नमाज पढ़कर लौट रहे युवक की टोपी फेंकी, जय श्रीराम नहीं बोला तो कर दी...


NAZO ALI SHEIKH 27/05/2019 10:39:23
102 Views

Patna. बीजेपी सरकार के दोबारा सत्ता में आने से यह खबरें उड़ रहीं थीं कि बीजेपी के दोबारा जीतने से मुस्लिम समुदाय डर के साए में है। लेकिन इन खबरों में सच्चाई तब नजर आने लगी जब सदर बाजार का एक ऐसा ही मामला सामने आया।

दरअसल, सदर बाजार से एक मुस्लिम युवक नमाज पढ़कर बाहर निकला था कि अचानक कुछ शरारती तत्वों ने उसका रास्ता रोककर उसके टोपी पहनने को पर टिप्पणी करने लगे और कथित तौर पर भारत माता की जय और जय श्रीराम के नारे लगाने को कहा। युवक ने मना कर दिया तो उसे पीटने लगे। शोरशराबा सुनकर वहां भीड़ इकट्ठी हो गई, बड़ी संख्या में लोगों को आते देख आरोपी वहां से भाग निकले।

माहौल बिगड़ता देख पुलिस के आला अधिकारियों ने मौके पर पहुंच कर लोगों को शांत कराया। वहीं अज्ञात अरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है। पुलिस सीसीटीवी फुटेज के आधार पर आरोपियों की पहचान कर रही है। 

The young man who returned after reading prayers

  क्या है पूरा मामला

पुलिस के मुताबिक मूलरूप से बिहार के बेगुसराय में रहने वाला बरकत आलम (25) रात 10 बजे नमाज पढ़कर मस्जिद से अपने कमरे कि तरफ जा रहा था। सदर बाजार में बाइक सवार चार युवक और कुच पैदल चल रहे युवकों ने उसका रास्ता रोक लिया। युवकों ने शराब पी रखी थी। वे बरकत के टोपी पहनने पर टिप्पणी करने लगे। उसने मना किया तो नारे लगाने के लिए जबरदस्ती करने लगे। उसके मना करने पर पैदल चल रहे युवकों ने उसके साथ मारपीट करते हुए टोपी फेंक दी और जान से मारने की धमकी देने लगे। 

पीड़ित ने बयान में पुलिस को बताया कि मैं शनिवार रात करीब 10 बजे नमाज पढ़कर कमरे पर जा रहा था। एक युवक ने मेरा रास्ता रोका। मुझसे बोला कि तुमने ये टोपी क्यों पहन रखी है? तुम्हें पता नहीं है क्या, इसे उतारो तुरंत और बोलो- भारत माता की जय, जय श्रीराम। मैंने कहा कि भारत मां की जय बोलता हूं, लेकिन बाकी बोलना जरूरी नहीं है। इस पर उसने मुझे थप्पड़ मारकर मेरी टोपी पटक दी। पास में पड़ी एक लकड़ी से मेरे पैर में मारने लगे। मेरे शोर मचाने पर आरोपी फरार हो गए। यह बातें पीड़ित युवक बरकत आलम (25) ने रोते हुए पुलिस को बताई। पुलिस अधिकारियों ने उसे जांच और कार्रवाई का भरोसा दिया।

The young man who returned after reading prayers

युवक ने बताया कि वह 15 दिन पहले बिहार के बेगुसराय से गुरुग्राम आने के बाद जैकबपुरा में रहकर सिलाई सीख रहा है। उन लड़कों से उसकी कोई जान-पहचान नहीं थी, न ही उन्हें कुछ बोला, फिर भी उन्होंने रास्ता जबरदस्ती रोककर मारपीट की। घटना के बाद शोरशराबा सुनकर जामा मस्जिद के आसपास लोग एकत्रित हो गए। पुलिस भी मौके पर पहुंच गई लेकिन लड़के तब तक फरार हो गए थे। उसने बताया कि वह उन लड़कों को पहचानता भी नहीं है। 

Web Title: The young man who returned after reading prayers ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया