मुख्य समाचार
मायावती ने फिर उठाया ये पुराना मुद्दा, कहा- भाजपा की साजिश में शामिल थे मुलायम आम उत्पादन के क्षेत्र को विस्तारित करने पर शोध करें : राज्यपाल RBI को फिर लगा बड़ा झटका, डिप्टी गवर्नर विरल आचार्य ने अचानक दिया इस्तीफा सबके विकास से ही देश का विकास होगा : राज्यपाल पूर्व सैनिकों के लिए मेरे घर के दरवाजे 24 घंटे खुले : महापौर संयुक्ता भाटिया करणी सेना को डायरेक्टर ने दिया जवाब, दोनों पक्षों में घमासान ससुरालियों को नशीला पदार्थ खिलाकर शादी के दूसरे दिन ही अपने प्रेमी संग फरार हुई दुल्हन बच्ची की दुष्कर्म के बाद हत्या करने वाला रिश्तेदार पुलिस के हत्थे चढ़ा विराट कोहली ने विश्व कप में किया ये कमाल और कर ली इस कप्तान की बराबरी BSP सांसद के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज, जा सकती है लोकसभा की सदस्यता ट्रिपल मर्डर से दहली दिल्ली, बुजुर्ग दंपति और नौकरानी की हत्या फिर वायरल हुई अनोखे अंदाज में प्रिया प्रकाश की फोटो, पहचानना हुआ मुश्किल कांग्रेस पार्टी को मिला नया राष्ट्रीय अध्यक्ष, राहुल गांधी का इस्तीफा मंजूर! सुहाना का पोल डांस सोशल मीडिया पर वायरल राजस्थान की जेल से भाग निकले दुष्कर्म और हत्या के तीन आरोपी शमी ने कहा, हमारी गेंदबाजी ने जीत अपनी झोली में डाल ली इंदौर में ऑनर किलिंग का मामला आया सामने, भाई ने गर्भवती बहन को मारी गोली ईरान पर हमले का खतरा टला नहीं, नए प्रतिबंध लगाने की तैयारी में अमेरिका सतर्कता अधिष्ठान ने शुरू की मायावती शासनकाल के 45 कर्मियों की भ्रष्टाचार व संपत्ति की जांच
 

फैनी तूफान ने छीना गरीब का घर, टॉयलेट में रहने को हुए मजबूर


NAZO ALI SHEIKH 19/05/2019 09:58 AM
22 Views

NEW DELHI. दो सप्ताह पहले आए फैनी तूफान ने सैकड़ों परिवारों को उजाड़ दिया। फैनी से मची भयानक तबाही में ओडिशा के एक दलित परिवार का घर बर्बाद हो गया परिवार को मजबूर होकर टॉयलेट का सहारा लेना पड़ा। बता दें कि केंद्रपाड़ा जिले में 3 मई को पहुंचे फैनी तूफान में अपना कच्चा घर गिर जाने के कारण परिवार को पक्के टॉयलेट में शरण लेनी पड़ी। परिवार को पक्का टॉयलेट फ्लैगशिप कार्यक्रम स्वच्छ भार मिशन के तहत बनाकर दिया गया था। 

Fannie storm forced the poor Poor house to stay in the restroom

केंद्रपाड़ा जिले के रघुदेईपुर गांव निवासी खिरोद जेना (58) ने बेघर हो जाने के बाद अपनी पत्नी और दो जवान बेटियों के साथ जिस टॉयलेट में शरण ली है, वह महज 7 गुणा 6 फुट का है। खिरोद भूमिहीन हैं और दिहाड़ी मजदूर के तौर पर अपने परिवार की गुजर-बसर करते हैं।

खिरोद ने कहा, तूफान ने मेरा घर नष्ट कर दिया, लेकिन टॉयलेट पक्का होने के कारण बच गया। मेरे पास कोई अन्य जगह नहीं थी, इसलिए दो दिन बाद टॉयलेट ही मेरा घर बन गया। मुझे नहीं पता था कि हमें यहां कितना समय गुजारना होगा। 

खिरोद का कहना है कि उसके पास दोबारा घर बनाने के लिए कोई साधन नहीं है, लेकिन उसे घर बनाने के लिए सरकार से मिलने वाले तूफान पीड़ित मुआवजे का इंतजार है। खिरोद ने कहा, मुआवजा मिलने तक मजबूरन हमें टॉयलेट में ही रहना होगा और तब तक हम खुले में ही शौच त्याग करने के लिए बाध्य रहेंगे।

उधर, जिला ग्रामीण विकास एजेंसी (डीआरडीए) के प्रोजेक्ट डायरेक्टर दिलीप कुमार परीदा ने कहा, मेरी जानकारी में डेराबिश ब्लॉक में तूफान से घर नष्ट हो जाने के बाद एक परिवार के टॉयलेट में रहने की बात आई है। परिवार को तूफान पीड़ित मुआवजे के अतिरिक्त आवास अनुदान भी दिया जा रहा है।

Web Title: Fannie storm forced the poor Poor house to stay in the restroom ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया