मुख्य समाचार
किसी दुर्घटना के इंतजार में चार दिन से पड़ा आंधी में गिरा यह पेड़ पहले निर्माण, अब चारे के नाम पर गोशालाओं में प्रधान कर रहे फर्जीवाड़ा इसरो की तैयारियां पूरी, सोमवार को होगा चंद्रयान-2 का प्रक्षेपण  कम नहीं हो रहीं आज़म खान की मुसीबतें, 3 और एफआईआर दर्ज छोटी सी गलती एक्टर को पड़ी भारी, 14 दिन की न्यायिक हिरासत में सोनभद्र: सीएम के दौरे को लेकर पुलिस ने कसा शिकंजा, पूर्व विधायक समेत कई कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारी  सोशल मीडिया पर कहर ढा रहीं हॉट एक्ट्रेस ईशा गुप्ता, देखें सिजलिंग तस्वीरें लखनऊ: मुठभेड़ में टिंकू नेपाली गैंग के सरगना समेत तीन गिरफ्तार, दो सिपाही जख्मी मलाइका की सिजलिंग फोटो देख खुद पर काबू नहीं रख पाए आर्जुन कपूर, कर दिया ऐसा कमेंट... यूपी में बदमाशों के हौसले बुलंद, भाजपा नेता को गोलियों से भूना दो पुलिस कर्मियों की हत्या कर भागे कैदियों में एक को मुठभेड़ में पुलिस ने किया ढेर
 

अमेरिका ने मोदी की नई पारी की शुरुआत से पहले भारत को दिया करारा झटका,ट्रेजरी विभाग की सूची से हटाया


RAGHVENDRA CHAURASIA 29/05/2019 14:38 PM
64 Views

Washington. अमेरिका ने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नई पारी की शुरुआत से पहले भारत को करारा झटका दिया है। अमेरिका के ट्रेजरी विभाग ने भारत को प्रमुख व्यापार भागीदारों की मुद्रा निगरानी सूची से नाम हटा दिया है। ध्यान रहे​ कि पीएम मोदी 30 मई को दूसरी बार पीएम पद की शपथ लेंगे। मोदी के शपथ ग्रहण में बिम्सेटक देशों के नेता पहुंचेंगे।

America shrugged India off the list of Treasury Department after the start of Modi

पिछले साल इस सूची में शामिल हुआ था भारत

खबर है कि पिछले साल अक्टूबर महीने में मुद्रा निगरानी (ट्रेजरी) की सूची में भारत का नाम शामिल हुआ था। उस दौरान भारत के साथ चीन,जर्मनी,जापान,दक्षिण कोरिया और स्विटजरलैंड शामिल हुए थे। आपको बता दें ​कि अमेरिका उन देशों को निगरानी सूची में रखता है,जिनकी विदेशी विनिमय दर पर उसे संदेह होता है। संयुक्त राज्य अमेरिका के ट्रेजरी विभाग ने देश के विदेशी मुद्रा में वृद्धि का हवाला देते हुए मुद्रा आर्थिक नीतियों की निगरानी सूची में भारत को जोड़ा था,मगर अब यूएस कांग्रेस को दी गई रिपोर्ट के अनुसार,भारत और स्विजटरलैंड इस सूची से बाहर कर दिया गया है।

इस सूची में अभी भी चीन का नाम है काबिज

अमेरिकी ट्रेजरी विभाग से भले ही भारत व स्विजटरलैंड का नाम हटा दिया गया हो। मगर चीन का नाम अभी भी बरकरार है। साल 2018 में चीन का यूएस के साथ अतिरिक्त माल व्यापार 419 बिलियल डॉलर था। ट्रेजरी ने चीन से लगातार मुद्रा से बचने के लिए आवश्यक कदम उठाने का आग्रह किया है। इस सूची में चीन के अलावा, जापान, दक्षिण कोरिया, जर्मनी, आयरलैंड, इटली, मलेशिया, वेतनाम और सिंगापुर का नाम शामिल है। 

 

Web Title: America shrugged India off the list of Treasury Department after the start of Modi's new innings ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया