पिता से लगाई एक शर्त के बाद इस महिला ने 15 वर्षों में किए 600 पोस्टमार्टम


GAURAV SHUKLA 22/05/2019 11:21:32
109 Views

Lucknow. बिना नशा के कोई भी पोस्टमार्टम नहीं किया जा सकता है। सामान्य लोगों के मन में व्याप्त इसी भ्रम को समाप्त करने के लिए छत्तीसगढ़ की एक महिला ने नई मिशाल कायम कर दी है। दरअसल महिला संतोषी दुर्गा के पिता छत्तीसगढ़ के नहरपुर ब्लॉक के स्वास्थ्य विभाग में स्वीपर का काम करते थे। मडिया रिपोर्टस बताती है कि संतोषी दुर्गा के पिता बहुत नशा करते थे। घर की बड़ी बेटी होने के चलते दुर्गा ने कई बार पिता को समझाया कि इसी तरह आदत से ग्रसित रहने पर वह 5 बेटियों की परवरिश और शादी कैसे करेंगे। 

pita se lagai shart ke baad is mahila ne 14 saal me kiye 600 postmurtam
हालांकि दुर्गा के पिता ने उनकी एक भी न सुनी और संघर्ष की इस दुनिया में वह छह बेटियों को अकेला छोड़कर चले गये। पिता की मौत के बाद घर की जिम्मेदारी खुद पर आने पर दुर्गा ने उन सभी जिम्मेदारियों को बखूबी निभाया।

बता दें कि पेशे से पोस्टमार्टमकर्मी दुर्गा ने अब तक लगभग 600 पोस्टमार्टम किये हैं। भले ही दुर्गा का काम जोखिम भरा है लेकिन वह इसे बखूबी निभा रही है। वहीं हैरान करने वाली बात यह है कि दुर्गा बिना नशे के यह काम करती है। 

pita se lagai shart ke baad is mahila ne 14 saal me kiye 600 postmurtam
कभी लगता था डर 

दुर्गा बताती हैं कि एक समय ऐसा भी था जब वह पोस्टमार्टम के नाम से भी डरती थी। लाश को देखते ही उनके हाथ-पैर कांपने लग जाते थे, लेकिन घर की जिम्मेदारियों ने उन्हें इस काम को हिम्मत से करने का हौसला दिया।

दुर्गा बताती है जब उन्होंने यह काम शुरु किया था तो उनका सिर्फ एक मकसद पिता की शराब छुड़वाना था। उन्होंने पिता से शर्त लगाई थी कि अगर वह एक भी पोस्टमार्टम बिना नशे के कर देंगे तो वह शराब छोड़ देंगे। इसके बाद दुर्गा ने पहला केस वर्ष 2004 में किया था। यह काम करके दुर्गा ने शर्त जीत ली इसी के साथ शराब छोड़ने के लिए उनकी यह कामयाबी समय-समय पर पिता को प्रेरित करती थी। 

pita se lagai shart ke baad is mahila ne 14 saal me kiye 600 postmurtam

Web Title: pita se lagai shart ke baad is mahila ne 14 saal me kiye 600 postmurtam ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया