मुख्य समाचार
KGMU : पल्मोनरी एंड क्रिटिकल केयर मेडिसिन विभाग ने किया भंडारे का आयोजन  ICC World Cup 2019 : टीम इंडिया इंग्लैंड हुई रवाना, धोनी को लेकर बनी यह रणनीति डीएम-एसपी ने लिया मतगणना स्थल पर तैयारियों का जायजा, तैयारियां पूरी मध्य कमान ने केन्द्रीय विद्यालय के छात्रों को कराया सीमा दर्शन नाराज तीन विधायक दे सकते हैं राजभर को झटका  सुप्रीम कोर्ट के बाद चुनाव आयोग ने दिया विपक्ष को झटका स्पा सेंटर की आड़ में चल रहा था सेक्स रैकेट, इस तरह पुलिस ने किया पर्दाफाश मायावती का बड़ा एक्शन, इस दिग्गज नेता को पार्टी से किया बाहर मौसी के घर आयी बच्ची का तालाब में उतराता मिला शव साढ़े छह लाख की शराब के साथ एसटीएफ के हत्थे चढे़ दो तस्कर 28वीं पुण्य तिथि पर याद किए गए पूर्व पीएम राजीव गांधी BSP की जगह BJP को वोट देना महिला को पड़ा भारी, पति ने फावड़े से काटकर की हत्या पूर्व मंत्री और बसपा के कद्दावर नेता को पार्टी ने दिखाया बाहर का रास्ता पूर्व मंत्री और बसपा के कद्दावर नेता को पार्टी ने दिखाया बाहर का रास्ता  लोकसभा चुनाव खत्म होते ही बंद हुआ नमो टीवी, भाजपा ने दिए थे इतने लाख रुपए सीडीओ ने देवलान गौशाला का किया निरीक्षण बड़ा मंगल दे रहा है दस्तक, लखनऊ मेट्रो की सवारी कर बचें धूप और जाम से आजम खान के खिलाफ आचार संहिला उल्लंघन के 13 मामलों में आरोप पत्र दाखिल
 

सुप्रीम फैसला, गिराई जाएंगी 500 फ्लैट्स वाली 5 इमारतें


DEEP KRISHAN SHUKLA 09/05/2019 10:29:45
34 Views

New Delhi. सुप्रीम कोर्ट ने केरल के कोच्चि में समुद्र तट पर बनी 500 फलैट्स वाली 5 इमारतों को गिराने के आदेश जारी कर दिए है। यह इमारते प्रतिबंधित कोस्टल रेग्युलेशन जोन में नियमों का उल्लंघन कर बनाई गईं थी। एक्सपर्ट कमेटी की राय का आधार बनाते हुए उच्चतम न्यायालय ने बुधवार यह फैसला सुनाया। 

Supreme decision, 5 buildings with 500 flats will be demolished
बता दें कि 1991 के कोस्टल रेग्युलेशन जोन के नोटिफिकेशन के तहत तटीय क्षेत्र के 200 मीटर के दायरे में कोई निर्माण नहीं हो सकता है। 
केरल के कोच्चि के ऐसे ही एक मामले की सुनवाई सुप्रीम कोर्ट में जस्टिस अरुण मिश्रा एवं जस्टिस नवीन सिन्हा की बेंच में चल रही थी। 
जिसमें केरल स्टेट कोस्टल जोन मैनेजमेंट अथॉरिटी के अधिवक्त रोमी चाको ने एक्सपर्ट कमे​टी की राय का हवाला दिया। 

Supreme decision, 5 buildings with 500 flats will be demolished
जिस पर बेंच ने 500 फ्लैट्स वाली इन 5 इमारतों को एक महीने के भीतर ढहाने और इस संबंध में की गयी कार्रवाई की रिपोर्ट दाखिल करने का आदेश दिया है। 
गौरतलब हो कि अगस्त, 2006 में माराडु म्युनिसिपलिटी ने कोच्चि में बिल्डर्स को कोस्टर रेग्युलेशन जोन-3 के तहत आने वाले इलाके में व्यवसायिक इमारतों के निर्माण की मंजूरी दी थी। सतर्कता विभाग ने इस मंजूरी में कई अनियमितताओं की बात कही थी। 

Supreme decision, 5 buildings with 500 flats will be demolished
27 नवंबर, 2018 को सुप्रीम कोर्ट ने यह पता लगाने के लिए एक्सपर्ट कमेटी का गठन किया था कि इन इमारतों का निर्माण कोस्टल रेग्युलेशन जोन-2 हुआ है या फिर जोन-3 में। 
कमेटी ने अपनी रिपोर्ट में इस बात का उल्लेख किया है कि जिस इलाके में इन इमारतों का निर्माण हुआ है वह जोन-3 में आता है। 

यह भी पढ़े...हमने सबका विकास समान रूप से किया : योगी

 

 

 

 

Web Title: Supreme decision, 5 buildings with 500 flats will be demolished ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया