मुख्य समाचार
भाजपा सरकार ने जनता की सुरक्षा को अपराधियों के आगे गिरवी रख दिया है : अखिलेश जन्मदिन विशेष: शाहरुख की फिल्में हिट कराने में सुखविंदर सिंह का बड़ा योगदान हज यात्री इन्तज़ामों में कमी बतायें, दूर किया जायेगा : मोहसिन रज़ा ‘‘भूजल सप्ताह’’ के दूसरे दिन जल संरक्षण पर आधारित चित्रकला प्रतियोगिता एवं विज्ञान प्रश्नोत्तरी कार्यक्रम आयोजित जालान पैनल ने तैयार की फंड ट्रांसफर की रिपोर्ट, सरकार को मिलेगी बड़ी राहत बाढ़ राहत के कार्यों में किसी भी प्रकार की लापरवाही न बरती जाये : राहत आयुक्त राजकीय नलकूपों के यांत्रिक दोषों को 24 घंटे में दूर करें : धर्मपाल सिंह  पुलिस से परेशान व्यापारी ने खुद पर पेट्रोल छिड़क कर लगाई आग बाढ़ पीड़ितों के लिए आगे आए अक्षय, प्रियंका ने भी की अपील सोनभद्र: 90 बीघा जमीन के लिए हुआ खूनी संघर्ष, 11 की मौत
 

सपा के पूर्व जिलाध्यक्ष सहित 5 लोगों को फर्जीवाड़े में सात साल की सजा


SUJEET KUMAR 21/04/2019 11:39:38
95 Views

Lucknow. समाजवादी पार्टी के पूर्व जिला अध्यक्ष गुरुदेव शर्मा फर्जीवाड़ा कर जमीन खरीदने के चक्कर में कानून के फंदे में फंस चुके हैं। न्यायालय ने गुरुदेव शर्मा सहित पांच लोगों को सात साल की सजा सुनाई है।

five years jail sentence for former jila adhyaksh samajwadi party

यह था मामला 

समाजवादी पार्टी की सत्ता की हनक का एक और मामला सामने आया है, जिसमें वर्ष 2005 में सत्ता में रहते हुए पार्टी के जिला अध्यक्ष ने फर्जी वसीयत के आधार पर पार्टी कार्यालय के लिए जमीन का बैनामा कराया था। मामला गोवर्धन चौराहे के समीप स्थित होली एंजेल पब्लिक स्कूल का है।

सपा नेता गुरुदेव शर्मा ने जब इस जमीन का बैनामा कराया था उससे पूर्व ही इस जमीन की मालकियत व कब्जा छगनलाल पांडे के पास था। इस जमीन पर जो मकान बना था उसका नक्शा एमवीडीए से स्वीकृत था वह नगर पालिका में भी मिल्कियत दर्ज थी।

फर्जी बैनामा का मामला सामने आते ही उन्होंने इस मामले की एफआईआर 7 लोगों के खिलाफ दर्ज कराई थी जिस पर सुनवाई करते हुए न्यायालय ने यह फैसला सुनाया है।

इनको हुई सजा 

इस मामले में समाजवादी पार्टी के पूर्व जिलाध्यक्ष गुरुदेव शर्मा सहित वीरेंद्र वर्मा, अखिल वर्मा, अनुराग पंजाबी, युद्धराज सिंह को सात-सात वर्ष की सजा हुई है।

ये हुए दोषमुक्त

इस पूरे मामले में कुल सात लोग आरोपी थे, जिनमें से नारायण दास यादव व संजीव गुप्ता को बरी कर दिया है। इन लोगों ने कथित बैनामे में गवाही दी थी।

7 साल की सजा, 25 हजार रुपये जुर्माना 

मथुरा के सिविल सीनियर डिवीजन सैकण्ड के जज जहेन्द्र पाल सिंह ने थाना सदर बाजार से संबंधित मामले में सुनवाई करते हुए आईपीसी की धारा 420, 467, 468, 471 के अंतर्गत आरोपियों को दोषी मानते हुए सात-सात साल की सजा के साथ 25-25 हजार रुपए के अर्थ दंड की सजा सुनाई है।

Web Title: five years jail sentence for former jila adhyaksh samajwadi party ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया