मुख्य समाचार
किसी दुर्घटना के इंतजार में चार दिन से पड़ा आंधी में गिरा यह पेड़ पहले निर्माण, अब चारे के नाम पर गोशालाओं में प्रधान कर रहे फर्जीवाड़ा इसरो की तैयारियां पूरी, सोमवार को होगा चंद्रयान-2 का प्रक्षेपण  कम नहीं हो रहीं आज़म खान की मुसीबतें, 3 और एफआईआर दर्ज छोटी सी गलती एक्टर को पड़ी भारी, 14 दिन की न्यायिक हिरासत में सोनभद्र: सीएम के दौरे को लेकर पुलिस ने कसा शिकंजा, पूर्व विधायक समेत कई कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारी  सोशल मीडिया पर कहर ढा रहीं हॉट एक्ट्रेस ईशा गुप्ता, देखें सिजलिंग तस्वीरें लखनऊ: मुठभेड़ में टिंकू नेपाली गैंग के सरगना समेत तीन गिरफ्तार, दो सिपाही जख्मी मलाइका की सिजलिंग फोटो देख खुद पर काबू नहीं रख पाए आर्जुन कपूर, कर दिया ऐसा कमेंट... यूपी में बदमाशों के हौसले बुलंद, भाजपा नेता को गोलियों से भूना दो पुलिस कर्मियों की हत्या कर भागे कैदियों में एक को मुठभेड़ में पुलिस ने किया ढेर बाढ़ और बारिश से बेस्वाद हुई दाल, टमाटर हुआ लाल, इन सब्जियों के बढ़े 50 फीसदी दाम मॉब लिंचिंग पर सपा सांसद का बड़ा बयान, कहा- पाकिस्तान न जाने की सजा भुगत रहे हैं मुसलमान अब इस दिग्गज ने की प्रियंका के नाम की वकालत बाढ़ से बेहाल असम-बिहार, ताजा तस्वीरों में देखें तबाही का मंजर पीड़ितों ने कौन सा अपराध किया जो उन्हें मुझसे मिलने से रोका जा रहा : प्रियंका AKTU : यूपीएसईई – 2019 की काउंसलिंग का तीसरा चरण आज से शुरु ICC के फैसले से सदमे में जिम्बाब्वे की टीम प्लेसमेंट ड्राइव में 5 से 7 लाख के पैकेज के साथ आई कंपनी, 120 छात्र-छात्राओं ने किया प्रतिभाग मंचीय कविता के आखिरी स्तम्भ थे नीरज : लक्ष्मी नारायण चौधरी एजाज खान के अरेस्ट होने के बाद ट्वीटर पर छाए मीम्स- यूजर्स बोले... ग्रामीण क्षेत्रों में भी किया जाना चाहिए मैंगो फूड फेस्टिवल का आयोजन : डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा तेजबहादुर की याचिका पर पीएम मोदी को नोटिस
 

निर्जला एकादशी में भगवान विष्णु की आराधना बड़ा फलदायी


SHRADDHA SAHU 13/06/2019 17:50:42
17 Views

Lucknow. हिन्दू धर्म में ज्येष्ठ मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी यानि निर्जला एकादशी सभी एकादशियों के लिए खास महत्व रखता है। शास्त्रों के मुताबिक, इस दिन जल दान करने से इंसान को दोहरा फल मिलता है। इस दिन सभी एकादशियों को अन्न व जल ग्रहण किए  बिना निर्जला एकादशी का व्रत पूरा करता है। ऐसा माना जाता है कि वर्ष में होने वाली 24 एकादशियों में यह एकादशी सबसे बड़ी होती है।

ऐसा कहा जाता है कि महाभारत काल में पांडव पुत्र भीम ने भी निर्जला एकादशी का व्रत रखा था, जिसके चलते इसे भीमसेन एकादशी के नाम से भी जाना जाता है।  शास्त्रो में बताया गया है कि दस दिन भगवान विष्णु की आराधना करना भी अति फलदायी होता है। व्रत के दौरान भगवान विष्णु की तस्वीर या प्रतिमा पर गंगाजल अर्पित कर रोली व सिंदूर से तिलक लगा देशी घी से दीपक जला विधि विधान से पूजा करनी चाहिए। 

निर्जला एकादशी व्रत वाले दिन वस्त्र, जूते, छाता, बर्तन, जल व दूध आदि का दान पुण्य माना जाता है।इसके साथ ही प्याऊ लगाकर या फिर सबीर लगाकर पुण्य कर्म करते है।

यह भी पढ़े...चीन ने भारत में सुन वीदोंग को नया राजदूत किया नियुक्त
 

Web Title: The worship of Lord Vishnu in Nirjala Ekadashi is considered to be fruitful. ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया