा मौका, नहीं देनी होगी लिखित परीक्षा इस दिन जारी होंगे UP Polytechnic के परीक्षा परिणाम पति करता था परेशान, पत्नी ने प्रेमी संग मिलकर उठाया खौफनाक कदम पश्चिम बंगालः डॉक्टर्स की हड़ताल खत्म होने के आसार एक्सप्रेस वे पर भीषण सड़क हादसा, 6 लोगों की मौत पाकिस्तान ने दी पुलवामा में संभावित आतंकी हमले सूचना, घाटी में हाई अलर्ट भारत-पाक महामुकाबले पर बारिश का खतरा बरकरार मिस इंडिया 2019: सुमन राव ने जीता खिताब, शिवानी रहीं फर्स्ट रनर अप रेल यात्रियों को सफर में मसाज सेवा देने की योजना पर लगा ग्रहण, जानिए क्या रही वजह
 

ईवीएम-वीवीपैट पर सुप्रीम कोर्ट से विपक्षी दलों को बड़ी राहत


ABHIMANYU VERMA 25/03/2019 15:36:29
37 Views

New Delhi. वीवीपैट की 50 फीसदी पर्चियों के ईवीएम से मिलान के मामले में दायर याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को सुनवाई की। जिसको लेकर कोर्ट ने चुनाव आयोग से 28 मार्च तक जवाब मांगा है। कोर्ट ने कहा कि मशीन और पर्ची की मिलान की संख्या बढ़ाई जाय, एक से दो भले होते हैं। विपक्षी दलों की मांग है कि एक से अधिक वीवीपैट के सैंपल सर्वे लिए जाएं।

Supreme Court on EVM-VVPAT said - We want to increase the number of machines and slip matching

बता दें कि 50 फीसदी वीवीपैट पर्चियों के ईवीएम से मिलान को लेकर 21 विपक्षी नेताओं ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की थी। अब इस मामले में अगली सुनवाई अगले 1 मार्च होगी। 

वहीं, चुनाव आयोग ने विपक्षी दलों की ओर से दायर इस याचिका विरोध किया है। आयोग ने कहा कि मौजूदा व्यवस्था पर्याप्त है। अभी हर विधानसभा क्षेत्र के एक पोलिंग बूथ पर वीवीपैट पर्चियों के ईवीएम से मिलान किया जाता है। इसलिए ऐसा करने की जरूरत नहीं है।

यह भी पढ़ें:-...भाजपा उम्मीदवार हेमा मालिनी बोलीं- मैंने क्या काम किया है मुझे याद नहीं...

Supreme Court on EVM-VVPAT said - We want to increase the number of machines and slip matching

आयोग ने दलील देते हुए सुनवाई के दौरान कहा कि अगर ईवीएम मशीन से वीवीपैट का मिलान होगा तो इससे समय और संसाधन की बर्बादी होगी।

इस पर कोर्ट ने गुरुवार तक हलफनामा दाखिल करने का आदेश देते हुए कहा है कि इस संख्‍या को कैसे आगे नहीं बढ़ाया जा सकता। बता दें कि अब तक एक विधानसभा क्षेत्र से एक वीवीपैट की पर्चियों की 50 फीसदी पर्चियों की गणना की जाती है।

Web Title: Supreme Court on EVM-VVPAT said - We want to increase the number of machines and slip matching ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया