मुख्य समाचार
बिग बॉस 13 का पहला टीजर रिलीज, दर्शक कभी नहीं भूल पाएंगे ये सीजन आश्रम में दो महिलाओं से रेप का मामला, पुलिस जांच में जुटी ICSI CS परीक्षा का परिणाम घोषित, जानें कब तक होगा एक्टिव निवेशकों का करोड़ों लेकर रियल एस्टेट कंपनी फरार भाजपा को रोकने के लिए अखिलेश यादव अब इस पार्टी से करने जा रहे गठबंधन, सियासी सरगर्मी बढ़ी यहां नौकरी का सुनहरा मौका, जल्द करें आवेदन विश्व बैडमिंटन चैंपियनशिप: इतिहास रचने से एक कदम दूर पीवी सिंधु... यूपी: सूबे में जल्द हो सकता है एक नए गठबंधन का ऐलान, इन दलों के नेताओं की बढ़ी नजदीकियां राहुल के कश्मीर दौरे पर भड़के इकबाल अंसारी, दे डाली ये नसीहत आम आदमी की थाली से ये सब्जियां हुईं गायब, आगे भी राहत की उम्मीद नहीं
 

अब एसजीपीजीआई में ही कराएं रोबोटिक सर्जरी


DEEP KRISHAN SHUKLA 08/06/2019 11:30:53
75 Views

Lucknow. संजय गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान लखनऊ में अत्याधुनिक चिकित्सा के क्षेत्र में एक उपलब्धि जुड़ गयी है। शनिवार से यहां पर रोगियों को रोबोटिक सर्जरी की सहुलियत भी मिलने लगेगी। इस सर्जरी की खासियत यह है कि इसमें छोटा सा चीरा लगाया जाता है, जिससे मरीज को दर्द कम होता है। इसके साथ ही जल्द घाव भरने के कारण मरीज को अस्पताल से छुट्टी भी जल्द ही मिल जाती है। शुरूआती दौर में पांच विभागों के मरीज ही इस सुविधा का लाभ उठा सकेंगे। रोबोटिक सर्जरी के साथ ही एसजीपीजीआई में लीनियर एक्सीलरेटर मशीन से कैंसर मरीजों की सिंकाई भी शुरू हो जाएगी। 

08-06-2019113612NowSGPGIstar1

बता दें कि एसजीपीजीआई में रोबोटिक सर्जरी की शुरूआत करने की तैयारियां लम्बे समय से चल रहीं थी।अब तक अलग अलग विभागों के 8 मरीजों पर इस सर्जरी का सफल प्रयोग किया जा चुका है। इस सर्जरी में प्रयोग होने वाले सर्जिकल उपकरणों की खरीद अमेरिका से 31 करोड़ रुपए से की गयी है, जिस अमेरिकी रोबोटिक मशीन से मरीजों की सर्जरी कराई जाएगी उसका नाम 'दा विंसी सर्जिकल रोबोट' है।

9 म​हीनों से चल रही रोबोटिक सर्जरी की तैयारियों का औपचारिक शुभारम्भ शनिवार से होगा। बीते दिनों इसी संबंध में इंडोक्राइनोलॉजी सर्जरी विभाग की कार्यशाला आयोजित की गयी थी। जिसमें देश विदेश के रोबोटिक सर्जनों ने इस सर्जरी के नफे नुकसान पर चर्चा की थी। विभिन्न राज्यों में चल रही रोबोटिक सर्जरी का प्रशिक्षण में यहां के चिकित्सकों को दिलाया गया। 

08-06-2019113741NowSGPGIstar2

एसजीपीआई के निदेशक डॉ. राजेश कपूर के मुताबिक, रोबोटिक सर्जरी मरीजों के लिहाज से तो बेहतर है ही साथ ही प्रशिक्षण के लिए भी जरूरी है। संस्थान में इसकी शुरूआत के बाद यहां से प्रशिक्षित सर्जन पूरे प्रदेश में काम करेंगे। शनिवार को चिकित्सा शिक्षा मंत्री आशुतोष टंडन इसका औपचारिक शुभारम्भ करेंगे। 
एसजीपीजीआई के निदेशक ने बताया कि अभी शुरूआती दौर में रोबोटिक सर्जरी की सुविधा पांच विभागों के मरीजों को ही मिल सकेगी। 

जिन विभागों में शनिवार से यह सहूलियत मिलने लगेगी उनमें इंडोक्राइनोलॉजी, यूरोलॉजी, गैस्ट्रोलॉजी, कार्डियक, कार्डियक थेरेसिक एंड वैस्कुलर सर्जरी विभाग शामिल हैं।  मरीज सर्जरी रोबोटिक होगी या फिर दूसरी तकनीक से यह ओपीडी में आने वाले मरीजों को देखने के बाद संबंधित विभाग का सर्जन तय करेगा।

बता दें कि देश भर में रोबोटिक सर्जरी के प्रशि​क्षित सर्जनों की संख्या तकरीबन 300 है। अभी तक दिल्ली और ऋषिकेश एम्स, पीजीआई चंडीगढ़ के अलावा कई बड़े निजी अस्पतालों में ही यह सर्जरी होती थी। यह सर्जरी सुविधाजन तो है पर सामान्य सर्जरी की अपेक्षा यह 50 हजार से 2 लाख रुपए तक मंहगी पड़ती है। 

यह भी पढ़े...जून में इन तारीखों को बंद रहेंगे बैंक, देखें लिस्ट

Web Title: Now SGPGI start Robotic surgery facility ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया