मुख्य समाचार
भाजपा सरकार ने जनता की सुरक्षा को अपराधियों के आगे गिरवी रख दिया है : अखिलेश जन्मदिन विशेष: शाहरुख की फिल्में हिट कराने में सुखविंदर सिंह का बड़ा योगदान हज यात्री इन्तज़ामों में कमी बतायें, दूर किया जायेगा : मोहसिन रज़ा ‘‘भूजल सप्ताह’’ के दूसरे दिन जल संरक्षण पर आधारित चित्रकला प्रतियोगिता एवं विज्ञान प्रश्नोत्तरी कार्यक्रम आयोजित जालान पैनल ने तैयार की फंड ट्रांसफर की रिपोर्ट, सरकार को मिलेगी बड़ी राहत बाढ़ राहत के कार्यों में किसी भी प्रकार की लापरवाही न बरती जाये : राहत आयुक्त राजकीय नलकूपों के यांत्रिक दोषों को 24 घंटे में दूर करें : धर्मपाल सिंह  पुलिस से परेशान व्यापारी ने खुद पर पेट्रोल छिड़क कर लगाई आग बाढ़ पीड़ितों के लिए आगे आए अक्षय, प्रियंका ने भी की अपील सोनभद्र: 90 बीघा जमीन के लिए हुआ खूनी संघर्ष, 11 की मौत
 

रैंकिंग में गिरावट की वजह खोजेगा केजीएमयू प्रशासन, 16 सदस्यीय समिति गठित


DEEP KRISHAN SHUKLA 18/04/2019 12:29:42
57 Views

Lucknow. राष्ट्रीय रैंक में 19 अंक नीचे गिरने के बाद केजीएमयू प्रशासन गंभीर हो गया है। गिरती रैंकिंग के कारणों का पता लगाने के लिए एक 16 सदस्यीय समिति का गठन किया गया है। यह समिति पता लगाएगी कि देश के अन्य चिकित्सा संस्थानों की तुलना में क्या ऐसे कारण है जिसके चलते संस्थान की रैंकिंग गिर रही है। 

KGMU administration formed 16-member committee  to find out reasons for decline in ranking
मालूम हो कि देश के सभी उच्च शैक्षिक संस्थानों की रैंकिंग में किंग जार्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी को 2019 में 42वीं रैंक मिली है जबकि बीते वर्ष संस्थान इस रैंकिंग में 23वें स्थान पर था।

चिकित्सा संस्थानों की रैंकिंग में भी केजीएमयू 5वें से 10वें स्थान पर पहुंच गया है। चिकित्सा स्वास्थ्य एवं अनुसंधान विभाग के नेशनल इंस्टीट्यूट रैंकिंग फ्रेमवर्क (एनआईआरएफ) चिकित्सा संस्थानों की रैंकिंग प्रतिवर्ष करता है। 
संस्थान की रैंकिंग में हुई गिरावट को लेकर केजीएमयू प्रशासन गंभीर हो गया है। उप कुलपति एमएलबी भट्ट ने कि इतने अधिक क्षमता वाले अस्पताल को चलाने के बावजूद संस्थान की यह स्थित गंभीर चिंता का विषय है।

संस्थान में प्रतिवर्ष 250 एमबीबीएस और 70 दंत चिकित्सा के छ़ात्रों का दाखिला लिया जाता है इसके अलावा यहां 450 रेजीडेंट डाक्टरों की लम्बी चौड़ी फौज भी है। इन सबके बावजूद संस्थान की रैंकिग नीचे गिर रही है। 

KGMU administration formed 16-member committee  to find out reasons for decline in ranking
  इन प्रोफेसरों को टीम में किया गया शामिल
संस्थान की गिरती रैंकिंग के कारणों का पता लगाने के लिए 16 सदस्यीय समिति गठित की गयी है। इस समिति में प्रोफेसर विनोट जैन, प्रोफेसर एसके दास, प्रोफेसर दिव्या मेहरोत्रा, प्रोफेसर एमएम गोयल, प्रोफेसर सहदाब मोहम्मद, प्रोफेसर आरके गर्ग, प्रोफेसर अरून चतुर्वेंदी, प्रोफेसर शैली अवस्थी, प्रोफेसर एनएस वर्मा, प्रोफेसर यूबी मिश्रा, प्रोफेसर विमला वेंकटेश, प्रोफेसर संदीप भट्टाचार्या के अलावा रजिस्ट्रार और वित्त अधिकारी डा रिचा खन्ना का शामिल किया गया है। 
  समिति दो सप्ताह में पेश करेगी अपनी रिपोर्ट 
नवगठित समिति की पहली बैठक सोमवार को सम्पन्न हुई जिसमें शोध संबंधी गतिविधियों, शिक्षण के स्तर समेत विभिन्न बिंदुओं पर चर्चा की गयी। समिति अपनी जांच का फाइनल ड्राफ्ट तैयार करने के साथ विस्तृत रिपोर्ट दो सप्ताह में उप कुलपति कार्यालय को प्रस्तुत करेगी। 

यह भी पढ़े... बैन हटते ही हमलावर हुई बहन जी, पूछा - इतना मेहरबान क्यों?


 

 

 

Web Title: KGMU administration formed 16-member committee  to find out reasons for decline in ranking ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया