मुख्य समाचार
हंगामे की भेंट चढ़ा विधानसभा के मानसून सत्र का पहला दिन  प्रियंका को लेकर चुनार पहुंची पुलिस; सैकड़ों की संख्या में कांग्रेस मौजूद नारेबाजी जारी लखनऊ में शिवसेना का सदस्यता अभियान शुरू  जिला पंचायत सदस्य पर प्लाट कब्जाने का आरोप, एंटी भूमाफिया पोर्टल पर शिकायत  टैंपो चालकों ने किया हंगामा, भाजपा सांसद के पुत्र के करीबियों और पुलिस पर लगा वसूली का आरोप  फोरम के आदेश की नाफरमानी लखनऊ डीएम को पड़ी भारी, वेतन रोकने के आदेश अजय कुमार लल्लू बोले - जमीनी विवाद नहीं, सामूहिक नरसंहार है घोरावल कांड जमीनी विवाद नहीं, सामूहिक नरसंहार है घोरावल कांड : अजय कुमार लल्लू सुरक्षा प्रबंध सराहनीय हैं, लेकिन मेरी सुरक्षा का दायरा कम से कम रखें : प्रियंका वाड्रा भाजपा सरकार ने जनता की सुरक्षा को अपराधियों के आगे गिरवी रख दिया है : अखिलेश जन्मदिन विशेष: शाहरुख की फिल्में हिट कराने में सुखविंदर सिंह का बड़ा योगदान हज यात्री इन्तज़ामों में कमी बतायें, दूर किया जायेगा : मोहसिन रज़ा ‘‘भूजल सप्ताह’’ के दूसरे दिन जल संरक्षण पर आधारित चित्रकला प्रतियोगिता एवं विज्ञान प्रश्नोत्तरी कार्यक्रम आयोजित जालान पैनल ने तैयार की फंड ट्रांसफर की रिपोर्ट, सरकार को मिलेगी बड़ी राहत बाढ़ राहत के कार्यों में किसी भी प्रकार की लापरवाही न बरती जाये : राहत आयुक्त राजकीय नलकूपों के यांत्रिक दोषों को 24 घंटे में दूर करें : धर्मपाल सिंह  पुलिस से परेशान व्यापारी ने खुद पर पेट्रोल छिड़क कर लगाई आग बाढ़ पीड़ितों के लिए आगे आए अक्षय, प्रियंका ने भी की अपील सोनभद्र: 90 बीघा जमीन के लिए हुआ खूनी संघर्ष, 11 की मौत
 

ओमप्रकाश राजभर और उनके करीबियों की योगी सरकार से छुट्टी


ABHIMANYU VERMA 20/05/2019 15:24 PM
66 Views

Lucknow. लोकसभा चुनाव खत्म होने के साथ यूपी में भाजपा और ओमप्रकाश राजभर की सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के बीच संबंध भी खत्म हो गए हैं। दरअसल, प्रदेश की योगी सरकार ने पिछड़ा वर्ग के कल्याण मंत्री ओम प्रकाश राजभर को बर्खास्त करने की सिफारिश राज्यपाल से कर दी। जिसके बाद राज्यपाल ने राजभर को मंत्रिमंडल से बर्खास्त कर दिया। 

Om Prakash Rajpura sacked from UP government

वहीं, कई निगमों में जमे राजभर की पार्टी सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के 7 अध्यक्ष और सदस्यों को भी पदमुक्त कर दिया गया है। हटाये गए सदस्यों में राजभर के बेटे अरविंद राजभर को सूक्ष्म लघु एवं मध्यम उद्यम विभाग के चेयरमैन पद से, राणा अजीत सिंह को बीज विकास निगम के अध्यक्ष पद से, सुनील अर्कवंशी और राधिका पटेल को राष्ट्रीय एकीकरण परिषद से हटाया गया। 

इसके अलावा उत्तर प्रदेश पशुधन विकास परिषद के सदस्य पद से सुदामा राजभर को हटाया गया। उत्तर प्रदेश पिछड़ा वर्ग आयोग से गंगाराम राजभर और वीरेंद्र राजभर को भी हटाया गया।

बर्खास्तगी पर राजभर ने कहा कि 13,14 अप्रैल को ही ये तय हो गया था कि ये उनको साथ नहीं रखना चाहते। उन्हें अपनी एक सीट, अपना झंडा बैनर चाहिए था। उन्होंने कहा कि अभी तो है समय 3 साल अब इसी सरकार के खिलाफ अलख जगाएंगे। 

गौरतलब है कि ओम प्रकाश राजभर की पार्टी 2017 के विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा के साथ आई थी। हालांकि, जब से सरकार बनी है तभी से राजभर सरकार के खिलाफ बयानबाजी करते रहे हैं। उनकी पार्टी की राजभर समुदाय के बीच पकड़ मजबूत है। 

वहीं, लोकसभा चुनाव में राजभर ने अपनी पार्टी के लिए भाजपा से तीन सीटों की मांग की थी। जिसके बाद सीट न मिलने की संभावनाओं को देखते हुए बगावती रुख अपना लिया था। 

Web Title: Om Prakash Rajpura sacked from UP government ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया