रवीन्द्रनाथ टैगोर का जीवन दूसरों के लिए है प्रकाशपुंज : राज्यपाल


GAURAV SHUKLA 08/05/2019 09:27:29
91 Views

लखनऊ बंगीय नागरिक समाज द्वारा गुरूदेव रवीन्द्रनाथ टैगोर की जयन्ती के अवसर पर डीएम आवास के सामने स्थित रवीन्द्रनाथ टैगोर की प्रतिमा पर एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस अवसर पर बंगीय समाज द्वारा इस अवसर पर विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट कार्य करने वाले महानुभावों एवं छात्राओं को सम्मानित भी किया गया।

ravindranath tagor dusaro ke jivan ke liye prakash punj
इस अवसर पर राज्यपाल ने कहा कि ठाकुर रवीन्द्रनाथ टैगोर ऐसे महामानव थे, जिनका जीवन दूसरों के लिए प्रकाशपुंज है। रवीन्द्रनाथ बहुमुखी प्रतिभा के धनी थे। रवीन्द्रनाथ टैगोर अकेले ऐसे कवि हैं, जिनकी दो रचनाएं, एक ‘जन-गण-मन’ जो भारत का राष्ट्रगान बना तो दूसरी रचना ‘आमार सोनार बांग्ला’ पड़ोसी देश बांग्लादेश का राष्ट्रगान है। वे देश के एकमात्र ऐसे साहित्यकार थे जिन्हें साहित्य के क्षेत्र में गीतांजलि के लिए ‘नोबल पुरस्कार’ मिला। उनकी विशेषताओं को देखते हुए अंग्रेजों ने उन्हें ‘सर’ की उपाधि प्रदान की थी। 1919 में जलियांवाला बाग काण्ड से दुखी होकर उन्होंने ब्रिटिश प्रशासन को, सच्चे देशप्रेमी होने का प्रमाण देते हुए ‘सर’ उपाधि वापस कर दी थी। उन्होंने कहा कि हमें रवीन्द्रनाथ टैगोर के आदर्शों, विचारों एवं कृतियों से सबक लेकर देश एवं समाज के कल्याण में सहयोग करना चाहिए, यही उनके प्रति सच्ची श्रद्धांजलि होगी।
नाईक ने कहा कि आज का दिन विशेष महत्व रखता है। संयोग से आज रवीन्द्रनाथ एवं परशुराम जयन्ती है तथा अक्षय तृतीया का दिन है। उन्होंने कहा कि अक्षय तृतीया का उनके जीवन में विशेष महत्व है, क्योंकि उनका जन्म अंग्रेजी कैलेण्डर के हिसाब से 16 अप्रैल, 1934 को हुआ था और उसी दिन अक्षय तृतीया की तिथि भी थी। राज्यपाल ने कहा कि राज्यपाल का कार्यकाल 5 साल तक होता है और उनका कार्यकाल 22 जुलाई, 2019 को पूरा हो जायेगा। वे हर वर्ष रवीन्द्रनाथ टैगोर को अपनी आदरांजलि व्यक्त करने निरन्तर प्रतिमा पर आते रहें हैं। उन्होंने बताया कि उनकी पुस्तक ‘चरैवेति! चरैवेति!!’ अब तक 10 भाषाओं में मराठी, हिन्दी, गुजराती, उर्दू, अंग्रेजी, संस्कृत, सिंधी, अरबी, फारसी एवं जर्मन में अनुवादित हो चुकी है। शीघ्र ही बांग्ला, असमिया और कश्मीरी भाषा में भी प्रकाशित होगी। उन्होंने बताया कि दृष्टिबाधित लोगों के लिए ब्रेल लिपि में शीघ्र आ रही है।

Web Title: ravindranath tagor dusaro ke jivan ke liye prakash punj ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया