भारत में भी बुर्के पर पाबंदी लगाने की बुलंद होने लगी आवाज


DEEP KRISHAN SHUKLA 01/05/2019 13:18:36
57 Views

New Delhi. सीरियल बम ब्लास्ट के बाद श्रीलंका में बुर्के और हिजाब पर प्रतिबंध लगने के बाद भारत में भी यह आवाज बुलंद होने लगी है। केन्द्र की सत्ता पर काबिज भाजपा के सहयोगी दल शिवसेना ने भारत में भी ऐसी पाबंदी लागू करने की मांग की है। अपने मुखपत्र 'सामना' में श्रीलंका सरकार के इस फैसले का स्वागत करते हुए बुर्के पर बैन की मांग करते हुए संपादकीय लेख लगाया है। इस लेख को शीर्षक दिया गया है 'प्रधानमंत्री मोदी से सवाल: रावण की लंका में हुआ, राम की अयोध्या में कब होगा।'

The sound of the banning the burqa in India started rising

मालूम हो कि श्रीलंका में बीते दिनों ईस्टर के पर्व पर सिलसिलेवार बम ब्लास्ट में तकरीबन तीन सैकड़ा लोगों की मौत हो गयी थी जबकि लगभग 5 सैकड़ा लोग घायल हो गए थे। 

आतंकियों ने विदे​शी नागरिकों को निशाना बनाने हुए ये धमाके चर्चों और पांच सितारा होटलों पर किए थे। हमले की प्रारंभिक जांच में एक धमाके को अंजाम देने वाली महिला बुर्के में नजर आयी थी। इसके बाद वहां की सरकार में बुर्के पर पाबंदी लगा दी है। 

The sound of the banning the burqa in India started rising

इस पर शिवसेना ने फ्रांस, ब्रिटेन और न्यूजीलैंड और ऑस्ट्रेलिया का उदाहरण देते हुए भारत में भी बुर्के और उस तरह के नकाब पर पाबंदी को राष्ट्रहित में आवश्यक बताया है। 

खास बात यह है कि इस संपादकीय लेख में दावा किया गया है कि अधिकांश मुस्लिम महिलाएं भी बुर्के के खिलाफ हैं।संपादकीय में यह बात भी लिखी गयी है कि सरकारी आंकड़ों में भले ही कुछ बताया गया हो लेकिन कोलंबों के धमाकों 500 से अधिक लोगों की जान गयी। 

The sound of the banning the burqa in India started rising

लिट्टे के आतंक से मुक्त होने के बाद श्रीलंका इस्लामी आतंकवाद की भेंट चढ़ गया। भारत का जम्मू कश्मीर प्रांत भी इस्लामी आतंकवाद से त्रस्त है। 

लेख के अतं में अन्य देशों की नजीर पेश करते हुए यह सवाल रखा गया है कि भारत में सख्त कदम कब उठाए जाएंगे?

यह भी पढ़े...सपा के पूर्व विधायक नसीम कांग्रेस में शामिल

Web Title: The sound of the banning the burqa in India started rising ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया