मुख्य समाचार
शाकिब ने रचा इतिहास, वर्ल्‍ड कप में कपिल-युवराज के रिकॉर्ड की बराबरी की क्षेत्र-जिला पंचायत सदस्यों के रिक्त पदों पर उप निर्वाचन के लिए समय सारणी जारी  Tik Tok वीडियो से सुर्खियों में आई पीली साड़ी वाली महिला जेनेलिया डिसूजा के पैर दबाते रितेश देशमुख का वीडियो वायरल, यूजर्स ने कहा... जल्द ही 100 करोड़ का आंकड़ा छू सकती फिल्म कबीर सिंह सपा संरक्षक की होगी सर्जरी, इस गंभीर समस्या से जूझ रहे हैं मुलायम कोल्ड ड्रिंक पीने से एक ही परिवार के 5 लोग पहुंचे अस्पताल, फिलहाल खतरे से बाहर इटौंजा प्रकरण : एसएसपी ने कॉस्टेबल को किया लाइन हाजिर, चौकी प्रभारी व थानाध्यक्ष पर भी कार्रवाई प्रचलित  राजस्थान: बीजेपी प्रमुख मदन लाल सैनी का लंबी बीमारी के बाद निधन दो पक्षों में विवाद के बाद जमकर चले लाठी डंडे, वीडियो वायरल
 

कुशमौरा में अपात्रों को दिये गये आवास दो वर्ष बाद भी अधूरे


LEKHRAM MAURYA 12/05/2019 11:56:32
18 Views

 Houses given to disadvantages in Kushmaura even after two years

LUCKNOW.  विकास ख्ण्ड काकोरी की ग्राम पंचायत कुशमौरा में प्रधान और सचिव की मिलीभगत से प्रधानमंत्री आवास योजना में पहले अपात्रों को आवास दिये गये और अब दो साल बाद भी आवास में छत न पड़ पाने के कारण सचिव दूसरे का आवास दिखाकर पैसा हजम करने की फिराक में हैं।

 Houses given to disadvantages in Kushmaura even after two years

अपात्रों को आवास के मामले में लीपापोती कर रहे अधिकारी

ग्राम पंचायत कुशमौरा के मजरे हलुआपुर में कुुछ आवास अपात्रों को दिये गये हैं जिनमें बोधरानी पत्नी हीरालाल जिनका पहले से पक्का  मकान बना है। उन्हे आवास दे दिया गया। बोधरानी ने अपने बाग में आवास बनवाया है,जिसमें ताला पड़ा रहता है और वह आज भी उसमें रह नहीं रही हैं। इसी मोहल्ले में कुशुमलता पत्नी रंजीत कुमार को भी आवास दिया गया है।

दो वर्ष पहले इनको आवास दिया गया था, लेकिन आज तक अधूरा पड़ा है। अधिकारियों ने जब सचिव से स्थिति पूछी तो उसने सभी आवास पूर्ण दिखा दिये। जबकि उसमें छत ओर दरवाजे आज भी नहीं हैं। इसके अलावा सचिव ने पहले उसमें वर्ष 2017-18 लिखवाया। बाद में उसने दूसरे के मकान में नाम लिखवाकर फोटो भेज दी।

​इस मामले की शिकाय होने पर सचिव ने उसमें वित्तीय वर्ष 2018-19 लिखवा दिया है। जबकि ग्रामीणों ने बताया कि रंजीत को दो साल पहले आवास मिला था। उन लोगों ने यह भी कहा कि यह आवास अपात्रों को दिये गये हैं। इसमेें एडीओ और बीडीओ की मिली भगत होने के कारण मामले को दबाने का प्रयास किया जा रहा है। इस सम्बन्ध मे विकास खण्डस्तरीय अधिकारियों ने मामले में कुछ भी बोलने से मना कर दिया।  

Web Title: Houses given to disadvantages in Kushmaura even after two years ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया