जानिए देश की सबसे बड़ी लोकसभा सीट के क्या है मिजाज...


DEEP KRISHAN SHUKLA 08/04/2019 13:57:20
271 Views

Unnao. सूबे की राजधानी से सटी उन्नाव लोकसभा सीट में चुनावी तिकड़मबाजी पूरे सबाब पर है। यहां के चुनावी माहौल में रविवार देर शाम उस समय हलचल बढ़ गयी जब राजनैतिक गलियारों में सपा बसपा गठबंधन की प्रत्याशी पूजा पाल की टिकट कटने की चर्चाओं ने जोर पकड़ा। हलांकि यह चर्चाएं तो सही निकली कि पूजा अब उन्नाव से चुनाव नहीं लगेंगी लेकिन यह बात भी साफ हो गयी कि उन्होंने स्वयं ही चुनाव लड़ने से हाथ खड़े कर दिए। उनके स्थान पर लोकसभा प्रत्याशी रह चुके अरूण शंकर शुक्ला उर्फ अन्ना महाराज गठबंधन के प्रत्याशी बनाए गए हैं।

Janiye Desh ki Sabse Badi Loksabha Seat Ke Kya Hai Mizaz
देश की सबसे बड़ी लोकसभा सीट 'उन्नाव' में लोकसभा चुनाव की सरगर्मियों में नित नए उतार चढ़ाव देखने को मिल रहे है। भाजपा से वर्तमान सांसद को जहां अपनी टिकट बचाने के लिए संगठन को घुड़की देनी पड़ी वहीं सपा और बसपा ने गठबंधन कर समर्थकों को असमंजस में डाल दिया।

सपा के खाते में आयी इस सीट पर उम्मीदवार बनाए जाने को लेकर पार्टी के तमाम दिग्गज कयास लगाते रहे कि अचानक इलाहाबाद की विधायक पूजा पाल को इस सीट से प्रत्याशी बनाए जाने की घोषणा ने सबको चौंका दिया।

Janiye Desh ki Sabse Badi Loksabha Seat Ke Kya Hai Mizaz

खैर जैसे तैसे तमाम दिग्गजों की फौज के बीच समर्थकों ने आयातित प्रत्याशी के लिए चुनावी माहौल बनाने की कवायद शुरू की।

इसी बीच पार्टी की आतंरिक कलह या खेमेबंदी को देख प्रत्याशी पूजा पाल को खतरा महसूस हुआ तो पार्टी में अपनी साख बचाए रखने के लिए उन्होंने संगठन से साफ कह दिया कि वह ऐसे माहौल में चुनाव नहीं लड़ पाएगी।

Janiye Desh ki Sabse Badi Loksabha Seat Ke Kya Hai Mizaz

नतीजन पार्टी अब सपा और बसपा दोनों सांचों में फिट बैठने वाले अरूण शंकर शुक्ला उर्फ अन्ना महाराज को अपना उम्मीदवार बनाया है। ​इसके बाद उन्नाव सीट पर सियासी घमासान और तेज हो चुका है।

Janiye Desh ki Sabse Badi Loksabha Seat Ke Kya Hai Mizaz

एक ओर जहां कांग्रेस से सांसद रह चुकी अन्नू टंडन पूरी ताकत के साथ चुनावी मैदान में अकेली महिला प्रत्याशी हैं वहीं दूसरी ओर मोदी लहर में सांसद बने साक्षी महाराज अपने जातीय आंकड़ों के दम तक दूसरी बार ताल ठोंक रहे हैं।

Janiye Desh ki Sabse Badi Loksabha Seat Ke Kya Hai Mizaz

वहीं एक बार बसपा और एक बार सपा से रनर रह चुके अरूण शंकर शुक्ला इस बार अपने सिर पर जीत का ताज सजने के उम्मीद लेकर चुनावी समर में उतर पड़े हैं।

Janiye Desh ki Sabse Badi Loksabha Seat Ke Kya Hai Mizaz

हलांकि चार दफा बार एसोसिएशन के अध्यक्ष रह चुके, बार काउंसिल आफ उत्तर प्रदेश, विधान सभा और नगर पालिका अध्यक्ष का चुनाव लड़ चुके सतीश शुक्ला भी प्रगतिशील समाजवादी पार्टी से चुनाव मैदान में है। 
  भाजपा के महाराज को चुनौती देने पहुंचे गठबंधन के महाराज
चुनावी महासमर में एक महाराज दूसरे महाराज के समीकरण बिगाड़ सकते हैं तो वहीं एक शुक्ला जी दूसरे शुक्ला के वोट काट सकते हैं। प्रत्याशियों में अन्ना महाराज की इंट्री ने सभी प्रत्याशियों की धड़कने बढ़ाते हुए मुकाबले और दिलचस्प बना दिया है।
  भगवा बनाम महिला समाजसेवी
चुनावी समर में अन्नू टण्डन ही इकलौती महिला प्रत्याशी है जो कांग्रेस पार्टी के अलावा अपनी समाज सेवा के नाम पर जनता से जीत की उम्मीद रखती हैं। अपनी समाजसेवा के चलते लोगों के बीच खास पहचान बनाने वाली अन्नू टण्डन एक बार फिर अपनी समाजसेवा को वोट बैंक में तब्दील कर पाती है या नहीं यह तो आने वाला वक्त ही तय करेगा। पिछली दफा मोदी लहर की आंधी में उनकी समाजसेवा नहीं टिक पायी थी। पांच साल देखने और समझने के बाद भाजपा उसी चेहरे के साथ है ऐसे में इस बार जनता क्या मूड बनाती है यह देखना बेहद दिलचस्प होगा।   
  आजादी से अब तक के 17 चुनावों में 9 दफा कांग्रेस से रहा है सांसद
6 विधानसभा सीटों वाली '80 लोकसभा सीट उन्नाव' कभी कांग्रेस का गढ़ रहा है यह कहा जाए तो कोई अतिशयोक्ति न होगी। आजादी के बाद 1952 से 2014 तक कुल 17 लोकसभा चुनावों में सर्वाधिक 9 दफा यहां कांग्रेस का सांसद ही रहा है। इसके अलावा दूसरे नंबर पर भाजपा है इस पार्टी से चार बार यहां सांसद चुने जा चुके हैं। बाकी एक एक—एक दफा जनता पार्टी, जनता दल, समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी से भी सांसद चुने जा चुके हैं। 

यह भी पढ़े...गोरखपुर में भाजपा की वापसी में ये बन सकते है बड़ी बाधा


  
 

 

 

 

 

 

 

 

 

Web Title: Janiye Desh ki Sabse Badi Loksabha Seat Ke Kya Hai Mizaz ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया