मुख्य समाचार
भाजपा सरकार ने जनता की सुरक्षा को अपराधियों के आगे गिरवी रख दिया है : अखिलेश जन्मदिन विशेष: शाहरुख की फिल्में हिट कराने में सुखविंदर सिंह का बड़ा योगदान हज यात्री इन्तज़ामों में कमी बतायें, दूर किया जायेगा : मोहसिन रज़ा ‘‘भूजल सप्ताह’’ के दूसरे दिन जल संरक्षण पर आधारित चित्रकला प्रतियोगिता एवं विज्ञान प्रश्नोत्तरी कार्यक्रम आयोजित जालान पैनल ने तैयार की फंड ट्रांसफर की रिपोर्ट, सरकार को मिलेगी बड़ी राहत बाढ़ राहत के कार्यों में किसी भी प्रकार की लापरवाही न बरती जाये : राहत आयुक्त राजकीय नलकूपों के यांत्रिक दोषों को 24 घंटे में दूर करें : धर्मपाल सिंह  पुलिस से परेशान व्यापारी ने खुद पर पेट्रोल छिड़क कर लगाई आग बाढ़ पीड़ितों के लिए आगे आए अक्षय, प्रियंका ने भी की अपील सोनभद्र: 90 बीघा जमीन के लिए हुआ खूनी संघर्ष, 11 की मौत
 

आवारा पशुओं की गौशाला बनी पतौना की कुटी


LEKHRAM MAURYA 12/06/2019 15:46:34
25 Views

12-06-2019160032Cottagepot

LUCKNOW. विकास खण्ड माल के ग्राम पतौना में एक कुटी है, जहां आवारा जानवरों के लिए पानी और चारे की व्यवस्था बाबा अपने श्रोतों से वहन कर रहे हैं। इसकी खासियत यह है कि यहां जो गायें दूध देने वाली होती हैं उनको और उनके बछड़ों को बांध कर रखते हैं जिससे सांड़ उनको और उनके बछड़ों को मारने न पाएं। इन गायों का जो दूध होता है उसे खाने के बाद बचे हुए दूध का खोया बना डालते हैं।

12-06-2019160202Cottagepot

यहां मौजूद गोपालदास ने बताया कि उनके गुरू श्यामलाल हैं जो महिगवां हरदोई के रहने वाले हैं। अपनी जमीन पर हर साल किसान क्रेडिट कार्ड से पैसा निकाल कर गौशाला पर खर्च करते हैं। जब उनके पास पैसा होता है तो उसे अदा कर देते हैं।

12-06-2019160122Cottagepot

इसके अलावा पतौना के ही शिवकुमार ने बताया कि वह यहां गायों की सेवा करने और बाबा​ की सहायता करने आ जाते हैं। जिस रकबे पर यह गौेशाला है वह कुटी के नाम से देव स्थान है। यहां जितने में आवारा जानवर हैं वह सब दिन में क्षेत्र में घूमते खाते हैं रात को वहीं आकर पानी पीते हैं। जो भूखे होते हैं उनको भूसा चारा खिला देते हैं। 

Web Title: Cottage pot ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया