वीर सावरकर के आदर्शों से सीख लेकर करें अपने कर्तव्यों का निर्वहन : राज्यपाल


GAURAV SHUKLA 29/05/2019 11:25:47
148 Views

Lucknow. उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक ने स्वातंत्र्यवीर सावरकर की जयंती पर उन्हें याद करते हुये श्रद्धांजलि अर्पित की है।

rajyapal ne kaha veer savarkar se seekh lekar are kartavyo ka nirvahan
राज्यपाल ने अपने संदेश में कहा है कि वीर सावरकर बहुआयामी व्यक्तित्व के धनी थे। वे एक विख्यात लेखक, समाज सुधारक, इतिहासकार, साहित्यकार, संवेदनशील कवि और सबसे बढ़कर एक महान क्रांतिकारी थे, जिन्हे अंग्रेजों ने दो बार आजीवन करावास की सजा दी थी। उनकी कविता ‘हे मातृभुमि तुजला मन वाहियेले’ हमें आज भी प्रेरणा देती है। वीर सावरकर पहले व्यक्ति थे जिन्होंने यह साबित किया कि 1857 का समर ‘प्रथम स्वतंत्रता संग्राम’ था जिसे अंग्रेजों ने बगावत का नाम दिया। उन्होंने कहा कि वीर सावरकर ने देश के लिये अपना सर्वस्व न्यौछावर कर दिया था। नाईक ने कहा कि हमें वीर सावरकर के आदर्शों से सीख लेकर देश और समाज के प्रति अपने कर्तव्यों का निर्वहन करना चाहिये।

Web Title: rajyapal ne kaha veer savarkar se seekh lekar are kartavyo ka nirvahan ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया