मुख्य समाचार
कांग्रेस ने यूपी की गोरखपुर व वाराणसी सीट के उम्मीदवारों के नाम का किया एलान PM मोदी ने कहा- पड़ोस में आतंकवाद की फैक्ट्री चल रही है और विरोधी बोलते हैं यह मुद्दा ही नहीं है सीएम ममता की बायोपिक पर रोक, दिया ये करारा जवाब कांग्रेस को यूपी में बड़ा झटका, इस प्रत्याशी का पर्चा हुआ खारिज, जानिए क्या रही वजह B.Ed डिस्टेंस अभ्यर्थियों का CET परीक्षा परिणाम जारी, यहां देखें रिजल्ट शिक्षक बनने का सुनहरा मौका, जल्द करें आवेदन दिव्यांका त्रिपाठी ने किया इस शो को छोडने का फैसला, जानें वजह पोलिंग बूथ पर पीठासीन अधिकारी से मारपीट करने वाला गिरफ्तार जन्मदिन पर सचिन को मिला नोटिस वाला तोहफा कैसरगंज के प्रेक्षकों ने चुनाव तैयारियों का लिया जायजा, कार्यवाही की चेतावनी मनचले ने तेल छिड़क कर युवती को जलाया, बेटी के साथ मां भी झुलसी हेलीकॉप्टर से गरमाया एमपी का सियासी माहौल  मोदी चौकीदार हैं या कोई शहंशाह : प्रियंका
 

डेंगू से ज्यादा खतरनाक है Hay Fever, एक सावधानी से होगा बचाव


Rajvinder kaur 14/04/2019 10:42:55
32 Views

Lucknow. गर्मियों का मौसम शुरू होते ही वायरल फीवर, स्वाइन फ्लू, डेंगू, मलेरिया जैसी बीमारियां दस्तक देने लगती हैं। मगर इस बार इन बीमारियों के साथ-साथ Hay Fever का भी खतरा बना हुआ है। यह बुखार बच्चों से लेकर बुजुर्गों तक को अपनी चपेट में ले रहा है। परेशानी की बात तो ये है कि 'हे फीवर' वायरल बुखार और मलेरिया जैसी बीमारियों से भी ज्यादा खतरनाक है। यह बुखार कॉमन और वायरल फीवर से अलग होता है।

Dangerous is more dangerous than Hay Fever, will be defended carefully

क्या है Hay Fever?

अन्य बुखार के मुकाबले यह फीवर किसी बैक्टीरिया या वायरस से नहीं फैलता। यह फीवर बाहरी या अंदर की एलर्जी के कारण होता है, जिसमें पराग, धूल के कण, बिल्ली, कुत्ते जैसे पालतू जानवरों की त्वचा और लार के सम्पर्क में आने या पंखों के कारण होता है। दरअसल, वसंत, गर्मी और पतझड़ के मौसम में चलने वाली हवाएं कुछ ऐसे कण छोड़ती हैं, जो सांस लेने के दौरान नाक और गले में पहुंच जाती हैं और इस बीमारी का कारण बन जाती  है।

Dangerous is more dangerous than Hay Fever, will be defended carefully

भारत के 25 फीसदी लोग फीवर की चपेट में हैं यानि हर पांच में से एक व्यक्ति इससे पीड़ित है। इतना ही नहीं, समय पर इलाज न करवाने पर जानलेवा भी साबित हो सकता है। इस बुखार की चपेट में आने से मरीज को एलर्जी, अस्थमा, एटोपिक, एक्जिमा, कान में इंफेक्शन, साइनस, अनिद्रा आदि की समस्या भी हो सकती है।

हे फीवर के लक्षण

नाक से पानी निकलना, नाक बंद हो जाना, लगातार छींक आना, खांसी आना, आंख, नाक और गले में खुजली, आंखों में पानी आना, आंखों के नीचे काले घेरे

Dangerous is more dangerous than Hay Fever, will be defended carefully

 इसे भी पढ़े...बसपा सुप्रीमो मायावती ने 16 सीटों पर तए किए प्रत्याशी, इन कद्दावर नेताओं के नाम शामिल

ऐसे करें बचाव

मास्क पहनें : जब भी घर से बाहर निकलें तो मुंह और नाक को ढकने के लिए मास्क पहन लें। इससे बाहर हवा में फैले कण सांस लेते समय शरीर के अंदर नहीं जाएंगे और आप इस बुखार से बचे रहेंगे।

Dangerous is more dangerous than Hay Fever, will be defended carefully

धूम्रपान न करें

धूम्रपान भी इस बुखार के लिए जिम्मेदार होता है। दरअसल, धूम्रपान से आसपास मौजूद पराग कण मुंह और नाक में आ जाते हैं, जिससे इसका खतरा बढ़ जाता है।

हर्बल टी पीएं

इस फीवर से बचने के लिए आप हर्बल टी पीएं। हर्बल टी में आप अदरक, काली मिर्च, तुलसी के पत्ते, लौंग व मिश्री आदि का इस्तेमाल कर सकते हैं। 

योग करें

हे फीवर से छुटकारा पाने के लिए कपालभाति, प्राणायाम, सर्वांगासन, वीरभद्रासन और अनुलोम-विलोम करें। ये योगासन शरीर को सही रखने और नाक की गंदगी को साफ करने का काम करते हैं।

Dangerous is more dangerous than Hay Fever, will be defended carefully

इन बातों का भी रखें ध्यान

-घर की सफाई के लिए झाड़ू की बजाए वैक्यूम क्लीवर का इस्तेमाल करें। अगर वैक्यूम क्लीनर नहीं है तो मुंह को कवर करके झाड़ू लगाएं।
-पर्दे, बेडशीट और कालीन को समय-समय पर धूप लगवाएं, ताकि उसमें मौजूद कण निकल जाए।
-जानवरों से दूर रहें।
-एकदम गर्म से ठंडे और ठंडे से गर्म माहौल में जानें से बचें। इससे इस फीवर का खतरा काफी बढ़ जाता है।
-अधिक एलर्जी हो तो एंटी-मेडिसन लेने की बजाए डॉक्टरों से सलाह लें।

Web Title: Dangerous is more dangerous than Hay Fever, will be defended carefully ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया