मुख्य समाचार
अमेठी: कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने धूम-धाम से मनाया राहुल गांधी का जन्मदिन एरिया कमांडर समेत 4 नक्सलियों ने किया आत्मसमर्पण हाईवे किनारे जड़ी बूटियां उगाकर यूपी सरकार सुधारेगी लोगों का स्वास्थ्य  लखनऊ: सीएम योगी ने लेखपालों को बांटे लैपटॉप लखनऊ में गर्मी का कहर, राज्य में 23 जून तक नहीं चलेंगे स्कूल अर्जुन पटियाला का पोस्टर्स हुआ रिलीज,फिल्म मे दिलजीत-कृति मुख्य भूमिका में पहली बार सांसद बने सनी देओल से हुई बड़ी चूक, जा सकती है लोकसभा की सदस्यता  सीवर सफाई करने चैंबर में उतरे दो कर्मचारी गैस से अचेत होकर डूबें, मौत नेहा धूपिया के चैट शो में पहुंची परिणीति चोपड़ा और सानिया मिर्जा गरीब मजदूर की मजदूरी नहीं दिला पा रही मलिहाबाद पुलिस इयोन मोर्गन ने तोड़ डाला छक्कों का सबसे बड़ा रिकॉर्ड, एक पारी में लगा दिए इतने छक्के संभल में भीषण सड़क हादसा, दो बच्चों समेत आठ की मौत सपा सांसद ने नहीं लगाया वंदे मातरम का नारा तो अखिलेश ने कह दी चौंकाने वाली बात मोदी सरकार ने किये ड्राइविंग लाइसेंस के नियमों में संशोधन, जानिए क्या है नियम? परिवहन मंत्री ने बांटे हेल्मेट, लोगों को किया जागरूक धर्मांतरण के विरोध में विहिप ने डीएम को सौंपा ज्ञापन महिला अपनी ताकत को पहचाने और समाज को यह संदेश दें कि नारी अबला नहीं अब सबला है : अनुपमा जायसवाल याचिका दायर कर पाकिस्तान की क्रिकेट टीम को बैन करने की मांग दलित हत्या मामले बहन जी के करीबी नेता को अखिलेश ने सौंपी अहम जिम्मेदारी प्रत्येक विकास खण्ड की दो पंचायतों को आदर्श पंचायत के रूप में विकसित किया जाय
 

महिलाओं को कम वेतन देना पड़ेगा भारी, सीनेटर ने की ये मांग


NAZO ALI SHEIKH 21/05/2019 16:29:49
43 Views

New Delhi. महिलाओं को हर क्षेत्र में पहले से ही कम आंका जाता रहा है। यही नहीं, महिलाओं को आज जो कुछ भी आजादी मिल पाई है, उसकी वजह संघर्ष ही है। हालांकि, पहले की अपेक्षा आज हर क्षेत्रों में महिलाओं की स्थिति सुधर रही है, लेकिन कुछ रूढ़िवादी मानसिकता के कारण महिलाओं की स्थिति दयनीय है। गौरतलब है कि आज भी महिलाओं को लगभग हर क्षेत्र में कम वेतन दिया जाता है। कंपनियों में तो यह बात आम है, लेकिन अब कंपनियों को महिलाओं को कम वेतन देना महंगा साबित होने वाला है। अमेरिकी सीनेटर कमला हैरिस ने मांग की है कि महिलाओं को कम वेतन देने वाली कंपनियों पर जुर्माना लगाया जाए।

यह भी पढ़ें... 28वीं पुण्य तिथि पर याद किए गए पूर्व पीएम राजीव गांधी

Women will pay less, heavy, Senator demands

बताते चलें कि हैरिस डेमोक्रेटिक पार्टी की राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार और कैलिफोर्निया की सीनेटर हैं। हैरिस ने महिलाओं को कम वेतन दिया जाना गंभीर मुद्दा बताया। कहा कि जो कंपनी महिला और पुरूषों में भेदभाव कर रही हैं, उन पर जर्माना लगाया जाना चाहिए। यही नहीं वह अहम मांग के साथ ही प्रस्ताव भी लाने जा रही हैं।

इस प्रस्ताव के बाद माना जा रहा कि कंपनियों में महिलाओं और पुरुषों के बीच वेतन की असमानता समाप्त हो जाएगी। बता दें कि प्रस्ताव में कंपनियों को समान रोजगार अवसर, कमीशन में 'समान सैलरी सर्टिफिकेट' के लिए आवेदन से पहले तनख्वाह नीति बतानी होगी।

प्रस्ताव में यह भी कहा गया कि कंपनियों को जो छूट दी गई हैं, उनको खत्म कर दिया जाए। सीनेटर ने अपने प्रस्ताव में कंपनियों को साफ बता दिया है कि महिलाओं के साथ समानता का व्यवहार करो या फिर जुर्माना भरो। अब समय बदल गया है। महिलाओं को बराबरी का हर जगह अधिकार है।

पहले कंपनियों को छूट थी कि तनख्वाह की नीति की जानकारी नहीं दी जाए। वहीं, महिलाएं अपने अधिकारों के लिए अदालत के चक्कर काटें। लेकिन अब ये सारे नियम बदल दिए जाने की जरूरत आ गई है।

यह भी प्रस्ताव में है कि जितना प्रतिशत वेतन पुरुष कर्मचारी की अपेक्षा महिला को कम दिया जाएगा उतना ही प्रतिशत कंपनी का जो लाभ होगा जुर्माने के रूप में भरना होगा।

यह भी कहा गया कि यह नियम बनने के बाद अमेरिकी सरकार को महज जुर्माने से ही 12.6 लाख करोड़ रुपये का लाभ पहुंचेगा। साथ ही महिलाएं भी अपने अधिकारों को लेकर सजग होंगी।

Web Title: Women will pay less, heavy, Senator demands ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया