बंगाल में घुसपैठ को लेकर जदयू का बड़ा बयान, केंद्र की भाजपा को दी यह नसीहत


DEEP KRISHAN SHUKLA 13/06/2019 09:35:14
111 Views

New Delhi. केंद्र की सत्ता में भाजपा का सहयोगी दल जदयू पश्चिम बंगाल के मामले में भाजपा से उल्टी गंगा बहा रहा है। जदयू ने पश्चिम बंगाल में बांग्लादेशियों की घुसपैठ को लेकर राज्य की सीएम ममता बनर्जी को दोष देना बंद करने की नसीहत भाजपा को दी है। साथ ही कहा है कि बांग्लादेश से घुसपैठिए बीएसएफ की मदद से आते है ऐसे में बेहतर होगा की भाजपा इस दिशा में कदम उठाए।

13-06-2019094610JD(U)sbigs1
जदयू प्रवक्ता अजय आलोक ने बुधवार बड़ा बयान दिया है। अपने बयान में आलोक ने कहा कि धुसपैठिए देश के अंदर बीएसएफ की मदद से आते है। 
सीमा पर अधिकारी 5 हजार रुपए लेकर घुसपैठियों को सरहद पार कराते हैं। लिहाजा इस घुसपैठ के लिए भाजपा बार बार ममता बनर्जी को घेरना बंद करे। 
उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी को कोसने से काम नहीं चलने वाला इसके लिए गृहमंत्री अमित शाह को कदम उठाने चाहिए। 

13-06-2019094626JD(U)sbigs2
अपने आरोपों को पुख्ता करने के लिहाज से जदयू प्रवक्ता ने कहा कि बांग्लादेश और बर्मा की सीमा पर 10 साल से अधिक समय से तैनात अधिकारियों की संपत्ति की जांच करा ली जाए तो दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा। 
इतना ही नहीं इससे कई अन्य मामलों का भी खुलासा हो सकता है। उन्होंने कहा कि घुसपैठ पर रोक लगनी जरूरी है और अगर यह अब भी नहीं हुआ तो कब हो पाएगा। 
खास बात यह है कि जदयू प्रवक्ता एक दिन पहले ममला बनर्जी पर हमलावर नजर आए थे अगले ही दिन वह घुसपैठ के मामले में उनका बचाव करते नजर आए। 
बीते मंगलवार को उन्होंने ममता बनर्जी पर बंगाल को मिनी पाकिस्तान बनाने का आरोप लगाते हुए कहा कि उनके राज्य में बिहारियों को बंगाल से निकाला जा रहा है। 
बिहार में किसी अन्य राज्य के नागरिकों के साथ ऐसा नहीं होता लेकिन अन्य राज्यों में बिहारियों के साथ यह होता है। 

यह भी पढ़े...जम्मू कश्मीर में फिर से लगा राष्ट्रपति शासन, जानिए क्या रही वजह

 

 

 

Web Title: JD (U)'s big statement about infiltration in Bengal, given by the Center to the BJP ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)

कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया