मुख्य समाचार
अमेठी: कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने धूम-धाम से मनाया राहुल गांधी का जन्मदिन एरिया कमांडर समेत 4 नक्सलियों ने किया आत्मसमर्पण हाईवे किनारे जड़ी बूटियां उगाकर यूपी सरकार सुधारेगी लोगों का स्वास्थ्य  लखनऊ: सीएम योगी ने लेखपालों को बांटे लैपटॉप लखनऊ में गर्मी का कहर, राज्य में 23 जून तक नहीं चलेंगे स्कूल अर्जुन पटियाला का पोस्टर्स हुआ रिलीज,फिल्म मे दिलजीत-कृति मुख्य भूमिका में पहली बार सांसद बने सनी देओल से हुई बड़ी चूक, जा सकती है लोकसभा की सदस्यता  सीवर सफाई करने चैंबर में उतरे दो कर्मचारी गैस से अचेत होकर डूबें, मौत नेहा धूपिया के चैट शो में पहुंची परिणीति चोपड़ा और सानिया मिर्जा गरीब मजदूर की मजदूरी नहीं दिला पा रही मलिहाबाद पुलिस इयोन मोर्गन ने तोड़ डाला छक्कों का सबसे बड़ा रिकॉर्ड, एक पारी में लगा दिए इतने छक्के संभल में भीषण सड़क हादसा, दो बच्चों समेत आठ की मौत सपा सांसद ने नहीं लगाया वंदे मातरम का नारा तो अखिलेश ने कह दी चौंकाने वाली बात मोदी सरकार ने किये ड्राइविंग लाइसेंस के नियमों में संशोधन, जानिए क्या है नियम? परिवहन मंत्री ने बांटे हेल्मेट, लोगों को किया जागरूक धर्मांतरण के विरोध में विहिप ने डीएम को सौंपा ज्ञापन महिला अपनी ताकत को पहचाने और समाज को यह संदेश दें कि नारी अबला नहीं अब सबला है : अनुपमा जायसवाल याचिका दायर कर पाकिस्तान की क्रिकेट टीम को बैन करने की मांग दलित हत्या मामले बहन जी के करीबी नेता को अखिलेश ने सौंपी अहम जिम्मेदारी प्रत्येक विकास खण्ड की दो पंचायतों को आदर्श पंचायत के रूप में विकसित किया जाय महिलाओं से जुड़ी समस्याओं के समाधान के लिए शिक्षा जरूरी : अनुपमा जायसवाल अवैध खनन मामले में दोषी पाए गए अधिकारी का तत्काल प्रभाव से स्थानान्तरण सड़क सुरक्षा सप्ताह के दूसरे दिन परिवहन मंत्री ने बांटे हेल्मेट, लोगों को किया जागरूक डीएम की बड़ी कार्रवाई, कानूनगो व लेखपाल सहित दो सस्पेन्ड यूपी में कमजोरों और बच्चियों की हत्याओं की आ गई है बाढ़ : अखिलेश क्रिकेट के बाद अब राजनीति की पिच पर भी पाकिस्तान को लग सकता है ये तगड़ा झटका अवैध रूप से संग्रह किये मिट्टी के तेल के साथ एक युवक गिरफ्तार निर्धनों को शिक्षा प्रदान करने के लिए होना चाहिए ह्यूमन टच : राज्यपाल पिता मुलायम को व्हील चेयर पर लेकर लोकसभा पहुंचे अखिलेश यादव
 

केंद्र सरकार ने SC के लिए सिफारिश किये गये 2 जजों के नाम लौटाए, जानिए वजह


ABHIMANYU VERMA 08/05/2019 08:01 AM
20 Views

New Delhi. सुप्रीम कोर्ट के जजों के सिफ़ारिश के तौर पर हाई कोर्ट के दो जजों के नामों को केंद्र सरकार ने कॉलेजियम को लौटा दिये हैं। सुप्रीम कोर्ट कॉलेजियम ने झारखंड हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस अनिरूद्ध बोस और गोवाहाटी हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस ए एस बोपन्ना के नाम की सिफ़ारिश की थी।

The Central Government returned the names of the two judges recommended for the Supreme Court.

सूत्रों के मुताबिक सुप्रीम कोर्ट कॉलेजियम ने 12 अप्रैल को जस्टिस अनिरूद्ध बोस और जस्टिस ए एस बोपन्ना के नाम की सिफ़ारिश की थी। वहीं, सरकार की ओर से नामों को लौटने के पीछे की वजह वरिष्ठता और क्षेत्रीय प्रतिनिधित्व बतायी गयी है। 

The Central Government returned the names of the two judges recommended for the Supreme Court.

बता दें कि झारखंड हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस अनिरूद्ध बोस न्यायाधीशों की अखिल भारतीय वरिष्ठता के क्रम में 12वें नंबर पर हैं।  उनका मूल हाई कोर्ट कलकत्ता हाई कोर्ट रहा है। 

उधर, गोवाहाटी हाई कोर्ट के चीफ जस्टिस ए एस बोपन्ना वरिष्ठता क्रम में 36वें नंबर पर हैं। पिछले साल जब न्यायमूर्ति बोस के नाम की सिफारिश दिल्ली हाई कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश पद के लिए की गयी थी तब भी सरकार ने उनका नाम लौटा दिया था। 

Web Title: The Central Government returned the names of the two judges recommended for the Supreme Court. ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया