मीटू नहीं अब पुरुषों के लिए मेनटू को लेकर उठी आवाज, तनुश्री को खत से चैलेंज


NAZO ALI SHEIKH 25/05/2019 16:23:52
95 Views

Mumbai. महिलाओं की सुरक्षा को लेकर कई तरह के कानून बने हैं, लेकिन कहीं न कहीं इन कानूनों का दुरुपयोग की शिकायतें भी समय समय पर आती रही हैं। कई बार महिलाएं कानून का गलत फायदा उठाकर पुरुषों को फंसाकर उनका उत्पीड़न करने से भी बाज नहीं आईं। लेकिन हैरान करने वाली बात है कि लोकतांत्रिक देश में पुरुषों की दर्द सुनने वाला कोई नहीं है।

बॉलीवुड इंडस्ट्री में महिलाओं से उत्पीड़न को लेकर मी टू कैंपेन सोशल मीडिया पर चलाया गया। कई दिग्गज अभिनेताओं पर गंभीर आरोप भी लगे। यह कैंपेन एक्ट्रेस तनु श्री दत्ता ने एक्टर नाना पाटेकर पर आरोप लगाते हुए छेड़ी थी। इसके बाद यह कैंपेन सोशल मीडिया पर आग की तरह फैल गया। कई मशहूर एक्ट्रेस पर एक एक कर आरोप लगने शुरू हो गए। 

Not the meat, now the sound of a mantu for men, Tanushree Challenge with the letter

बता दें कि महिलाओं के मी टू कैंपेन के बाद 'मेनटू' कैंपन की शुरूआत हो चुकी है। मशहूर समाज सेविका बरखा त्रेहन ने यह पुरुष आयोग की मांग के को लेकर गत 19 मई को इंडिया गेट और राजपथ के पास शांति पूर्वक धरना प्रदर्शन कर विरोध दर्ज कराया।

उन्होंने ट्वीट करते हुए अभिनेत्री तनुश्री दत्ता के लिए खुला खत भी लिखा। बरखा ने खत में तनुश्री को मीटू और मेनटू को लेकर खुली बहस की चुनौती दे डाली। बताते चलें कि दिल्ली में हुए निर्भया कांड के बाद से महिलाओं की सुरक्षा को लेकर सख्त से सख्त कानून बनाया गया। लेकिन इस कानून का महिलाओं के द्वारा दुरुपयोग किए जाने के मामले भी कहीं से कम सामने नहीं आए।

कानून का सहारा लेकर महिलाओं ने पुरुषों को फंसाकर उनकी जिंदगी बर्बाद कर दी। यह सिलसिला लगातार जारी है। लेकिन पुरुषों के लिए किसी तरह का कानून नहीं होने के कारण उनको यातनाएं सहनी पड़ रही है।

बताते चलें कि दुष्कर्म के झूठे आरोप लगाकर रुपये ऐंठने के कई मामले भी सामने आए हैं। बरखा ने एनजीओ के सदस्यों के साथ देश में रेप के झूठे आरोपों में फंसाए जाने को लेकर विरोध जताया। प्रदर्शन में "मैं एक आदमी हूं और मुझे सम्मान के साथ जीने का अधिकार है" "अपराध का कोई रूप नहीं है" की तख्तियां लेकर कार्यकर्ता सड़कों पर नजर आए।

पीड़ित व उनके परिजनों ने पुरुष आयोग के गठन को लेकर आवराज बुलंद की। बरखा ने यह भी कहा कि इस अभियान को देश भर में पहुंचाने की आवश्यकता है। लोगों से अभिनेता करण ओबेरॉय के समर्थन में अपील करेंगे। 

Web Title: Not the meat, now the sound of a mantu for men, Tanushree Challenge with the letter ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया