मुख्य समाचार
स्कूल बस ने युवक को मारी टक्कर हुई मौत, चालक फरार  बच्चा चोर गिरोह के शक में चार साधु वेशधारियों को ग्रामीणों ने पकड़ा कुंभ के प्रचार-प्रसार के नाम पर कारोबारी से हुई ठगी  गाड़ी से रौंदकर 2 की हत्या मामले में चौकी प्रभारी हुए लाईन हाजिर, इन जगहों पर बरती गयी लापरवाही  अलर्ट: तमिलनाडु में घुसे लश्कर के 6 आतंकी  पत्नी की हत्या के मामले में फंसा BJP के पूर्व विधायक का बेटा, हो सकती है गिरफ्तारी गो उत्पादों के साथ पंचगव्य का प्रचार प्रसार करेगा उत्तर प्रदेश गो सेवा आयोग परिवार के साथ ईडी दफ्तर पहुंचे राज ठाकरे, मुंबई के कई इलाकों में धारा 144 लागू मौरंग मंडी के पास हुआ विवाद, घायलों को भेजा गया अस्पताल  वृंदावन में बांके बिहारी मेरे बांके बिहारी पोस्टर का हुआ विमोचन दुनिया का सबसे बड़ा ऑफिस अमेजन के नाम, 15 हजार कर्मचारी करेंगे काम लखनऊ नगर निगम पर सफाई कर्मचारियों का धरना आज महिलाओं के साथ उत्पीड़न करने वालो के विरूद्ध सख्त कार्यवाही सुनिश्चित करें : भारती घूस लेते रंगे हाथों पकड़ा गया लेखपाल, लखनऊ ले गई एंटी करप्शन टीम
 

PM के काफिले की तलाशी इस अधिकारी को पड़ गयी भारी हुए सस्पेंड, ऐसे बने थे IAS


GAURAV SHUKLA 18/04/2019 17:05:05
86 Views

Lucknow. चुनाव आयोग ने कथिततौर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के काफिले की तलाशी लेने पर एक आईएएस अधिकारी को सस्पेंड कर दिया है। जिस अधिकारी को सस्पेंड किया गया है उनका नाम मोहम्मद मोहसिन है। मोहसिन को संबलपुर में जनरल ऑब्जर्वर के तौर पर नियुक्त किया गया था। इसी दौरान उन्होंने पीएम के काफिले के एक वाहन की तलाशी लेने की कोशिश की। 

pm ke kafile ki talashi lena ias ko padi bhari
गौरतलब है कि पीएम नरेंद्र मोदी मंगलवार को ओडिशा के संबलपुर में चुनावी दौरे पर थे। वहां कर्नाटक बैच के आईएएस अधिकारी मोहम्मद मोहसिन ने उनके काफिले की एक गाड़ी की तलाशी लेने की कोशिश की, जिसको लेकर पीएमओ ने चुनाव आयोग से शिकायत की।

चुनाव आयोग को एसपीजी सुरक्षा के बावजूद इस तलाशी की सूचना मिलने पर अधिकारी को निर्देशों के उल्लंघन को लेकर सस्पेंड कर दिया गया। दरअसल एसपीजी सुरक्षा प्राप्त लोगों को इस तरह की जांच से छूट होती है बावजूद इसके कथिततौर पर अधिकारी ने दिशा निर्देशों को ताक पर रख कार्रवाई की। 

pm ke kafile ki talashi lena ias ko padi bhari
बता दें कि भारत निर्वाचन आयोग सभी संसदीय निर्वाचन क्षेत्रों में सामान्य पर्यवेक्षकों की नियुक्ति करता है, जिससे स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव संम्पन्न हो सके। पारदर्शिता के लिए ही यह अधिकारी स्थानीय प्रशासन के न होकर दूसरे राज्य के होते हैं। मोहम्मद मोहसिन पटना के रहने वाले और कर्नाटक सरकार में सचिव(सोशल वेलफेयर विभाग) हैं। वह कर्नाटक कैडर से ही आईएएस बने थे।

उन्होंने एमकॉम की पढ़ाई पटना यूनिवर्सिटी से की थी। जिसके बाद वह 1994 में सिविल सर्विसेज की पढ़ाई के लिए दिल्ली आए थे। हालांकि पहले अटेंप्ट में सिविल प्री की परीक्षा क्लियर न कर पाए और उन्होंने पुनः तैयारी की। जिसके बाद वह सफल तो हुए, लेकिन कुछ अंकों से आईएएस न बन सके। पुनः तैयारी करने पर वह 1996 बैच से आईएएस अधिकारी बनें। 

Web Title: pm ke kafile ki talashi lena ias ko padi bhari ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया