मुख्य समाचार
ममता के करीबी अधिकारी को आउटलुक नोटिस, एक साल तक नहीं जा सकेंगे​ विदेश राजौरी में पाकिस्तान की ओर से गोलीबारी, एक किशोर घायल ममता बोलीं, सांप्रदायिकता का जहर फैलाकर बंगाल में जीती भाजपा चुनाव के बाद कांग्रेस पार्टी में होने जा रहा बड़ा फेरबदल, राहुल लगाएंगे मुहर श्रमिक की संदिग्ध मौत: परिजनों ने मुआवजे को लेकर किया हंगामा जब क्रीज पर दर्शकों ने कहा, धोखेबाज भाग जाओ CWC की बैठक में राहुल का फूटा गुस्सा, हार के लिए इन दिग्गज नेताओं को ठहराया जिम्मेदार हाईस्कूल पास के लिए DRDO में नौकरी का सुनहरा मौका, आज अंतिम दिन जनसुविधा केन्द्रों पर भी आधार से जोड़े जाएंगे राशन कार्ड माध्यमिक विद्यालयों को 28 मई तक सम्मिट करना होगा यू-डायस प्रपत्र इस नेता ने दे डाली मोदी सरकार को चुनौती, जानिए क्या कहा पूर्व सैनिक की मृत्यु पर मिलेगी सहायता बड़ी खबर: ममता बनर्जी ने कहा, अब सीएम नहीं रहना चाहती सड़क हादसों में महिला समेत आधा दर्जन घायल जेट के पूर्व चेयरमैन नरेश गोयल थे पत्नी सहित देश छोड़ने की फिराक में, एयरपोर्ट से हुए अरेस्ट मुख्य निर्वाचन आयुक्त ने राष्ट्रपति को सौंपी जीते सांसदों की सूची
 

सपा बसपा का ये वोटर फैक्टर उड़ा रहा विरोधियों की नींद, बदल सकती है राजनीति


NAZO ALI SHEIKH 31/03/2019 11:13:52
1101 Views

Lucknow. लोकसभा चुनाव का संखनाद बज चुका है सभी पार्टियां मैदान में आने के लिए पूरे जी-जान से जीत के प्रयास में जुटी हुई हैं। ऐसे में सपा-बसपा व रालोद ने जिन राजनीतिक समीकरणों को देखते हुए गठबंधन किया  है, क्या इनके वोटर भी इसी तरह एक साथ आएंगे। यह सवाल राजनीतिक गलियारों में सुर्खियां बना हुआ है। दल की नीति के साथ प्रत्याशियों की इमेज को भी वोटर्स तराजू पर तौलते हैं। तो अब देखना यह होगा कि वोटर राजनीतिक दल के नेता की मंशा समझकर वोट करता है या नहीं। 

यह भी पढ़ें... PCS-2018 प्रारंभिक परीक्षा परिणाम घोषित, 2245 अभ्यर्थी मेंस के लिए पास

SP s BSP leader blown up the sleep of protesters, may change politics

  भाजपा को हराना है गठबंधन का मकसद

सपा व बसपा गठबंधन के खास वजह यह भी है कि दोनों दलों के वोट ट्रांसफर हों तो भाजपा को हराया जा सकता है। क्योंकि काफी सीट ऐसी हैं जहां दोनों को वोट मिलाकर गठबंधन हजार-दो-हजार नहीं बल्कि एक लाख तक के अंतराल से आगे जा सकता है। रालोद के जुड़ने से गठबंधन का गठजोड़ और भी ऊंचाई पर पहुंच गया है  पर कुछ सीटें ऐसी हैं जहां पर तीनों को मिलाकर भी सत्ताधारी दल के पिछले प्रदर्शन से काफी पीछे छूट रहे हैं। 

SP s BSP leader blown up the sleep of protesters, may change politics

  लोकसभा चुनाव 2014 का प्रदर्शन 

बिजनौर सीट 

भाजपा : 4 लाख 86 हजार 913 

गठबंधन का जोड़ (सपा-बसपा-रालोद): 5 लाख 35 हजार 611 

मुजफ्फरनगर सीट 

भाजपा : 6 लाख 53 हजार 391 

गठबंधन का जोड़ (सपा-बसपा): 4 लाख 13 हजार 51 

कैराना सीट 

भाजपा : 5 लाख 65 हजार 909 
गठबंधन का जोड़ (सपा-बसपा-रालोद): 5 लाख 32 हजार 201 
सहारनपुर सीट 
भाजपा : 4 लाख 72 हजार 999 

गठबंधन का जोड़ (सपा-बसपा): 2 लाख 87 हजार 798 
मेरठ-हापुड़ सीट 

भाजपा : 5 लाख 32 हजार 981 
गठबंधन का जोड़ (सपा-बसपा): 5 लाख 12 हजार 414 
बागपत सीट 
भाजपा : 4 लाख 23 हजार 475 
गठबंधन का जोड़ (सपा-बसपा-रालोद): 5 लाख 54 हजार 868 

Web Title: SP s BSP leader blown up the sleep of protesters, may change politics ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया