सुप्रीम कोर्ट ने यूपी पुलिस से पूछा,किस आधार पर पत्रकार को किया गया गिरफ्तार,तुरन्त करें रिहा


RAGHVENDRA CHAURASIA 11/06/2019 14:15 PM
68 Views

New Delhi. सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को पत्रकार प्रशांत कनौजिया के गिरफ्तारी मामले की सुनवाई की। सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई के दौरान यूपी पुलिस से पूछा कि किस आधार पर पत्रकार को गिरफ्तार किया गया है। कोर्ट ने पुलिस को आदेश दिया कि वह तत्काल पत्रकार को रिहा करे। 

Supreme Court asks UP Police, on what basis the journalist has been arrested, release immediately

पत्रकार को उस ट्वीट को प्रकाशित या लिखना नहीं चाहिए था

सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई के दौरान पत्रकार प्रशांत की रिहाई का आदेश दिया। वहीं कोर्ट ने यह भी कहा कि प्रशांत को उस ट्टीट को प्रकाशित या लिखना नहीं चाहिए था। कोर्ट ने पूछा कि प्रशांत को किस आधार पर गिरफ्तार किया गया है। 

Supreme Court asks UP Police, on what basis the journalist has been arrested, release immediately

नागरिकों की स्वतंत्रता सर्वोपरि है

कोर्ट ने यह भी कि प्रशांत कनौजिया को जमानत देने का यह मतलब नहीं है कि सोशल मीडिया पर लगाया गया उनका पोस्ट सही है। मगर नागरिकों की स्वतंत्रता सर्वोपरि है और संविधान इसकी गारंटी सुनिश्चित करता है। इस अधिकार के साथ छेड़छाड़ नहीं हो सकती है।

Supreme Court asks UP Police, on what basis the journalist has been arrested, release immediately

सोमवार को प्रशांत ने सुप्रीम कोर्ट में दायर की थी याचिका

सोमवार को पत्रकार प्रशांत कनौजिया ने अपनी गिरफ्तारी के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की थी। पत्रकार कनौजिया ने सीएम योगी के खिलाफ ट्टिटर पर टिप्पणी की थी। जिसके बाद पुलिस हरकत में आ गई और प्रशांत पर मुकदमा दर्ज करने का निर्देश जारी किया था।

प्रशांत की पत्नी ने बताया सादे कपड़े में आए लोगों ने किया था गिरफ्तार

प्रशांत की पत्नी जगीशा अरोड़ा ने मीडिया को बताया कि जब उनकी गिरफ्तारी हुई थी तब वह उनके साथ थी। उन्होंने बताया कि सादे कपड़े में आए लोगोंं ने प्रशांत को गिरफ्तार किया था। उन्होंने खुद को हजरतगंज थाने का पुलिस का अधिकारी बताया था। पत्नी जगीशा ने यह भी कहाकि उन्हें गिरफ्तारी का वारंट तक भी नहीं दिखाया गया।

प्रशांत ने योगी के खिलाफ ट्विटर पर की थी टिप्पणी

दरअसल बीते दिनों राजधानी लखनऊ में स्थित मुख्यमंत्री आवास के पास एक अजनबी युवती अपने को सीएम योगी का प्रेमिका बता रही थी। इसके बाद यह मीडिया में छा गई। वहीं प्रशांत ने अपने ट्टिटर पर लिखा कि इश्क छुपता नहीं छुपाने से योगी जी। जिसके बाद प्रशांत यह पोस्ट डालकर फंस गए। 
 

 

 

 

Web Title: Supreme Court asks UP Police, on what basis the journalist has been arrested, release immediately ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया