आतंक विरोधी अभियानों में जुटे जवानों को दी जाएंगी एके-203 असॉल्ट राइफल


SONALI GAUNIYAL 08/04/2019 12:07:52
41 Views

Lucknow. जम्‍मू-कश्‍मीर में भारतीय सेना के जवान स्पेशल आतंकवाद विरोधी अभियानों में जुटे हुए हैं। इस अभियान में जुटे जवानों के लिए एक अच्छी खबर है कि अब उन्हें एके-203 राइफल का अपडेटेड वर्जन लैस इस्तेमाल करने को मिलेगा। सेना में इस राइफल के इस्तेमाल के लिए इसमें कई और बदलाव किए जाएंगे। यूपी के अमेठी में ऑर्डिनेंस फैक्ट्री बोर्ड और रूस के संयुक्त उपक्रम के तहत इन एके-203 राइफल्स का निर्माण होगा। फास्ट ट्रैक प्रोसेस के अनुसार इन 93 हजार कार्बाइन  राइफल को खरीदने के लिए अलग से निविदा जारी किया जाएगा।

India army will test AK-203 against terrorists

यह भी पढ़ें...लोकसभा चुनाव: भाजपा ने जारी किया अपना घोषणा पत्र

सेना के उच्च सूत्रों के हवाले से जानकारी मिली है कि सेना के जवान एके 203 राइफलों का इस्तेमाल कार्बाइन (छोटी बंदूक) के तौर पर कर रहे हैं, जिसे वह आतंकवाद विरोधी अभियानों के दौरान राइफल की बट को आसानी से हटा सकें और उसे कपड़ों के बीच भी छिपा सकें।

203 राइफल्स करीबी लड़ाई में काफी मददगार होती है, कमरे में घुसने जैसे लडाई के दौरान यह काफी प्रभावशाली हो सकती है। सेना और सुरक्षाबलों के आधिकारिक सूत्रों ने कहा कि कि एके-203 राइफल उस राइफल की जगह लेगी, जो थल सेना और अन्य बल इस्तेमाल कर रहे हैं। बता दें कि कुछ दिन पहले ही प्रधानमंत्री मोदी ने एके-203 असॉल्ट राइफल के लिए अमेठी में एक विनिर्माण की बात की थी।

India army will test AK-203 against terrorists

 बता दें कि इस इकाई में 7,00,000 एके-203 राइफलों को तैयार करने का शुरुआती लक्ष्य है। एके-203 राइफल एके-47 राइफल्स का सबसे मॉडर्न वर्जन है। यह राइफल एके-47 की तरह भी एक मिनट में 600 राउंड फायर करेगी, लेकिन इसकी मारक क्षमता 350 मीटर के बजाय 500 मीटर होगी। चीन समेत अन्य 30 देशों में बन रही राइफल-203 की गिनती दुनिया के सबसे खतरनाक हथियारों में होती है।

यह भी पढ़ें...राहुल-प्रियंका और सिंधिया सहारनपुर, शामली एवं बिजनौर में करेंगे जनसभा
Web Title: India army will test AK-203 against terrorists ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया