मुख्य समाचार
UPTET : हाईकोर्ट के आदेश को सुप्रीम कोर्ट ने किया निरस्त, 1 लाख से ज्यादा शिक्षकों को मिली राहत अखिलेश यादव ने योगी सरकार पर बोला करारा हमला, कहा- नौजवानों की जिन्दगी में ... फतेहपुर में प्रतिबंधित मांस मिलने पर बवाल, मदरसे पर पथराव साक्षी मामले पर मालिनी अवस्थी का बड़ा बयान, लड़कियां जीवन साथी चुनें लेकिन... यूपी पुलिस को मिली बड़ी सफलता, दो इनामी बदमाश किए ढेर वरिष्ठ पत्रकार बरखा दत्त ने कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल पर लगाए गम्भीर आरोप, मचा घमासान अंतिम संस्कार की चल रही थी तैयारी, अचानक युवक की खुली आंखे और फिर जो हुआ... सरकारी आवास के मोह पॉश में जकड़े दो पूर्व मंत्रियों को गहलोत सरकार ने दिया जुर्माने का झटका सलमान संग फिल्मों में डेब्यू कर सुपरस्टार बनीं कटरीना का नहीं है कोई क्राइम रिकॉर्ड 149 साल बाद बन रहा गुरू पूर्णिमा पर चंद्र दुर्लभ योग सपा नेता अखिलेश यादव की गोली मारकर हत्या, सियासत में भूचाल
 

वह लड़का जिसने छूई 7 फींट की ऊचाई, ब्रेन ट्यूमर के चलते


ANKUR SHARMA 07/06/2019 14:33:46
38 Views

07-06-2019144327Theboywhore1

Mumbai: 

वह केवल 16 साल का है, वह पुस्तक पढ़ना पसंद करता है, बारहवीं कक्षा का छात्र है, वह धीरे बोलता है, इसकी इच्छाएं सारी एकदम आम आदमी जैसी है लेकिन वह आम नहीं हैं। क्योंकि इसकी ऊंचाई 7 फीट 4 इंच है और वजन 113 किलो है। यह उत्तराखंड के पिथौरागढ़ के मोहन सिंह नाम के एक बच्चे की कहानी है। यह कोई आम बात नहीं है, इसकी असाधारण ऊंचाई और वजन इसके कारण होने वाले दुर्लभ ब्रेन ट्यूमर का हैं जो उसे ऐसा बनाता हैं। पिछले पांच महीनों पहलें, मोहन को तेज सिरदर्द की शिकायत होने लगी। उसे एक स्थानीय चिकित्सक के पास ले जाया गया, जिधर चिकित्सकों ने एमआरआई स्कैन की सिफारिश की, उससे यह पता चला कि उसे दिमागी ट्यूमर हैं। बेहतर इलाज के लिए डॉक्टरों ने उसे एम्स जाने का सुझाव दिया। एम्स में इसकी सर्जरी हुई और इलाज होने के तहत इसका वजन तो कम हो गया, लेकिन इसकी ऊचाई में कोई परिर्वतन नहीं आया।

मोहन पिछले पांच वर्षों में चर्चा का विषय है। वे जहां भी जाता है लोग उसे पकड़ लेते है, और सेल्फी खीचनें के लिए बेताबी दिखांते है। पिता माधव सिंह ने मीडिया से कहा कि मैं मोहन के उत्थान को देखकर खुश हूं, उसके उत्थान के लिए उन्हें सरोजिनी नगर से 4XL आकार के कपड़े मंगवाने पड़े। बढ़ती लम्बाई के चलते उन्हें बिस्तर का आकार सात फीट तक बढ़ाना पड़ा। वह वॉशरूम में बैठने में असमर्थ था तो इसका भी इंतजाम उन्हें करना पड़ा और उसके जूते मेरठ की एक फैक्ट्री से कस्टमाइज करवाने पड़ेे।

 ट्यूमर निकालने के बाद मोहन अभी राहत की स्थिति में हैं।

चिकत्सकों का तो यह कहना हैं कि यह एक गैर-आनुवंशिक स्वास्थ्य मुद्दा है और बहुत ही असामान्य है। यह विकास हार्मोन के पूरा होने से पहले होता है। यदि कोई व्यक्ति पिट्यूटरी ग्रंथि में ग्रोथ हॉरमोन सिकरेटिंग (जीएचएस) ट्यूमर विकसित करता है, तो वह लंबा होने लगता है। उन्होनें यह भी कहा कि ऐसी रोगी बहुत कमजोंर होते है और हृदय और हड्डियों की जटिलताओं से भी पीड़ित होते हैं। दूसरी ओर, यदि विकास पूरा हो गया तो फिर व्यक्ति जीएचएस ट्यूमर को विकसित करना शुरू कर देता है,तो यह होगा कि वह लंबे नहीं होंगे, लेकिन इसके चलते उनके शरीर में हड्डियों की असामान्य वृद्धि होगी।

Web Title: The boy who reached the height of 7 feet, due to brain tumor ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया