मुख्य समाचार
किशोरी से गैंगरेप का वीडियो वायरल, सात गिरफ्तार भाजपा के इस विधायक ने ली सीएम पद की शपथ, मचा हड़कंप पिता के कंधे पर बैठ मीडिया को जीभ चिढ़ाते तैमूर ने जीता दिल, करीना पर नहीं गया किसी का ध्यान इटावा जेल में कैदी की मौत, मचा बवाल वाह भाजपा सरकार! सदन में पॉर्न देखने वालों को बना दिया मंत्री महिलाओं को सेना में जाने का सुनहरा मौका, यहां हो रही भर्तियां स्टेयरिंग फेल होने से गड्ढे में उतरी स्कूली बस, बाल बाल बचे बच्चे लालू समेत RJD के सभी नेताओं की मिली सहमति, ये होंगे नए राष्ट्रीय अध्यक्ष यात्रीगण कृपया धैर्य धरें! अभी और निरस्त रहेंगी ये ट्रेनें शिकायत निस्तारण में हीलाहवाली बर्दाश्त नहीं; कर्मचारियों का रुकेगा वेतन, अधिकारियों पर भी होगा एक्शन : नगर आयुक्त   गजब! सदन में पॉर्न देखने वालों को बना दिया मंत्री चिदंबरम के समर्थन में खुलकर सामने आये राहुल गांधी, दिया ये बड़ा बयान इस विवि में 100 छात्रों ने मुंडवाया सिर, शासन तक मची खलबली वायुसेना प्रमुख का दर्द आया बाहर, कहा- जितना पुराना मिग-21 उड़ा रहे, उतनी पुरानी कोई कार नहीं चलाता नौ रुपए में करें विदेश की यात्रा, ये कंपनी दे रही ऑफर पाकिस्तान: आतंकी हाफिज का कानूनी पैतरा, कोर्ट को बताया लश्कर से नहीं कोई वास्ता  जापानी इंसेफलाइटिस पर योगी सरकार ने हासिल की बड़ी कामयाबी : भाजपा लखनऊ: HDFC बैंक का कारनामा, अवैध तरीके से ग्राहकों से वसूल रहा रुपए मुख्यमंत्री ने बाल श्रम से मुक्ति के लिए जनप्रतिनिधियों से मांगा सहयोग
 

कश्मीर घाटी में गिरता ग्राफ बड़ी चिंता का विषय, आतंकियों के गांवों में शून्य रही वोटिंग


DEEP KRISHAN SHUKLA 07/05/2019 10:46:50
110 Views

Srinagar. लोकसभा चुनाव का अहम मुद्दा बने काश्मीर में लोकतंत्र के महापर्व में हिस्सेदारी करने वालों की संख्या बहुत ही कम नजर आ रही है। पांचवे चरण के मतदान में घाटी की अनंतनाग लोकसभा सीट के शोपियां और पुलवामा जिलों में महज 2.81 फीसदी ही वोटिंग हुई।

जम्मू कश्मीर के इतिहास में यह पहला मौका है जब राज्य में इतनी कम वोटिंग है। मुठभेड़ में मारे गए हिजबुल मुजाहिदीन के आतंकी बुरहान वानी के गांव में तो किसी ने एक वोट भी नहीं डाला। जबकि पुलवामा हमले को अंजाम देने वाले आत्मघाती आतंकी आदिल अहमद डार के गांव में मात्र 15 ही वोट पड़े। इसी तरह दक्षिण कश्मीर में अन्य आतंकी कमांडरों के गांवों में मतदान शून्य रहा। लद्दाख इलाका ही एकमात्र क्षेत्र रहा जहां वोटिंग ने 60 फीसद का आंकड़ा पार किया। 

falling graph of voting in the Kashmir Valley is a matter of big concern; Voting is zero in the villages of terrorists
बता दें कि जम्मू काश्मीर में लोकसभा चुनाव 2019 के पहले चरण के चुनाव में मतदाताओं में उत्साह देखने को मिला।उसके बाद से मतदान प्रतिशत में लगातार गिरावट देखने को मिली है।

पहले के चरणों में दक्षिण कश्मीर के बारमुला में 35% और मध्य कश्मीर के श्रीनगर में 14% वोट डाले गए थे। अनंतनाग में पहले 13.63% और फिर कुलगाम जिले में 10.3% वोट डाले गए थे। राज्य में जिस तरह से मतदान का प्रतिशत गिरा है वह घाटी के इतिहास में पहली बार हुआ है। पांचवे चरण में तो स्थितियां यह रही कि कई गांवों में एक भी मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करने पोलिंग बूथ नहीं पहुंचा। 

falling graph of voting in the Kashmir Valley is a matter of big concern; Voting is zero in the villages of terrorists

2016 में सुरक्षा बलों से मुठभेड़ में मारे गए घाटी के पोस्टर ब्वाय आंतकी बुरहान वानी, पुलवामा के आत्मघाती आतंकी आदिल अहमद डार समेत कई आतंकी संगठनों के कमांडरों के गांव में वोटिंग शून्य रही। 

वोटिंग में आयी गिरावट को लेकर तरह तरह के कयास लगाए जा रहे हैं। राज्य में आतंकियों के खिलाफ चलाए जा रहे सैन्य अभियान को भी इसकी वजह माना जा रहा है। 

falling graph of voting in the Kashmir Valley is a matter of big concern; Voting is zero in the villages of terrorists
पांचवें चरण के मतदान में राज्य में कई जगहों पर हिंसक घटनाएं हुई। तीन पोलिंग बूथों पर ग्रेनेड भी फेंके गए। जबकि ऊंचाई वाले इलाकों शोपियां, वाची आदि जगहों पर कुछ हद तक अच्छी वोटिंग देखने को मिली। 

घाटी में लोगों का लोकतंत्र के महापर्व से दूरी बनाना बेहद चिंता का विषय है। यह हालात त​ब है जबकि निर्वाचन आयोग के आदेश पर राज्य पुलिस और सुरक्षा बलों ने शांतिपूर्ण मतदान संपन्न कराने के बेहद पुख्ता इंतजाम किए थे। 

यह भी पढ़े...मां ने पसंदीदा प्रत्याशी को नहीं दिया वोट तो बेटे ने तोड़ दी EVM

Web Title: falling graph of voting in the Kashmir Valley is a matter of big concern; Voting is zero in the villages of terrorists ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया