मुख्य समाचार
भाजपा सरकार ने जनता की सुरक्षा को अपराधियों के आगे गिरवी रख दिया है : अखिलेश जन्मदिन विशेष: शाहरुख की फिल्में हिट कराने में सुखविंदर सिंह का बड़ा योगदान हज यात्री इन्तज़ामों में कमी बतायें, दूर किया जायेगा : मोहसिन रज़ा ‘‘भूजल सप्ताह’’ के दूसरे दिन जल संरक्षण पर आधारित चित्रकला प्रतियोगिता एवं विज्ञान प्रश्नोत्तरी कार्यक्रम आयोजित जालान पैनल ने तैयार की फंड ट्रांसफर की रिपोर्ट, सरकार को मिलेगी बड़ी राहत बाढ़ राहत के कार्यों में किसी भी प्रकार की लापरवाही न बरती जाये : राहत आयुक्त राजकीय नलकूपों के यांत्रिक दोषों को 24 घंटे में दूर करें : धर्मपाल सिंह  पुलिस से परेशान व्यापारी ने खुद पर पेट्रोल छिड़क कर लगाई आग बाढ़ पीड़ितों के लिए आगे आए अक्षय, प्रियंका ने भी की अपील सोनभद्र: 90 बीघा जमीन के लिए हुआ खूनी संघर्ष, 11 की मौत
 

हाईकोर्ट ने RBI से मांगा जवाब, बिना मंजूरी Google Pay कैसे कर रहा है लेन-देन


Rajvinder kaur 11/04/2019 15:50:35
34 Views

New Delhi. दिल्ली हाईकोर्ट ने मोबाइल पेमेंट ऐप Google Pay पर बिना मंजूरी के भारत में लेन-देन करने को लेकर कंपनी और क्रेंदीय बैंक से जवाब मांगा है। हाईकोर्ट ने पूछा है कि कंपनी के पास RBI की मंजूरी नहीं तो वह कैसे भारत में पेमेंट वॉलेट की तरह ऑपरेट कर रहा है। दिल्ली हाईकोर्ट ने दायर एक जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए आरबीआई और गूगल इंडिया से जवाब मांगा है। बता दें कि इस मामले में दिल्ली हाईकोर्ट में एक जनहित याचिका दायर हुई है। याचिका में दावा किया गया है कि Google Pay ऐप बिना आधिकारिक मंजूरी के काम कर रहा है।

Delhi High Court seeks response from RBI  how Google Pay is not approved Transaction

दिल्ली उच्च न्यायालय ने बुधवार को भारतीय रिर्जव बैंक (आरबीआई) से पूछा कि गूगल का मोबाइल भुगतान ऐप गूगल पे बिना जरुरी मंजूरी के कैसे वित्तीय लेन-देन में मदद कर रहा है। मुख्य न्यायाधीश राजेन्द्र मेनन और न्यायाधीश ए.जे. भामभानी की पीठ ने एक जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए आरबीआई से उक्त सवाल पूछा।

Delhi High Court seeks response from RBI  how Google Pay is not approved Transaction

इसे भी पढ़े... अमेठी में नामांकन के दौरान राहुल गांधी की सुरक्षा में हुई थी बड़ी चूक, कांग्रेस ने गृहमंत्री को लिखा पत्र

जनहित याचिका में दावा किया गया है कि गूगल पे (जीपे) भुगतान एवं निपटान कानून का उल्लंघन कर भुगतान प्रणाली सेवा प्रदाता के रुप में काम कर रहा है। इसमें कहा गया है कि उसके पास भुगतान सेवा प्रदाता के रुप में काम करने को लेकर केंद्रीय बैंक से वैध मंजूरी प्राप्त नहीं हैं।अदालत ने आरबीआई और गूगल इंडिया को नोटिस जारी कर अभिजीत मिश्र की याचिका में उठाए गए मुद्दे पर उनका रुख पूछा है। याचिका में दलील दी गयी है कि आरबीआई की अधिकृत भुगतान प्रणाली परिचालकों की सूची में जीपे का नाम नहीं है। केंद्रीय बैंक ने यह सूची 20 मार्च 2019 को जारी की थी।

Web Title: Delhi High Court seeks response from RBI how Google Pay is not approved Transaction ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया