मुख्य समाचार
बिग बॉस 13 का पहला टीजर रिलीज, दर्शक कभी नहीं भूल पाएंगे ये सीजन आश्रम में दो महिलाओं से रेप का मामला, पुलिस जांच में जुटी ICSI CS परीक्षा का परिणाम घोषित, जानें कब तक होगा एक्टिव निवेशकों का करोड़ों लेकर रियल एस्टेट कंपनी फरार भाजपा को रोकने के लिए अखिलेश यादव अब इस पार्टी से करने जा रहे गठबंधन, सियासी सरगर्मी बढ़ी यहां नौकरी का सुनहरा मौका, जल्द करें आवेदन विश्व बैडमिंटन चैंपियनशिप: इतिहास रचने से एक कदम दूर पीवी सिंधु... यूपी: सूबे में जल्द हो सकता है एक नए गठबंधन का ऐलान, इन दलों के नेताओं की बढ़ी नजदीकियां राहुल के कश्मीर दौरे पर भड़के इकबाल अंसारी, दे डाली ये नसीहत आम आदमी की थाली से ये सब्जियां हुईं गायब, आगे भी राहत की उम्मीद नहीं
 

अवैध डेयरियों को शहर से बाहर खदेड़ने की नगर निगम ने की तैयारी


DEEP KRISHAN SHUKLA 12/06/2019 09:22:25
92 Views

Lucknow. तहजीब की नगरी लखनऊ के बाशिंदों के लिए एक राहत भरी खबर है। सब कुछ योजना के मुताबिक रहा तो बहुत जल्द ही शहर के रिहायशी इलाकों में चल रही अवैध डेयरियों से लोगों को निजात मिल सकती है। नगर निगम ने शहर में चल रही 1034 अवैध डेयरियों को शहर से हटाने के लिए कमर कस ली है। इसके चलते संचालकों को अल्टीमेटम देते हुए 20 जून तक का समय दिया गया है। इस मियाद में अगर वे अपने चट्टे शहर से बाहर नहीं ले जाते तो प्रशासन उन्हें जबरन हटाएगा। 

12-06-2019092707Municipalcorp1
मालूम हो कि हाईकोर्ट ने 21 मई को आदेश जारी करते हुए अवारा पशुओं को शहर से हटाने के साथ साथ शहरी सीमा में चल रही डेयरियों को शहर से बाहर करने के निर्देश दिए थे। 
मंगलवार को जिलाधिकारी डॉ कौशल राज शर्मा ने एसएसपी कलानिधि नैथनी और नगर आयुक्त डॉ इंद्रमणि त्रिपाठी के साथ बैठक कर इस मसले पर चर्चा की। 
इस बैठक में नगर आयुक्त ने बताया कि शहर में चलने वाली डेयरियों को हटाने की कार्ययोजना तैयार हो गया है। सभी डेयरी संचालकों को 20 जून तक का समय दिया गया है। 
इस समयावधि में अगर वे अपनी डेयरियां नहीं हटाते तो अगले ही दिन से नगर निगम, पुलिस और प्रशासन की मदद से इस डेयरियों को बलपूर्वक हटाने का काम करेगी। 

12-06-2019092731Municipalcorp2
  पहले भी हो चुका है आदेश
नगर निगम का यह फैसला कितना प्रभावी होगा य​ह तो आने वाला वक्त ही तय करेगा लेकिन इससे पहले भी ऐसी कोशिशें हो चुकी है। 27 मई 1999 को भी हाईकोर्ट ने ऐसे ही आदेश दिए थे। उस दौरान नगर निगम और पुलिस ने संयुक्त रूप से अभियान चला कर 35 सौ डेयरियों को शहर से बाहर निकाला था। पर पुलिस के ढुलमुल रवैये के चलते डेयरियां फिर से खुल गयी। 
  हाईकोर्ट के आदेशों भारी पड़ती है संचालकों की दबंगई
शहर में डेयरी चलाने वालों की दबंगई किसी से छिपी नहीं है। यही वजह है कि पूर्व में हाईकोर्ट के आदेश के बावजूद इन्हें शहर की सीमा से बाहर नहीं किया जा सका। दबंगई का आलम यह है कि शिकायत करने वालों से मारपीट और निगम कर्मचारियों से अभद्रता करने से भी डेयरी संचालक नहीं कतराते हैं। 
  यहां खोली जा सकती है डेयरियां
डेयरी संचालकों को भी असुविधा न हो इसका खयाल भी नगर निगम ने इस दफा रखा है। इसी के तहत डेयरी किन इलाकों में खोली जा सकती है यह भी तय कर दिया गया है। नगर निगम के मुताबिक फैजाबाद रोड पर चिनहट, सीतापुर रोड पर सेमरा गांव, कानपुर रोड पर दारोगा खेड़ा, सुलतानपुर रोड पर कटाई का पुल, रायबरेली रोड पर पीजीआई के आगे डेयरियां खोली जा सकती हैं।

यह भी पढ़े...बिहार के इन 136 बीएड कॉलेजों की मान्यता होगी रद्द

 

 

 

Web Title: Municipal corporation's preparation to dispel illegal dairies out of the city ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया