मुख्य समाचार
पाकिस्तान: आतंकी हाफिज का कानूनी पैतरा, कोर्ट को बताया लश्कर से नहीं कोई वास्ता  जापानी इंसेफलाइटिस पर योगी सरकार ने हासिल की बड़ी कामयाबी : भाजपा लखनऊ: HDFC बैंक का कारनामा, अवैध तरीके से ग्राहकों से वसूल रहा रुपए मुख्यमंत्री ने बाल श्रम से मुक्ति के लिए जनप्रतिनिधियों से मांगा सहयोग हरियाणा की बेटी बनेगी इस पाक क्रिकेटर की दुल्हन... एयरस्ट्राइक के समय ही पूरे युद्ध के लिए तैयार थी भारतीय सेना जनता की समस्याओं का किया जाए त्वरित गति से निदान : केशव प्रसाद वृक्षारोपण के साथ ही पौधों को सुरक्षित एवं संरक्षित करना सभी की जिम्मेदारी : मंत्री  मिशन चंद्रयान-2: भारत को मिली बड़ी उपलब्धि शुरू होने जा रहा देश का पहला वैदिक शिक्षा बोर्ड, रामदेव होंगे अध्यक्ष यूपी में बढ़े पेट्रोल-डीजल के दाम, जानें कितना हुआ महंगा अगस्ता वेस्टलैंड केस: कमलनाथ के भांजे को ED ने किया गिरफ्तार सफारी से टक्कर 2 दोस्तों की हत्या : 3 अभियुक्त गिरफ्तार, अन्य की तलाश जारी आर्थिक सुस्ती पर रघुराम राजन ने जताई चिंता, कहा-सरकार जल्द करे सुधार अभी-अभी: नहीं रहे कांग्रेस के ये दिग्गज नेता, पार्टी में मचा कोहराम
 

बड़ी खबर: ममता बनर्जी ने कहा, अब सीएम नहीं रहना चाहती


NAZO ALI SHEIKH 26/05/2019 10:02:18
56 Views

New Delhi. लोकसभा चुनाव 2019 में पीएम मोदी लहर के कारण सभी पार्टियां चुनावी मैदान में चारों खाने चित्त हो गईं। दिग्गज से दिग्गज नेता धराशाई हो गए। यहां तक कि पार्टी के शीर्ष नेता अपना ही गढ़ बचाने में असफल रहे। मोदी का वार कुछ ऐसा रहा कि लोकसभा सीट ही नहीं, अब मन से भी नेताओं ने हार मान ली है। सभी राज्यों में लोकसभा सीटों पर विपक्षी पार्टियों का सूपड़ा साफ हो गया।

यह भी पढ़ें... ऐतिहासिक जीत पर पीएम मोदी को बधाईयों का सिलसिला जारी, कई नामचीन विदेशी व्यवसायियों ने भी दी बधाई

Big news: Mamta Banerjee said now CM does not want to stay

यहां तक कि पश्चिम बंगाल में बीजेपी का कभी जनाधार नहीं रहा, इसके बाद भी 18 सीटों पर जीत दर्ज कर सीएम ममता बनर्जी की कमर तोड़ दी। हालात यह हैं कि सीएम ममता ने इस्तीफे की पेशकश कर दी है। हालांकि, यह हाल सभी पार्टियों का है।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी भी इस्तीफे की पेशकश कर चुके हैं। यह बात अलग है कि पार्टी का शीर्ष नेता होने के कारण किसी इस्तीफे को स्वीकार नहीं किया गया। 

हार के बाद विपक्षी पार्टियों में खलबली सी मच गई है। किसी के पास भी कुछ कहने को नहीं बचा है। बताते चलें कि कोलकाता में सीएम ममता ने पत्रकार वार्ता करते हुए अपने इस्तीफे की पेशकश की। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि केन्द्रीय बलों ने उनके खिलाफ काम किया।

राज्य में आपातकाल जैसे हालात बना दिए गए। हिन्दू मुस्लिमों और वोटों को बांटने का काम किया गया। चुनाव अयोग से शिकायत के बावजूद कुछ नहीं किया गया। बैठक के शुरुआत में ही यह कह देना चाहती हैं कि सीएम के पद पर नहीं रहना चाहतीं।

यह भी पढ़े... जीत के बाद जल्द काशी पहुंचेंगे पीएम मोदी, तैयारियों में जुटा प्रशासन

गौरतलब है कि लोकसभा चुनाव के दौरान पश्चिम बंगाल में अंतिम चरण के दौरान जमकर हिंसा की घटनाएं हुंईं। महान समाज सुधारक ईश्वर चंद्र विद्यासागर की मूर्ति तक अराजक तत्वों ने तोड़ डाली थी। हर चरणों के मतदान में बीजेपी और टीएमसी के मध्य संघर्ष का माहौल बना रहा। यही नहीं बीजेपी नेताओं पर कई बार हमले भी हुए। जब परिणाम सामने आया तो सीएम ममता की कुर्सी हिल गई।

यहां 18 सीटों पर बीजेपी ने जीत दर्ज करते हुए इतिहास रच दिया। इस बार टीएमसी महज 22 सीटों पर ही सिमट गई। जबकि पिछली बार लोकसभा चुनाव में 34 सीटें पाने में सफल रही थी। बीजेपी की जीत ने नेताओं को इस तरह तोड़ कर रख दिया कि पार्टी के शीर्ष नेता इस्तीफा सौंपकर अपनी नाक बचाने में लग गए हैं। ऐसे में कहा जाए कि वह राजनीति में रहना न चाहें यह कहना भी अतिशयोक्ति नहीं होगी।

Web Title: Big news: Mamta Banerjee said now CM does not want to stay ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया