आयोग में आंतरिक घमासान के निपटारे के लिए सीईसी ने मंगलवार को बुलाई बैठक


DEEP KRISHAN SHUKLA 19/05/2019 10:24:44
87 Views

New Delhi. लोकसभा चुनाव 2019 अनगिनत विलक्षण गतिविधियों और उपलब्धियों में एक और ​अहम किस्सा अंतिम चरण के मतदान से ठीक पहले जुड़ गया। भारतीय निर्वाचन आयोग समिति के एक सदस्य अशोक लवासा की चिट्ठी ने सियासत में नया भूचाल ला दिया है। उनके इस कदम में विपक्ष द्वारा चुनाव आयोग पर पक्षपात के लगाए जा रहे आरोपों को बल मिल गया है। 

CEC meeting convenes Tuesday to resolve internal violations in the commission

बता दें कि चुनाव आयुक्त अशोक लवासा ने केंद्रीय चुनाव आयुक्त को चिट्ठी लिख कर पीएम मोदी को क्लीन चिट दिए जाने पर नाराजगी जाहिर की थी। जिसके बाद इन चर्चाओं ने जोर पकड़ लिया था कि आचार संहिता के मामलों मे चुनाव अयोग में अंदरूनी मतभेद हो गया है। 

इन चर्चाओं के मीडिया में आने के बाद केंद्रीय चुनाव आयुक्त को बयान जारी करना पड़ा। अपने बयान में मुख्य चुनाव आयुक्त ने कहा कि समिति के तीनों सदस्य एक दूसरे का क्लोन नहीं हो सकते हैं। पहले भी कई मामले एक दूसरे के नजरिए से अलग रहे हैं। 

CEC meeting convenes Tuesday to resolve internal violations in the commission

उन्होंने कहा कि यह बात अलग है कि इससे पहले सभी मतभेद चुनाव आयोग कार्यालय के अंदर ही रहे क्योंकि ऐसे वक़्त में विवाद से बेहतर खामोशी है। सीईसी ने यह भी कहा कि आयोग की अंदरूनी गतिविधियों को लेकर जो खबरें मीडिया में चल रही थी उन्हें टाला भी जा सकता था। 

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक चुनाव आयुक्त अशोक लवासा की बीती 4 मई को मुख्य चुनाव आयुक्त को लिखी गयी चिट्ठी सामने आयी है जिसमें उन्होंने कहा कि फुल कमीशन की बैठक से दूर रहने के लिए उन्हें मजबूर किया जा रहा है जिसका कारण यह है अल्पमत के फैसले रिकॉर्ड नहीं किए जा रहे हैं। 

बता दें कि लवासा अपनी वरिष्ठता के आधार पर अगले मुख्य चुनाव आयुक्त के दावेदार हैं। लोकसभा चुनाव के बीच उनकी यह चिट्ठी काफी अहमियत रखती है। 

CEC meeting convenes Tuesday to resolve internal violations in the commission

 मामले पर चर्चा के लिए आयोग ने मंगलवार को बुलाई है बैठक

मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने शनिवार कहा कि आदर्श आचार संहिता पर अल्पमत का निर्णय रिकॉर्ड करने और निर्वाचन आयुक्त अशोक लवासा की तरफ से उन्हें भेजे गए पत्र के मुद्दे पर चर्चा के लिए मंगलवार को निर्वाचन आयोग की एक बैठक बुलाई गई है। 

CEC meeting convenes Tuesday to resolve internal violations in the commission

  विपक्षी दलों ने साधा निशाना

निर्वाचन आयोग के विवाद पर कांग्रेस ने आयोग पर निशाना साधते हुए अयोग को मोदी का पिट्ठू बताया। कांग्रेस ने कहा कि अशोक लवासा की चिट्ठी से साफ है कि सीईसी और उनके सहयोगी लवासा के बीच नरेंद्र मोदी और अमित शाह को लेकर जो अलग मत है, उसे रिकॉर्ड करने को तैयार नहीं हैं। उधर पश्चिमी बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भी कहा कि चुनाव आयोग मोदी और शाह के इशारे पर काम कर रहा है।

यह भी पढ़े...लोकसभा चुनाव 2019 : आखिरी चरण के लिए वोटिंग जारी, ये दिग्गज नेता चुनावी मैदान में

Web Title: CEC meeting convenes Tuesday to resolve internal violations in the commission ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया