धोनी को बलिदान बैज हटाने की जरूरत नहीं


SUJEET KUMAR 07/06/2019 12:59:44
64 Views

New Delhi. अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (ICC) महेंद्र सिंह धोनी को अपने विकेटकीपिंग दस्ताने से भारतीय सेना का प्रतीक चिह्न हटाने को कह रही है। आईसीसी ने स्पष्ट किया है विकेटकीपिंग ग्लव्स पर अनुमति से ज्यादा लोगो नहीं लगाए जा सकते। आईसीसी के महाप्रबंधक (स्ट्रेटेजिक कम्यूनिकेशंस) क्लेयर फर्लांग ने इंडियन एक्सप्रेस से कहा, 'प्रत्येक विकेटकीपिंग ग्लव्स पर दो निर्माताओं के लोगो की अनुमति है। निर्माताओं के लोगो के अलावा किसी अन्य विजिबल (दृश्यमान) लोगो की इजाजत नहीं है।

07-06-2019131936BCCISupportM1

ICC ने भारतीय टीम प्रबंधन को अपने फैसले के बारे में बता दिया है और कहा कि धोनी को कोई जुर्माना नहीं देना होगा। फर्लांग ने कहा, 'हमने इसे हटाने के लिए कहा है। यह नियमों का उल्लंघन है। हालांकि कोई जुर्माना नहीं देना होगा। 

वहीं इस मामले में भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) धोनी के साथ खड़ी हुई है। शुक्रवार को बीसीसीआई ने आईसीसी को पत्र लिखा है। इसमें बीसीसीआई ने कहा है कि धोनी को ‘बलिदान बैज’ हटाने की जरूरत नहीं है।

प्रशासकों की समिति (सीओए) के चेयरमैन विनोद राय ने शुक्रवार को बताया कि बोर्ड ने पहले ही आईसीसी से धोनी के ग्लव्स पर ‘बलिदान बैज’ रखने के लिए अनुमति मांग ली है। राय ने कहा कि वे इस बात को सीओए मीटिंग में भी उठाएंगे। आईसीसी के नियमों के अनुसार कोई भी खिलाड़ी कमर्शियल, धार्मिक और सेना के लोगों का इस्तेमानल नहीं कर सका। धोनी का लोगो कमर्शिया और धार्मिक नहीं है। वहीं इस मामले पर अब खेले मंत्रालय ने बीसीसीआई से जानकारी मांगी है। 

गौरतलब है कि बुधवार को साउथेम्प्टन में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ भारत के पहले मैच के दौरान धोनी को बलिदान बैज के साथ विकेटकीपिंग करते हुए देखा गया था। दरअसल, उनके ग्लव्स पर दिखे इस अनोखे निशान (प्रतीक चिह्न) को हर कोई इस्तेमाल में नहीं ला सकता। यह बैज पैरा-कमांडो लगाते हैं। इस बैज को 'बलिदान बैज' के नाम से जाना जाता है।

 

Web Title: BCCI Support Ms Dhoni on gloves controversy ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया