मुख्य समाचार
कांग्रेस ने यूपी की गोरखपुर व वाराणसी सीट के उम्मीदवारों के नाम का किया एलान PM मोदी ने कहा- पड़ोस में आतंकवाद की फैक्ट्री चल रही है और विरोधी बोलते हैं यह मुद्दा ही नहीं है सीएम ममता की बायोपिक पर रोक, दिया ये करारा जवाब कांग्रेस को यूपी में बड़ा झटका, इस प्रत्याशी का पर्चा हुआ खारिज, जानिए क्या रही वजह B.Ed डिस्टेंस अभ्यर्थियों का CET परीक्षा परिणाम जारी, यहां देखें रिजल्ट शिक्षक बनने का सुनहरा मौका, जल्द करें आवेदन दिव्यांका त्रिपाठी ने किया इस शो को छोडने का फैसला, जानें वजह पोलिंग बूथ पर पीठासीन अधिकारी से मारपीट करने वाला गिरफ्तार जन्मदिन पर सचिन को मिला नोटिस वाला तोहफा कैसरगंज के प्रेक्षकों ने चुनाव तैयारियों का लिया जायजा, कार्यवाही की चेतावनी मनचले ने तेल छिड़क कर युवती को जलाया, बेटी के साथ मां भी झुलसी हेलीकॉप्टर से गरमाया एमपी का सियासी माहौल  मोदी चौकीदार हैं या कोई शहंशाह : प्रियंका
 

आग से हर साल फसलों को भारी नुकसान, फिर भी आज तक नहीं बना फायर स्टेशन


LEKHRAM MAURYA 15/04/2019 13:06:58
18 Views

 Heavy damage to crops every year from the fire but not yet made to fire station

LUCKNOW. बीते दो दिनों मे राजधानी के ग्रामीण इलाकों मे अलग-अलग कारणों से लगभग डेढ़ सौ बीघे गेहूं की फसल आग लगने से नष्ट हो चुकी है। जबकि मलिहाबाद तहसील को छोड़कर करीब हर तहसील में फायर स्टेशन है। वहीं दूसरी ओर मलिहाबाद तहसील में अस्थायी तौर पर फायर की एक बड़ी और एक छोटी गाड़ी की व्यवस्था कर दी जाती है। 

मलिहाबाद मे डेढ़ दशक से अस्थायी फायर स्टेशन

यह सिलसिला  पिछले एक दशक से चला आ रहा है। यह समस्या आज तक किसी भी प्रत्याशी के एजेन्डे में नहीं रही। जबकि शासन ने माल क्षेत्र में फायर स्टेशन बनाने के लिए कई बार तहसील प्रशासन से जमीन का प्रस्ताव मांगा, परन्तु आज तक उस पर अमल नहीं हो सका। जिससे माल क्षेत्र में आग लगने पर अग्निशमन विभाग की गाड़ियां काफी देर मे पहुंचती हैं, जिससे गाड़ियों के पहुंचने तक किसानों का काफी नुकसान हो जाता है। 

आज तक जमीन नहीं उपलब्ध करा सका प्रशासन

इस क्षेत्र में आग लगने पर हमेशा गाड़ियां चौक से मंगाई जाती हैं, जो जिनको माल पहुंचने में करीब एक घंटे का समय लग जाता है। सोचने वाली बात है कि आग लगने के बाद एक घंटे में कितना नुकसान हो सकता है इसका अनुमान लगाना कठिन है। बावजूद इसके शासन-प्रशासन ने आज तक इस दिशा में कोई ठोस कदम नहीं उठाया है।

  Heavy damage to crops every year from the fire but not yet made to fire station

जनप्रतिनिधि भी रहे उदासीन

और न ही किसी विधायक अथवा सांसद ने इसके लिए प्रयास किया। जबकि मलिहाबाद तहसील सवा सौ साल पुरानी तहसील है। यदि इतना नुकसान होने के बाद भी प्रशासन सक्रिय नही हुआ तो आग की चपेट में आने वाले किसानों के पास कर्ज लेने के अलावा कोई रास्ता नहीं बचेगा, क्योंकि उनके घर में जब खाने को नहीं होगा तो किसानों के पास क्या रास्ता बचेगा। 

 Heavy damage to crops every year from the fire but not yet made to fire station

Web Title: Heavy damage to crops every year from the fire but not yet made to fire station ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया