पुलवामा एनकाउंटर: कानपुर के नाम दर्ज हुए एक और शहादत


DEEP KRISHAN SHUKLA 17/05/2019 10:35:49
85 Views

Kanpur. आतंकियों से लोहा लेने में देश के वीर जवानों शहादत का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। बीते दिन जम्मू कश्मीर के पुलवामा में हुई मुठभेड़ में कानपुर देहात के डेरापुर गांव का एक रणबांकुरा शहीद हो गया। सेना से सेवानिवृत्त गंगादीन यादव के बेटा रोहित यादव की शहादत की खबर जैसे ही देर शाम गांव पहुंची तो परिवार समेत पूरी जनपद में मातम छा गया। पति के गम में पत्नी की हालत बिगड़ गई है। जिसकी सूचना मिलते ही सीएचसी से टीम के साथ शहीद के घर पहुंच कर उसका उपचार किया गया। 

Pulwama encounter, Another Shahadat recorded in the name of Kanpur
डेरापुर गांव के रहने वाले राहित यादव नवम्बर 2011 में देश की सेवा और सुरक्षा के जज्बे के साथ भारतीय सेना में भर्ती हुए थे। 
उनकी तैनाती 17 वीं राजपूताना राइफल्स की 44वें आतंकवाद निरोधक दस्ते में थी। गुरूवार को जम्मू कश्मीर के पुलवामा इलाके में आतंकवादियों से हुई मुठभेड़ में देश के दुश्मनों से लोहा लेते हुए रोहित वीरगति को प्राप्त हो गए। 
उनके शहादत की खबर जैसे से देर शाम गांव में पहुंची तो रोहित के परिवार के साथ साथ पूरा गांव गमजदा हो गया। बहादुर लाल की शहादत पर दुखी परिजनों को ढांढस बंधाने के लिए पूरा का पूरा गांव रोहित के घर पर उमड़ पड़ा। 

Pulwama encounter, Another Shahadat recorded in the name of Kanpur
रोहित की शहादत की खबर सुनते ही उनकी पत्नी वैष्णवी उर्फ रूबी बेहोश हो गयी। इसकी सूचना मिलते ही सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के डा एके रस्तोगी ने टीम के साथ शहीद के घर पहुंच कर उनकी पत्नी का चिकित्सकीय परीक्षण कर उपचार किया। मां विमला देवी का भी रो रो कर बुरा हाल था। 
  पिता और भाई चलाते हैं ट्रेडर्स की दुकान
पिता के सेवानिवृत्त होने के बाद रोहित भारतीय सेना में भर्ती हो गए थे। उनके छोटे भाई सुमित ने घर का खर्च उठाने के लिए ट्रेडर्स की दुकान खोल ली। जिस पर पिता पुत्र दोनों समय देते हैं।

Pulwama encounter, Another Shahadat recorded in the name of Kanpur 
  बीते माह ही छुट्टी मना कर गए थे रोहित
शहीद रोहित यादव का विवाह 25 अप्रैल 2016 को वैष्णवी के साथ हुआ था। बीते माह अप्रैल में ही वह छुट्टी मना कर 17 अप्रैल को ही वापस ड्यूटी पर गए थें। भाई सुमित ने बताया कि कि भैया जाते समय यह कह कर गए थे कि जल्द ही दोबारा आऊंगा लेकिन यह नहीं बता कर गए थे कि इस तरह वापस आएंगे। 

यह भी पढ़े...बुआ, बबुआ और नामदार उप्र की जनता को सिर्फ जातियों में बांटते हैं : मोदी

 

 

 

 

Web Title: Pulwama encounter: Another Shahadat recorded in the name of Kanpur ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया