मुख्य समाचार
किसी दुर्घटना के इंतजार में चार दिन से पड़ा आंधी में गिरा यह पेड़ पहले निर्माण, अब चारे के नाम पर गोशालाओं में प्रधान कर रहे फर्जीवाड़ा इसरो की तैयारियां पूरी, सोमवार को होगा चंद्रयान-2 का प्रक्षेपण  कम नहीं हो रहीं आज़म खान की मुसीबतें, 3 और एफआईआर दर्ज छोटी सी गलती एक्टर को पड़ी भारी, 14 दिन की न्यायिक हिरासत में सोनभद्र: सीएम के दौरे को लेकर पुलिस ने कसा शिकंजा, पूर्व विधायक समेत कई कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारी  सोशल मीडिया पर कहर ढा रहीं हॉट एक्ट्रेस ईशा गुप्ता, देखें सिजलिंग तस्वीरें लखनऊ: मुठभेड़ में टिंकू नेपाली गैंग के सरगना समेत तीन गिरफ्तार, दो सिपाही जख्मी मलाइका की सिजलिंग फोटो देख खुद पर काबू नहीं रख पाए आर्जुन कपूर, कर दिया ऐसा कमेंट... यूपी में बदमाशों के हौसले बुलंद, भाजपा नेता को गोलियों से भूना दो पुलिस कर्मियों की हत्या कर भागे कैदियों में एक को मुठभेड़ में पुलिस ने किया ढेर
 

तूफान : क्या है फोनी का मतलब? क्यों दिये जाते हैं ऐसे नाम 


GAURAV SHUKLA 02/05/2019 13:07:12
86 Views

Lucknow. बंगाल की खाड़ी से उठा चक्रवाती तूफान फोनी अपना प्रचंड रूप ले चुका है। इस तूफान के शुक्रवार दोपहर तक ओडिशा के तट पर गोपालपुर और चांदबली के बीच से गुजरने की आशंका है। जानकारी के अनुसार इस तूफान की अधिकतम रफ्तार 175 से 185 किलोमीटर प्रति घंटे के आसपास होगी। हालांकि आशंका जताई जा रही है कि यह रफ्तार 205 किलोमीटर प्रति घंटे तक पहुंच सकती है। वहीं तूफान के मद्देनजर फिलहाल स्कूल कॉलेजों में छुट्टी कर दी गयी है। 

phoni tufaan kaise diye jate ghai inke naam
गौरतलब है कि आप इस बढ़ रहे तूफान का नाम फोनी सुनकर अचंभित जरूर हुए होंगे। बता दें कि यह इससे पहले आपने हरीकेन्स, टाइफून्स, साइक्लोन्स आदि उष्ण कटिबंधीय तूफानों के नाम भी सुने ही होंगे। फोनी भी इसी तरह का एक तूफान है। बता दें कि आधिकारिक तौर पर तूफानों को नाम दिये जाने का प्रचलन 1953 से शुरु हुआ था। हालांकि सभी तूफानों को अलग नाम नहीं दिया जाता। सिर्फ उन तूफानों को ही नाम दिया जाता है जिनकी स्पीड कम से कम 63 किलोमीटर प्रति घंटा हो। इसी के साथ जिनकी स्पीड 118 किलोमीटर प्रति घंटा तक जाती है उन्हें गंभीर तूफान माना जाता है। इसी के साथ 221 किलोमीर प्रति घंटा की रफ्तार वाले तूफान को सुपर चक्रवाती तूफान कहा जाता है। 
फोनी का मतलब क्या 
हिंद महासागर से उठ रहे तूफान का नाम रखने की जिम्मेदारी उसी क्षेत्र के आने वाले देशों की है। जिसके बाद बांग्लादेश द्वारा ही इसका नाम दिया गया है। फोनी का मतलब सांप होता है। 

phoni tufaan kaise diye jate ghai inke naam
बता दें कि शुरुआती दौर में तूफान को सिर्फ महिलाओं का ही नाम मिलता था। 1953 के बाद अमेरिकी मौसम विभाग ने तय किया कि ऐल्फाबेट A से W तक जितनी भी महिलाओं का नाम है उन पर ही तूफानों का नाम दिया जाता था। लेकिन बाद में संगठनों द्वारा इसका विरोध किया गया तो 1978 में तय हुआ कि तूफानों का नाम पुरुषों के नाम पर भी दिया जाने लगा। इसके बाद भारत में तूफान को नाम दिये जाने का चलन 2000 के बाद से ही शुरु हुआ। 
फिलहाल ऐसे दिये जाते है नाम 
तूफानों को नाम देने के लिए यूएन की वर्ल्ड मेट्रोलॉजिकल आर्गेनाइजेशन के नियम तैयार है। इसके अनुसार जहां से तूफान आएगा वहां की एजेंसियां ही उस तूफान का नाम देंगी। साल के पहले तूफान को A से फिर उसके बाद के तूफान को B से नाम दिया जाएगा। इसी तरह आगे भी यह क्रम चलता रहेगा। वहीं ईवन नंबर वाले साल में आने वाले तूफानों को पुरुषों के नाम पर नाम दिया जाएगा। जबकि ऑड साल वाले तूफान को महिलाओं का नाम दिया जाएगा। उदाहरण के तौर पर साल 2019 में आ रहे तूफान को महिला के नाम पर फोनी नाम दिया गया है। 

phoni tufaan kaise diye jate ghai inke naam

Web Title: phoni tufaan kaise diye jate ghai inke naam ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया