मुख्य समाचार
कांग्रेस ने यूपी की गोरखपुर व वाराणसी सीट के उम्मीदवारों के नाम का किया एलान PM मोदी ने कहा- पड़ोस में आतंकवाद की फैक्ट्री चल रही है और विरोधी बोलते हैं यह मुद्दा ही नहीं है सीएम ममता की बायोपिक पर रोक, दिया ये करारा जवाब कांग्रेस को यूपी में बड़ा झटका, इस प्रत्याशी का पर्चा हुआ खारिज, जानिए क्या रही वजह B.Ed डिस्टेंस अभ्यर्थियों का CET परीक्षा परिणाम जारी, यहां देखें रिजल्ट शिक्षक बनने का सुनहरा मौका, जल्द करें आवेदन दिव्यांका त्रिपाठी ने किया इस शो को छोडने का फैसला, जानें वजह पोलिंग बूथ पर पीठासीन अधिकारी से मारपीट करने वाला गिरफ्तार जन्मदिन पर सचिन को मिला नोटिस वाला तोहफा कैसरगंज के प्रेक्षकों ने चुनाव तैयारियों का लिया जायजा, कार्यवाही की चेतावनी मनचले ने तेल छिड़क कर युवती को जलाया, बेटी के साथ मां भी झुलसी हेलीकॉप्टर से गरमाया एमपी का सियासी माहौल  मोदी चौकीदार हैं या कोई शहंशाह : प्रियंका
 

अयोध्या मामला: सुप्रीम कोर्ट ने लगाई फटकार, कहा- आप इस देश में कभी शांति नहीं चाहते


LEKHRAM MAURYA 13/04/2019 11:03:29
27 Views

New Delhi. सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या में विवादित भूमि से लगी अविवादित जमीन पर मौजूद नौ प्राचीन मंदिरों में पूजापाठ की इजाजत की मांग करने वाली एक याचिका शुक्रवार को खाारिज कर दी। अदालत ने कहा, आप इस देश को कभी शांति से नहीं रहने देंगे। चीफ जस्टिस रंजन गोगोई और जस्टिस संजीव खन्ना की बेंच ने कहा, वहां हमेशा ही कुछ होगा।

 You do not want peace in this country, the Supreme Court remarks in the Ayodhya case

शीर्ष अदालत ने इलाहाबाद हाई कोर्ट की लखनऊ बेंच के 10 जनवरी के आदेश के खिलाफ दायर अपील पर सुनवाई करने के दौरान यह कहा। उच्च न्यायालय ने वहां नौ मंदिरों में पूजा अर्चना करने के लिए उसकी सहमति मांगने वाली एक याचिका खारिज कर दी थी और याचिकाकर्ता को खर्च के तौर पर पांच लाख रुपए भी भरने का निर्देश दिया था।

 You do not want peace in this country, the Supreme Court remarks in the Ayodhya case

सुप्रीम कोर्ट ने अपील पर सुनवाई करते हुए कहा कि याचिकाकर्ता पंडित अमरनाथ मिश्रा को इस मुद्दे को तूल देना बंद करना चाहिए। सामाजिक कार्यकर्ता मिश्रा ने उच्च न्यायालय के समक्ष दावा किया था कि अधिकारी प्राचीन मंदिरों में धार्मिक गतिविधियां शुरू किए जाने की अनुमति नहीं दे रहे हैं। ये मंदिर अयोध्या में कब्जे में लिए गए, लेकिन अविवादित भूमि पर हैं। 

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने इस भूमि विवाद के हल के लिए हाल ही में मध्यस्थों का एक पैनल नियुक्त किया था। मध्यस्थों को इस मामले के सभी पक्षकारों से बातचीत करने के लिए 8 हफ्ते की डेडलाइन दी गई है, जो 3 मई को खत्म होगी। मध्यस्थता करने वाली टीम की अगुआई रिटायर्ड जस्टिस एफएम इब्राहिम कलिफुल्ला कर रहे हैं। इनके अलावा आध्यात्मिक गुरु श्री श्री रविशंकर और सीनियर एडवोकेट श्रीराम पंचू भी इसमें शामिल हैं।

Web Title: You do not want peace in this country, the Supreme Court remarks in the Ayodhya case ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया