मुख्य समाचार
शाकिब ने रचा इतिहास, वर्ल्‍ड कप में कपिल-युवराज के रिकॉर्ड की बराबरी की क्षेत्र-जिला पंचायत सदस्यों के रिक्त पदों पर उप निर्वाचन के लिए समय सारणी जारी  Tik Tok वीडियो से सुर्खियों में आई पीली साड़ी वाली महिला जेनेलिया डिसूजा के पैर दबाते रितेश देशमुख का वीडियो वायरल, यूजर्स ने कहा... जल्द ही 100 करोड़ का आंकड़ा छू सकती फिल्म कबीर सिंह सपा संरक्षक की होगी सर्जरी, इस गंभीर समस्या से जूझ रहे हैं मुलायम कोल्ड ड्रिंक पीने से एक ही परिवार के 5 लोग पहुंचे अस्पताल, फिलहाल खतरे से बाहर इटौंजा प्रकरण : एसएसपी ने कॉस्टेबल को किया लाइन हाजिर, चौकी प्रभारी व थानाध्यक्ष पर भी कार्रवाई प्रचलित  राजस्थान: बीजेपी प्रमुख मदन लाल सैनी का लंबी बीमारी के बाद निधन दो पक्षों में विवाद के बाद जमकर चले लाठी डंडे, वीडियो वायरल मायावती ने फिर उठाया ये पुराना मुद्दा, कहा- भाजपा की साजिश में शामिल थे मुलायम आम उत्पादन के क्षेत्र को विस्तारित करने पर शोध करें : राज्यपाल RBI को फिर लगा बड़ा झटका, डिप्टी गवर्नर विरल आचार्य ने अचानक दिया इस्तीफा सबके विकास से ही देश का विकास होगा : राज्यपाल पूर्व सैनिकों के लिए मेरे घर के दरवाजे 24 घंटे खुले : महापौर संयुक्ता भाटिया करणी सेना को डायरेक्टर ने दिया जवाब, दोनों पक्षों में घमासान
 

इलेक्शन की तैयारियां बनी बड़े घोटाले को उजागर करने का सूत्राधार, जानिए कैसे...


DEEP KRISHAN SHUKLA 06/04/2019 10:37:55
24 Views

Lucknow. दिव्यांग मतदाताओं के लिए बूथ पर विशेष व्यवस्था कराने के लिए जब दिव्यांगों की सूची मांगी गयी तो प्रतिमाह 35 रुपए के घोटाले की शंका सामने आने से समाज कल्याण विभाग, जिलाधिकारी कार्यालय और नगर निगम के कर्मचारियों के हाथ पांव फूल गए। बात दरअसल यह है जो ब्यौरा उपलब्ध कराया गया है उनमें तकरीबन 7 हजार दिव्यांग पेंशन धारक ऐसे हैं जो ढूंढ़े नहीं मिल रहे हैं। 

Election Ki Taiyariyan Bani Bade Ghotale Ko Ujagar Karne Ka Sutradhar, Janiye Kaise...
मालूम हो समाज कल्याण विभाग की ओर से दिव्यांग पेंशन लाभार्थियों को प्रतिमाह 500 रुपए की धनराशि दी जाती है। राजधानी के तकरीबन 17 हजार से अधिक दिव्यांगों को यह पेंशन दी जा रही है।

इन पेंशन लाभार्थियों में तकरीबन 7 हजार से अधिक लोगों के नाम पता होने के बाद भी जिम्मेदार विभागों को वह ढ़ूंढ़े नहीं मिल रहे हैं।

जिससे यह अनुमान लगाया जा रहा है कि दिव्यांग पेंशन के नाम पर हर माह लगभग 35 लाख रुपए की धनराशि भ्रष्टाचार की भेंट चढ रही है। 

Election Ki Taiyariyan Bani Bade Ghotale Ko Ujagar Karne Ka Sutradhar, Janiye Kaise...
जिलाधिकारी कौशलराज शर्मा ने नगर निगम के हर जोन से दिव्यांग पेंशन लाभार्थियों की रिपोर्ट मांगी थी। जिस पर नगर निगम ने जो रिपोर्ट जिला प्रशासन को भेजी है उसके मुताबिक नगर के कुछ 8 जोन के 7 हजार पेंशन लाभार्थी तमाम खोजबीन के बाद भी नहीं मिले।

इसके बाद हर माह समाज कल्याण विभाग में 35 लाख के गबन की संभावनाओं ने बल पकड़ लिया है।  

इस मामले में नगर निगम के अपर नगर आयुक्त अमित कुमार ने फर्जी पेंशन धारकों की संख्या और अधिक होने की आशंका जाहिर की है।

उधर जिलाधिकारी कौशलराज शर्मा का कहना है कि फिलहाल तो वोटर लिस्ट मांगी गयी है, अगर घोटाले की बात सामने आती है तो जांच करवा कर दोषियों के विरूद्ध कार्रवाई की जाएगी। 

Election Ki Taiyariyan Bani Bade Ghotale Ko Ujagar Karne Ka Sutradhar, Janiye Kaise...
बता दें कि चुनाव आयोग के निर्देशों के क्रम में दिव्यांगों के लिए मतदान स्थल पर अलग से व्यवस्था करवाने के लिए दिव्यांगों की सूची मांगी गई है।

इस जिम्मेदारी का निर्वाह करने वाले नगर निगम ने जब समाज कल्याण से दिव्यांगों का ब्योरा मांगों तो पता चला कि 7 हजार पेंशन धारक दिव्यांग ऐसे हैं जिनके बारे में पता ही नहीं चल पा रहा है। 

यह भी पढ़े...15 हजार का इनामी बदमाश गिरफ्तार

Web Title: Election Ki Taiyariyan Bani Bade Ghotale Ko Ujagar Karne Ka Sutradhar, Janiye Kaise... ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया