मुख्य समाचार
UPTET : हाईकोर्ट के आदेश को सुप्रीम कोर्ट ने किया निरस्त, 1 लाख से ज्यादा शिक्षकों को मिली राहत अखिलेश यादव ने योगी सरकार पर बोला करारा हमला, कहा- नौजवानों की जिन्दगी में ... फतेहपुर में प्रतिबंधित मांस मिलने पर बवाल, मदरसे पर पथराव साक्षी मामले पर मालिनी अवस्थी का बड़ा बयान, लड़कियां जीवन साथी चुनें लेकिन... यूपी पुलिस को मिली बड़ी सफलता, दो इनामी बदमाश किए ढेर वरिष्ठ पत्रकार बरखा दत्त ने कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल पर लगाए गम्भीर आरोप, मचा घमासान अंतिम संस्कार की चल रही थी तैयारी, अचानक युवक की खुली आंखे और फिर जो हुआ... सरकारी आवास के मोह पॉश में जकड़े दो पूर्व मंत्रियों को गहलोत सरकार ने दिया जुर्माने का झटका सलमान संग फिल्मों में डेब्यू कर सुपरस्टार बनीं कटरीना का नहीं है कोई क्राइम रिकॉर्ड 149 साल बाद बन रहा गुरू पूर्णिमा पर चंद्र दुर्लभ योग सपा नेता अखिलेश यादव की गोली मारकर हत्या, सियासत में भूचाल बच्चों में गुणवत्तापरक शिक्षा के साथ अच्छे संस्कार भी जरूरी : ब्रजेश पाठक  रवि किशन ने राहुल को दी नसीहत, सीरियस नहीं हुए तो राजनीति से करियर खत्म योगी सरकार शिक्षा के क्षेत्र में सरकारी नहीं असरदार कार्य कर रही है : उप मुख्यमंत्री जय श्रीराम न बोलने पर बागपत में मौलाना की पिटाई सावन की पूर्णिमा व अमावस्या पर होगी भव्य गंगा आरती पहले दूसरे जाति की लड़की से की शादी, फिर बेइज्जती के डर से पत्‍नी की करवा दी हत्या
 

केंद्र सरकार की नियोक्ता और कर्मचारियों को सौगात, ईएसआई अंशदान 2.5 फीसदी हुआ कम


DEEP KRISHAN SHUKLA 14/06/2019 15:19:46
18 Views

New Delhi. केंद्र सरकार ने श्रमिकों को और अधिक सशक्त बनाने की दिशा में एक सराहनीय कदम उठाया है। कर्मचारी राज्य बीमा निगम के स्वास्थ्य बीमा कार्यक्रम में नियोक्ता एवं कर्मचारियों के कुल अंशदान 2.5 प्रतिशत की कटौती की गयी है। अंशदान को अब 6.5 प्रतिशत से घटाकर 4 प्रतिशत कर दिया गया है। इस बदलाव से जहां नियोक्ताओं को प्रतिवर्ष 5 हजार करोड़ की बचत होगी वहीं दूसरी ओर से इससे 3.6 करोड़ कर्मचारियों को भी लाभ पहुंचेगा। यह दरें इसी साल एक जुलाई से प्रभावी हो जाएंगी। 

14-06-2019152245CentralGovern1
श्रम मंत्रालय की ओर से जारी विज्ञप्ति के अनुसार केंद्र सरकार ने ईएसआई कानून के अंतर्गत एक ऐतिहासिक कदम उठाते हुए अंशदान की दर 6.5 प्रतिशत से घटाकर 4 प्रतिशत करने का फैसला किया है। 
दरों में की गयी कटौती का नियोक्ता और कर्मचारी के स्तर से अलग अलग अवलोकन करते तो नियोक्ता का अंशदान 4.75 प्रतिशत से घटाकर 3.25 प्रतिशत और कर्मचारी का अंशदान 1.75 प्रतिशत से घटाकर 0.75 प्रतिशत हो जाएगा। 

14-06-2019152305CentralGovern2
करीब 12.85 लाख नियोक्ताओं और 3.6 करोड़ कर्मचारियों ने वित्त वर्ष 2018-19 में ईएसआई योजना में 22,279 करोड़ रुपए का अंशदान किया। 
ऐसे में आंकलन किया जाए तो यह बात निकलकर आती है कि अंशदान की दर में कमी से इन कंपनियों को सालाना कम-से-कम 5,000 करोड़ रुपए की बचत होगी।
विज्ञप्ति में कहा गया है कि अंशदान की घटी हुई दर से कामगारों को बहुत राहत मिलेगी तथा इससे और अधिक कामगारों को ईएसआई योजना के अंतर्गत नामांकित कर पाना तथा ज्यादा से ज्यादा श्रमिक बल को औपचारिक क्षेत्र के अंतर्गत लाना सुगम हो सकेगा।

यह भी पढ़े...बिगड़ेगी ट्रैफिक व्यवस्था तो थानेदार और ट्रैफिककर्मी दोषी - डीजीपी

 

 

 

Web Title: Central Government's gift to employer and employee, reduced contribution of ESI by 2.5% ( Hindi News From Newstimes)


अब पाइए अपने शहर लखनऊ की खबरे (Lucknow News in Hindi) सबसे पहले Newstimes वेबसाइट पर और रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें न्यूजटाइम्स की हिंदी न्यूज़ ऐप एंड्राइड (Hindi News App)


कमेंट करें

अपनी प्रतिक्रिया दें

आपकी प्रतिक्रिया