मुख्य समाचार
नई नवेली दुल्हन को प्रेमी संग रंगे हाथ पकड़ा तो ससुरालियों ने रख दी ये शर्त एग्जिट पोल वाले ट्वीट को लेकर अनुपम खेर ने की विवेक ओबेरॉय की आलोचना, ईशा गुप्ता बोलीं... COA ने किया ऐलान, 22 अक्टूबर को होंगे बीसीसीआई के चुनाव पिता से लगाई एक शर्त के बाद इस महिला ने 15 वर्षों में किए 600 पोस्टमार्टम यहां निकली बंपर भर्ती, जल्द करें आवेदन KGMU : पल्मोनरी एंड क्रिटिकल केयर मेडिसिन विभाग ने किया भंडारे का आयोजन  ICC World Cup 2019 : टीम इंडिया इंग्लैंड हुई रवाना, धोनी को लेकर बनी यह रणनीति डीएम-एसपी ने लिया मतगणना स्थल पर तैयारियों का जायजा, तैयारियां पूरी मध्य कमान ने केन्द्रीय विद्यालय के छात्रों को कराया सीमा दर्शन नाराज तीन विधायक दे सकते हैं राजभर को झटका  सुप्रीम कोर्ट के बाद चुनाव आयोग ने दिया विपक्ष को झटका
 

...तो क्या साध्वी नहीं लड़ पाएंगी चुनाव? बीजेपी ने बनाया है प्रत्याशी


NAZO ALI SHEIKH 23/04/2019 17:34:10
122 Views

New Delhi. लोकसभा चुनाव में इस बार न केवल दिग्गज स्टार और नेता चुनावी मैदान में किस्मत आजमा रहे हैं, बल्कि कुछ गंभीर धाराओं में फंसे आरोपी भी चुनावी मैदान में टिकट पाकर उतरे हैं, जिनमें बीजेपी की ओर से साध्वी प्रज्ञा का नाम सुर्खियों में है। बताते चलें कि साध्वी मुंबई के खिलाफ मालेगांव ब्लास्ट कांड का आरोप है। मामला कोर्ट में चल रहा है। साध्वी को बीजेपी ने एमपी के भोपाल से टिकट देकर कांग्रेस के दिग्गज नेता दिग्विजय सिंह के खिलाफ मैदान में उतारा है।

यह भी पढ़ें... बोर्ड परीक्षा में ये छात्र रहे टॉपर

So will the Sadhvi not be able to fight? BJP has created candidate

साध्वी पर न केवल गंभीर आरोप है, वह विवादित बयान भी आए दिन देती रहती हैं। एनआईए ने बीजेपी से साध्वी के उम्मीदवारी पर निर्णय चुनाव आयोग के हाथ में दे दिया है। एनआईए ने कहा कि साध्वी चुनाव लड़ेंगी या नहीं, यह फैसला चुनाव आयोग ही ले सकता है। बता दें कि 2008 में हुए मालेगांव विस्फोट कांड मामले में आरोपी साध्वी प्रज्ञा के खिलाफ पीड़ित परिजनों ने एनआईए में शिकायत दर्ज कराई थी।

यह भी पढ़ें... स्वरा को ट्वीट करना पड़ा महंगा, मालिनी अवस्थी ने दिया करारा जवाब

पीड़ित परिवार ने एनआईए में शिकायत दर्ज कराते हुए गुहार लगाई थी कि साध्वी प्रज्ञा के चुनाव लड़ने की उम्मीदवारी रद्द की जाए। शिकायत को संज्ञान में लेते हुए एनआईए ने कहा कि यह उसके अधिकार क्षेत्र में नहीं है। यह चुनाव अयोग ही तय कर सकता है कि साध्वी चुनाव लड़ सकेंगी या नहीं।

वहीं, आरोपों के बाद साध्वी ने शिकायत याचिका को ही प्रचार पाने का तरीका बता दिया था। यह भी कहा था कि लोगों का ध्यान अपनी तरफ आकृष्ट करने के लिए पीड़ित परिवार ने एनआईए में शिकायत दर्ज कराई। 

So will the Sadhvi not be able to fight? BJP has created candidate

बताते चलें कि एमपी में भोपाल लोकसभा सीट से कांग्रेस के वरिष्ठ और दिग्गज नेता दिग्विजय सिंह चुनाव लड़ रहे हैं। दिग्विजय अपने आप में ही राजनीति की दुनिया में एक हस्ती माने जाते हैं। उनको टक्कर देने के लिए बीजेपी ने आरोपों से घिरी साध्वी प्रज्ञा को टिकट देकर भोपाल से मैदान में उतारा है।

दिग्विजय उन नेताओं में हैं, जिन्होंने कांग्रेस सरकार के दौरान 'भगवा आतंकवाद' का मुद्दा उठाकर देश भर की राजनीति में भूचाल ला दिया था। वहीं, साध्वी विवादित बयानों को लेकर सुर्खियां लगातार बटोर रही हैं।

2008 में साध्वी को मालेगांव विस्फोट कांड मामले में आरोपी पाते हुए गिरफ्तार किया था। विस्फोट मामले में उन पर मुकदमा दर्ज है। साध्वी 9 सालों तक जेल में रहने के बाद जमानत पर बाहर आई हैं। 

Web Title: So will the Sadhvi not be able to fight? BJP has created candidate ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया